दलित दूल्हे को घोड़ी पर लेकर पहुंचे दर्जनों पुलिस वाले और अधिकारी

गांव के कुछ दबंग अपने घर के सामने से घोड़ी पर सवार होकर और बाजे के साथ बरात निकालने की मनाही कर रहे थे.


Updated: July 16, 2018, 10:29 AM IST
दलित दूल्हे को घोड़ी पर लेकर पहुंचे दर्जनों पुलिस वाले और अधिकारी
फोटो- संजय-शीतल.

Updated: July 16, 2018, 10:29 AM IST
बारात की सुरक्षा की सुरक्षा में एक एसपी रैंक के अधिकारी, एडीएम और एसडीएम चल रहे थे. इतना ही नहीं बारात के संग-संग 10 इंस्पेक्टर, 22 सब इंस्पेक्टर, 35 हैड कांस्टेबल, 100 कांस्टेबल और पीएसी की एक प्लाटून भी चल रही थी. कार और जीप का भारी-भरकम काफिला भी चल रहा था. बाराती खूब नाच-गा रहे थे.

पहली नजर में देखने पर कोई वीआईपी या वीवीआईपी शादी लग रही थी. लेकिन ये बारात थी हाथरस निवासी संजय जाटव की. संजय बारात लेकर कासगंज निवासी शीतल के यहां जा रहा था. घोड़ी पर चढ़कर बारात न लेकर आने की धमकी के बाद भी संजय बग्गी में सवार होकर दुल्हन लेने जा रहा था. बारात को ये धमकी शीतल के गांव निजामपुर में रहने वाले ठाकुरों ने दी थी.

यूपी में कासगंज के निजामपुर गांव की दलित युवती शीतल की अप्रैल में बरात आनी थी. लेकिन बरात आने से पहले ही उस पर विवाद शुरु हो गया था. गांव के कुछ दबंग अपने घर के सामने से घोड़ी पर सवार होकर और बाजे के साथ बरात निकालने की मनाही कर रहे थे.

इस बारे में दुलहन बनी दलित युवती की मां मधुबाला ने बताया था कि ये कोई पहला मौका नहीं है जब गांव के ठाकुर मेरे घर आने वाली बरात को रोक रहे हैं. इससे पहले भी मेरी तीन ननद की शादी हुई थी. एक ननद की बरात गांव में बाजे-गाजे के साथ आधे रास्ते तक पहुंच गई थी. इस बात की भनक जब ठाकुरों को हुई तो उन्होंने बरात को रास्ते में ही रोक दिया. बरात में हंगामा कर दिया. बरात को बिना बाजे के ही घर के दरवाजे तक आना पड़ा था.

ऐसा ही कुछ मधुबाला की बेटी की शादी में भी होने वाला था. लेकिन इससे पहले प्रशासन सक्रिय हो गया था. लेकिन ऐन वक्त पर पता चला कि शीतल की उम्र शादी के लायक एक-दो महीने कम है. जिसके चलते शादी को जुलाई तक के लिए टाल दिया गया था. अब 15 जुलाई को शीतल और संजय की शादी हो गई. रविवार की शाम बैंड-बाजे के साथ बरात शुरु हुई. बरात में शामिल बराती भी खूब मस्त होकर नाचे.

बरात पुशासन द्वारा पहले से तय किए गए गांव के रूट पर घूमी. पुलिस के पहरे में हाथरस निवासी संजय दुल्हन बनी शीतल को लेने बग्गी में सवार होकर पहुंचा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर