'पैसा कमाने के लिए सिनेमा वालों ने हमेशा ही क्षत्रियों का दुरूपयोग किया है'

'पैसा कमाने के लिए सिनेमा वालों ने हमेशा ही क्षत्रियों का दुरूपयोग किया है. उन्हें हमेशा नेगेटिव रोल में और खलनायक दिखाया है'.

Prashant Kaushik | ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 26, 2018, 11:24 PM IST
Prashant Kaushik | ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 26, 2018, 11:24 PM IST
हाथरस में 'पद्मावत' के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे करणी सेना तथा हिंदूवादी संगठनों की हिमायत करते हुए बीजेपी के विधायक वीरेंद्र सिंह राणा के बिगड़े बोल सुनने को मिले. विधायक का कहा है कि 'इन फिल्म वालों का बस चले तो ये सीता माता तथा दुर्गे माता को भी नचा दें'.

दरअसल विरोध के बीच सिनेमा हाल पर लगे पोस्टर को जलाए जाने के बाद सिनेमा हाल मालिक ने जिले के दो बीजेपी विधायकों को विरोध करने वालों से समझौता कराने के लिए बुलाया था. पर विरोधियों को समझाने के बजाए बीजेपी नेता कुछ और ही बोले लगे. उन्होंने आरोप लगाया कि पैसा कमाने के लिए सिनेमा वालों ने हमेशा ही क्षत्रियों का दुरूपयोग किया है. उन्हें हमेशा नेगेटिव रोल में और खलनायक दिखाया है.

हालांकि बाद में बात बिगड़ती देख वीरेंद्र सिंह राणा ने कहा कि फिल्म के विरोधियों को समझाने के बाबजूद विधायक ने यहीं कहा कि वह 'पद्मावत' का समर्थन नहीं करते हैं. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान भी करते हैं. वैसे आपको बता दें कि पद्मावत का पूरे देश में भारी विरोध हो रहा है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर