खुद को सिविल डिफेंस और एस-10 का बताया मेंबर, बुजुर्ग को रस्सी से बांध की बेरहमी से पिटाई
Kanpur News in Hindi

खुद को सिविल डिफेंस और एस-10 का बताया मेंबर, बुजुर्ग को रस्सी से बांध की बेरहमी से पिटाई
मानसिक रूप से विक्षिप्‍त बुजुर्ग की बेरहमी से पिटाई करते एस 10 के कथ‍ित मेंबर.

वारदात का वीडियो वायरल (viral) होने के बाद पुलिस के (Police) आला अधिका‍रियों ने इस मामले में जांच के बाद कार्रवाई करने की बात कही है.

  • Share this:
कानपुर: कोरोना (Corona) जैसी महामारी (epidemic) से आज पूरा देश मिलकर लड़ रहा है. इस बीच, नासमझ और पॉवर में चूर कुछ लोग इस समय भी असहायों के साथ दुर्व्यवहार करते नजर आ रहे हैं. ऐसा ही मामला जनपद के चकेरी थानाक्षेत्र में मंगलवार को सामने आया. जहां खुद को एस-10 और सिविल डिफेंस का मेंबर बताने वाले कुछ लोगों ने मानसिक रूप से कमजोर अधेड़ को पहले रस्सी से बांध दिया, फिर उसकी बेरहमी से पिटाई की.

मौके पर मौजूद एक शख्‍स चोरी से यह वीडियो बनाकर वायरल कर दिया. वीडियो के वायरल होते ही पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया. अब, पुलिस के आला अधिका‍रियों ने इस मामले में जांच के बाद कार्रवाई करने की बात कही है. जानकारी के अनुसार, यह मामला जनपद के चकेरी थानाक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले तिवारीपुर इलाके का है. के पास का आया है. जहां कुछ लोगों ने एक अधेड़ उम्र के शख्‍स को गलियों में घूमते हुए देखा.

इस शख्‍स की हालत देखकर लग रहा था कि वह मानसिक रूप के बीमार है. दरअसल, लोगों को यह आशंका थी कि गलियों में घूम रहा शख्‍स कहीं करोना वायरस से संक्रमित न हो. इसी डर के चलते कुछ लोगों ने शख्‍स की जानकारी पुलिस को दे दी. वहीं, मौके पर पुलिस पहुंचती, इससे पहले खुद को एस 10 का मेंबर बनाने वाले कुछ सिविल डिफेंस के लोग मौके पर पहुंच गए.



इन लोगों ने ना तो पुलिस का इंतजार किया और न ही स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी. इन लोगों ने बुजुर्ग को देखते ही बुरी तरह से पीटना शुरू कर दिया. जब इतने से भी मन नहीं भरा तो इन लोगों ने बुजुर्ग को रस्सी से बांध दिया और एक बार फिर जमकर पीटना शुरू कर दिया. ये लोग इस बुजुर्ग को घसीटते हुए गलियों से रोड तक ले आए. कुछ देर बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मानसिक रूप से बीमार शख्‍स को लोडर मे लाद कर जाजमऊ चौकी ले गई.
वहीं इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद सीओ कैंट आरके चतुर्वेदी ने वीडियो जारी कर सफाई दी और मामले की जांच कराने की बात कही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज