हाथरस केस: चश्मदीद होने का दावा करने वाला शख्‍स आया सामने, किया चौंकाने वाला खुलासा

सीबीआई ने हाथरस के उप कृषि निदेशक कार्यालय की बिल्डिंग में अपना कैंप कार्यालय बनाया है.
सीबीआई ने हाथरस के उप कृषि निदेशक कार्यालय की बिल्डिंग में अपना कैंप कार्यालय बनाया है.

हाथरस केस (Hathras Case) में खुद को घटना का कथित चश्मदीद बताने वाला एक शख्‍स सामने आया है. उनका दावा है कि जिस वक्त यह घटना हुई, उस समय वह अपने खेत में काम कर रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 2:18 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. हाथरस केस (Hathras Case) में एक नया मोड़ सामने आया है. 14 सितम्बर को गांव के ही खेत में पीड़िता संग क्या हुआ था, पीड़िता के भाई और मां उस वक्त कहां थे. खुद को इस घटना का चश्मदीद (Eyewitness) होने का दावा करने वाले शख्‍स ने उस दिन की वाकये का आंखों देखा हाल बताया है. सूत्रों की मानें तो अभी यह चश्मदीद सीबीआई (CBI) के सामने पेश नहीं हुआ है. वहीं, पुलिस ने भी इस व्‍यक्ति से बात नहीं की है. ऐसी आशंका जताई जा रही है कि अगर शुक्रवार को सीबीआई पीड़िता के घर जाती है तो इस इस शख्‍स से भी पूछताछ कर सकती है.

सामने आए घटना के कथित चश्मदीद गवाह विक्रम सिंह का दावा इसलिए भी अहम हो जाता है कि वह खेत विक्रम का ही है जहां पीड़िता के घायल अवस्था में मिलने की बात कही जा रही है. एक न्यूज चैनल से बातचीत में विक्रम ने दावा किया है कि 14 सितंबर को जब वह सुबह अपने खेत में थे, तभी उन्‍होंने लड़की की चीखने की आवाज सुनी थी. वह सुबह अपने खेत में चारा काट रहे थे, जब उन्‍होंने लड़की के चीखने की आवाज सुनी तो वो मौके की तरफ भागा था. हालांकि, NEWS 18 हिंदी उनके इस दावे की पुष्टि नहीं करता है.





ये भी पढे़ं- CM Yogi बोले- रावण के जलते ही बलात्कारियों-मनचलों के खिलाफ Police लेगी यह एक्शन
विक्रम के मुताबिक, जब वो मौके पर गया तो उसने देखा कि उसके खेत में ही लड़की जमीन पर पड़ी हुई थी. पीड़ित लड़की का बड़ा भाई और लड़की की मां वहां खड़े थे. विक्रम ने बताया कि लड़की के गले पर चोट थी. वो भाग कर लवकुश और उसकी मां को ये बताने के लिए पास के खेत में गया और उन्हें मौके पर चलने के लिए कहा.

विक्रम का दावा है कि जब वो वापस आया तो लड़की का भाई मौके से जा चुका था. लड़की खेत में ही पड़ी हुई थी और उसकी मां वहां अकेले खड़ी थी. लड़की की मां ने कहा कि मेरे बेटे को घर से बुला लाओ. विक्रम का दावा है कि जब वो लड़की के घर गया और पीड़ि‍ता के भाई को कहा कि चलो तुम्हारी बहन की हालत खराब है, तो उन्‍होंने कहा जब 5-6 लोग आ जाएंगे तब मैं आऊंगा. विक्रम का कहना है कि उसके बाद वह अपने घर आया और सबको घटना के बारे में बताया. फिर गांव में भीड़ जुटी और सब मौका-ए-वारदात की तरफ गए.

आरोपियों के घर से भी सबूत ले गई है सीबीआई
गुरुवार को सीबीआई की टीम गांव में आरोपियों के घर भी गई थी. तीन आरोपियों के घर एक ही परिसर में है. वहीं, एक अन्य आरोपी का घर दूसरी जगह पर है, लेकिन चारों आरोपी हैं एक ही गांव के. टीम ने आरोपियों के घर में कमरे से लेकर घर की छत तक पर तलाशी ली. सीबीआई को आरोपियों के घर से क्या मिला है यह तो नहीं पता, लेकिन पीले रंग के एक पैकेट में सीबीआई टीम कुछ सामान अपने साथ जरूर ले गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज