अपना शहर चुनें

States

मीडिया को मिली परिवार से मुलाकात की अनुमति, अपर मुख्य सचिव गृह और DGP हाथरस रवाना

हाथरस में पुलिस ने बैरिकेडिंग हटा दी है. (Photo: News 18)
हाथरस में पुलिस ने बैरिकेडिंग हटा दी है. (Photo: News 18)

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के निर्देश के बाद अपर मुख्य सचिव और डीजीपी हाथरस रवाना हो गए हैं. सीएम योगी ने इन दो बड़े अधिकारियों को हाथरस जाने का निर्देश दिया है. दोनों अधिकारी यहां पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 3, 2020, 11:56 AM IST
  • Share this:
हाथरस. उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras) कांड को लेकर खबर है कि अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और डीजीपी एचसी अवस्थी हाथरस के दौरे पर रवाना हो गए हैं. ये पीड़ित परिजनों से मुलाकात कर घटना का खुद जायजा लेंगे. बता दें मामले में हाई कोर्ट की डबल बेंच ने स्वतः संज्ञान ले लिया है. इस संबंध में हाईकोर्ट ने 12 अक्टूबर को स्पष्टीकरण तलब किया है. इसमें अपर मुख्य सचिव गृह, डीजीपी, एडीजी और डीएम व एसपी से स्पष्टीकरण मांगा गया है. जानकारी के अनुसार हाथरस में दोनों अफसर हैलीकॉप्टर से पहुंच रहे हैं, इसके लिए हैलीपैड तैयार हो गया है.

उधर पता चला है कि राहुल गांधी एक बार फिर हाथरस के दौरे पर आ सकते है. इसे देखते हुए उत्तर पदेश कांगेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को हाउस अरेस्ट किया गया है. लल्लू को पुलिस ने नोटिस थमा दिया है.

सीएम योगी ने दिया निर्देश



जानकारी के अनुसार सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद अपर मुख्य सचिव और डीजीपी हाथरस रवाना हुए हैं. सीएम योगी ने इन दो बड़े अधिकारियों को हाथरस जाने का निर्देश दिया है. दोनों अधिकारी यहां पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात करेंगे.
राहुल गांधी ने किया ट्वीट

मामले में राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘दुनिया की कोई भी ताक़त मुझे हाथरस के इस दुखी परिवार से मिलकर उनका दर्द बांटने से नहीं रोक सकती.’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘इस प्यारी बच्ची और उसके परिवार के साथ उप्र सरकार और उसकी पुलिस द्वारा किया जा रहा व्यवहार मुझे स्वीकार नहीं. किसी भी हिन्दुस्तानी को ये स्वीकार नहीं करना चाहिए.’ पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के मुताबिक, राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस के कई सांसद हाथरस जाएंगे और शोकाकुल परिवार से मुलाकात करेंगे. वेणुगोपाल ने ट्वीट किया, ‘कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल परिवार से मुलाकात कर उनकी चिंताएं सुनेगा और पीड़िता एवं परिवार के लिए न्याय की मांग करेगा.’

उधर ताजा खबर ये है कि पुलिस ने मीडिया को पीड़ित परिवार से मिलने की इजाजत दे दी है. पीड़ित परिवार ने साफ कर दिया है कि वह नार्को टेस्ट नहीं कराएंगे. परिवार ने इस दौरान डीएम प्रवीण पर गंभीर आरोप लगाए हैं. परिवार के सदस्यों ने साफ कह दिया है कि हमें पुलिस पर भरोसा नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज