लाइव टीवी

बोरी में लाखों के सिक्के लेकर बिजली का बिल जमा करने पहुंचा युवक...

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 3, 2019, 2:09 PM IST
बोरी में लाखों के सिक्के लेकर बिजली का बिल जमा करने पहुंचा युवक...
बोरी में लाखों के सिक्के लेकर बिजली का बिल जमा करने पहुंचा युवक

कपिल ने बताया कि उन्होंने लिखित में अधिशासी अभियंता को सिक्के स्वीकार न किए जाने से अवगत कराया तो उन्होंने लिखित में सिक्के स्वीकार करने से इंकार किया है.

  • Share this:
हाथरस. हाथरस के रामवती चिलर प्लांट का 12 लाख 94 हजार के बकाया बिजली बिल को जमा करने के लिए 10 लाख 94 हजार के सिक्कों से लेकर पंहुचे युवक को बिजली विभाग के कर्मचारियों ने सिक्कों में बिल जमा करने से इनकार कर दिया. इस दौरान बिजली विभाग के अधिकारियों द्वारा सिक्कों में बकाया बिजली बिल जमा न किये जाने को लेकर मैनेजर नोंकझोंक भी हुई. चिलर प्लांट मैनेजर ने इसे आरबीआई के निर्देशों का उल्लंघन बताते हुए नोटिस देने की बात कही है.

मामला ओड़पुरा बिजली घर का है. चिलर प्लांट के मैनेजर कपिल पाठक ने बताया कि विभाग द्वारा बिल जमा नहीं किए जाने के चलते ही प्लांट पर इतनी बड़ी रकम बकाया बन गई है. उनका कहना है कि उनके चिलर प्लांटसे निकलने वाली बर्फ व दूध आदि की बिक्री से उन्हें सिक्के प्राप्त होते हैं. उन्हीं सिक्कों से वे सभी पार्टियों को भुगतान करते हैं. वे लगातार आरबीआई से जारी व चलन में रहने वाले सिक्कों को लेकर भुगतान करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन विद्युत विभाग के अधिकारी सिक्कों को स्वीकार नहीं कर रहे.

कपिल ने बताया कि उन्होंने लिखित में अधिशासी अभियंता को सिक्के स्वीकार न किए जाने से अवगत कराया तो उन्होंने लिखित में सिक्के स्वीकार करने से इंकार किया है. शनिवार को एक बार फिर वे 10 लाख 94 हजार रुपए के सिक्के लेकर बिजलीघर पहुंचे लेकिन बिल जमा नहीं किया गया. उन्होंने बताया कि वे विभाग के कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं.

रिपोर्ट- रंजीत सिंह

ये भी पढे़ं:

गाजियाबाद शहर में बढ़ता जा रहा है वायु प्रदूषण, ये रही तीन वजह

UPPCL में PF घोटाला: CM योगी ने की सीबीआई जांच की सिफारिश
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हाथरस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 3, 2019, 1:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...