लाइव टीवी

हाथरस Lockdown: खुलेआम चल रहे ईंट-भट्टे, मजदूर बोले- मालिक ने कहा काम नहीं तो पैसा नहीं
Hathras News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 25, 2020, 5:29 PM IST
हाथरस Lockdown: खुलेआम चल रहे ईंट-भट्टे, मजदूर बोले- मालिक ने कहा काम नहीं तो पैसा नहीं
हाथरस में लॉक डाउन के बीच ईंट भट्टे खुले हुए हैं.

जब इस मामले में जिलाधिकारी हाथरस प्रवीण कुमार लक्षकार से News 18 संवाददाता ने फोन पर बात की तो उन्होंने बताया कि भट्टा मालिकों को सूचित कराया जा रहा है. भट्टे को बंद करने का आदेश दिया गया है.

  • Share this:
हाथरस: उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras) जिले में प्रधानमंत्री द्वारा घोषित लॉकडाउन (Lockdown) की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. प्रशासन के आदेश के बाद सभी फैक्ट्री बंद होने के आदेश हाथरस में किए गए थे लेकिन हाथरस में ईंट-भट्टे अभी तक खुले हुए हैं. उन पर अन्य राज्यों से आकर हजारों मजदूर काम कर रहे हैं. मजदूरों को न तो कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक वस्तु मुहैया कराई गई हैं और न ही उन्हें बचाव के तरीके बताए गए हैं. ऐसे में हाथरस प्रशासन की बड़ी लापरवाही महामारी को न्यौता दे सकती है.

हाथरस में लॉक डाउन के चलते सभी फैक्ट्री बंद करने के प्रशासन द्वारा आदेश दिए गए थे. लेकिन आदेशों को ताक पर रखकर ईंट-भट्टा संचालक अपने भट्टों को संचालित कर रहे हैं. यहां दूसरे राज्यों से आए मजदूर काम कर रहे हैं. इन मजदूरों के पास न तो कोरोना जैसी महामारी से बचाव की कोई जानकारी है, न ही उन्हें बचाव का सामान मुहैया कराया गया है. ऐसे में मजदूर निर्भय होकर भट्टे पर सफाई का काम अपने परिवार सहित कर रहे हैं. वहीं प्रशासन का इस ओर कोई ध्यान नहीं है और प्रशासन की लापरवाही के चलते कोरोना जैसी महामारी फैलने का डर बना हुआ है.

डीएम बोले- सूचित कराया जा रहा है

जब इस मामले में जिलाधिकारी हाथरस प्रवीण कुमार लक्षकार से news 18 संवाददाता ने फोन पर बात की तो उन्होंने बताया कि भट्टा मालिकों को सूचित कराया जा रहा है. भट्टे को बंद करने का आदेश दिया गया है. भट्टा मालिकों को निर्देशित किया जा रहा है कि मजदूरों को पर्याप्त मात्रा में खाद्य सामग्री व आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था कराई जाए और काम बंद कराया जाए.



मजदूर बोले- काम नहीं करेंगे तो न पैसा मिलेगा, न खाना

वहीं भट्टे पर कार्य कर रहे मजदूर राजकुमार से जब बात की गई तो उसने बताया कि भट्टा मालिक बोलता है कि काम नहीं करेगा तो पैसा नहीं मिलेगा. हम लगभग 200 लोग यहां काम कर रहे हैं. हमे मास्क भी नही दिये हैं. अगर हम काम नहीं करेंगे तो हमे न तो पैसा मिलेगा और न ही खाना.

ये भी पढ़ें:

UP में गुटखा, पान मसाला किया गया बैन, सीएम योगी के निर्देश पर सरकार का फैसला

COVID-19: शिया बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी अस्पताल में भर्ती, लिया गया सैंपल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हाथरस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 5:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर