हाथरस केस: पीड़िता के घर पहुंची STF, दंगा भड़काने की साजिश के मामले में पूछताछ

दंगा भड़काने की साजिश मामले में पूछताछ
दंगा भड़काने की साजिश मामले में पूछताछ

हाथरस पीड़िता (Hathras Victim) के भाई का कहना है कि वह गांव में रहना नहीं चाहता है. वह चाहता है कि इस केस को दिल्ली ट्रांसफर कर दिया जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 8:51 PM IST
  • Share this:
हाथरस. उत्तर प्रदेश के हाथरस में 14 सितंबर को दलित युवती के साथ हुई कथित सामूहिक बलात्कार (Gang Rape) की घटना की जांच एसआईटी के बाद सीबीआई (CBI) ने अपने हाथ में ले ली है. वहीं, सोमवार शाम को पीड़िता के घर एसटीएफ (STF) की टीम भी पहुंची और परिजनों से पूछताछ शुरू कर दी है. दरअसल, हाथरस कांड को लेकर यूपी में दंगा भड़काने की साजिश को लेकर एसटीएफ की टीम जांच कर रही है. एसटीएफ के इंस्पेक्टर अजयपाल सिंह सहित 3 सदस्यीय टीम पीड़िता के पिता पूछताछ कर रही है. पीड़ित परिवार ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि जल्दी मेरी बेटी को इंसाफ मिले.

इससे पहले सीबीआई (CBI) की टीम पीड़िता के परिजनों से पूछताछ करने उनके घर पहुंची थी. सीबीआई की टीम ने करीब 5 घंटे तक परिजनों से पूछताछ की और उसके बाद टीम हाथरस की पीड़िता के घर से निकल गई. बताया जा रहा है कि सीबीआई की टीम ने पीड़िता की भाभी और पीड़िता की मां से लंबी पूछताछ की.

ये भी पढे़ं- बिहार चुनाव: बीजेपी का तेजस्वी पर तंज, कहा- हाईस्कूल फेल बता रहे रोजगार का फॉर्मूला



पीड़िता की भाभी ने बताया कि सीबीआई की टीम ने उनसे पीड़िता के बारे में पूछताछ की है. उन्होंने बताया कि चश्मदीद छोटू ने जो बयान दिया उस आधार पर पूछताछ की गई है. साथ ही पीड़िता और संदीप के बीच जो कॉल डिटेल सामने आए थे उसके बारे में भी पूछताछ की गई. इस दौरान सीबीआई की टीम पीड़िता के कपड़े साथ लेकर गई थी. सीबीआई की पूछताछ से पीड़ित परिवार संतुष्ट है.


गांव में नहीं रहना चाहता पीड़िता का परिवार

उधर, हाथरस पीड़िता के भाई का बयान सामने आया था. भाई का कहना है कि वह गांव में रहना नहीं चाहता है. वह चाहता है कि केस को दिल्ली ट्रांसफर कर दिया जाए. उन्‍होंने कहा कि रोजगार की वजह से वह परिवार के साथ दिल्ली शिफ्ट होना चाहते हैं. पीड़ि‍ता के भाई का मानना है कि दिल्ली केस ट्रांसफर हो जाएगा तो वहां रहकर वह केस की पैरवी कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज