होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /9 वर्षीय मासूम के मर्डर में रोंगटे खड़े करने वाला खुलासा, रिश्तों से उठ जाएगा भरोसा!

9 वर्षीय मासूम के मर्डर में रोंगटे खड़े करने वाला खुलासा, रिश्तों से उठ जाएगा भरोसा!

बदले की आग में अंधे बाप ने किया बेटी का कत्ल. (News18)

बदले की आग में अंधे बाप ने किया बेटी का कत्ल. (News18)

Pilibhit Murder Case: पुलिस को अनम के परिवार के सदस्यों पर तब संदेह हुआ जब गांव के कुछ चश्मदीदों ने पुलिस को बताया कि ल ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

रंजिश में दुश्मन को फंसाने के लिए बाप ने अपनी ही मासूम बच्ची का कत्ल कर दिया
मासूम अनम की हत्या का मास्टरमाइंड उसका दादा ही निकला
अपने एक बेटे को मुकदमे से बचाने के लिए चार बेटों को बलि का बकरा बनाया

(सैयद क़याम रज़ा)
पीलीभीत.
आपसी रंजिश में पड़ोसी को फंसाने के लिए इस कदर गिरे बाप-दादा और चाचा कि मिलकर अपनी ही 9 साल की मासूम बच्ची अनम का कत्ल कर दिया. अनम की हत्या का मास्टरमाइंड उसका दादा ही निकला. जिसने अपने एक बेटे को मुकदमे से बचाने के लिए चार बेटों को बलि का बकरा बना दिया. पुलिस ने जब पूरे मामले की तफ्तीश की तो एक बड़ा खुलासा हुआ, जिससे हर कोई अचरज में पड़ गया. पुलिस ने मृतक अनम के दादा, पिता समेत 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

पीलीभीत के अमरिया थाना के गांव माधोपुर में 2 दिन पहले गन्ने के एक खेत में 9 वर्षीय मासूम अनम का खून से सना शव मिला था. जिसके बाद एसपी दिनेश कुमार पी खुद मौके पर पहुंचे और छानबीन चालू कर दी. जिसमें एडिशनल एसपी, अमरिया थाना पुलिस, सुनगढ़ी थाना इंचार्ज, एसओजी की टीम और सर्विलांस की टीम को लगाया गया तो रोंगटे खड़े कर देने वाला खुलासा सामने आया. पुलिस को मृतका अनम के पिता ने तहरीर दी थी, जिसमें शकील नाम के व्यक्ति को आरोपी बनाया गया था. पुलिस ने अपनी जांच शुरू की. गांव वालों के सहयोग से पुलिस कातिलों तक पहुंची, तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ.

लड़की के पिता अनीस अहमद की 2018 से गांव के शकील के साथ पुरानी दुश्मनी थी. शकील का छोटा भाई शादाब अहमद उसकी बहन के साथ भाग गया था और बाद में परिवार की मर्जी के खिलाफ उससे शादी कर ली थी. उसके बाद शादाब के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 (बलात्कार) के तहत एक मामला अभी भी अदालत में लंबित है. पुलिस को अनम के परिवार के सदस्यों पर तब संदेह हुआ जब गांव के कुछ चश्मदीदों ने पुलिस को बताया कि लड़की कभी लापता नहीं हुई थी. एसपी दिनेश ने कहा कि तब पांचों आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया. पूछताछ के दौरान उन्होंने भीषण हत्या करना कबूल कर लिया. मौके से पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल हथियार, ईंट और नशीली गोलियों का रैपर बरामद किया है.

सपा विधायक नाहिद हसन को इलाहाबाद हाई कोर्ट से बड़ी राहत, गैंगस्टर केस में मिली बेल

बताया जाता है कि इन सभी ने बच्ची को मेला घुमाने ले जाने के लिए कहा और उसे नींद की गोली देकर पराली में छुपा दिया. इसके बाद सभी लोग घर आ गए. सुबह 4 बजे फिर लड़की के दादा शहजादे, पिता अनीस, चाचा शादाब, नसीब और सलीम मौके पर पहुंचे और बच्ची को उठाकर 100 मीटर आगे नईम के गेंहू के खेत ले जाकर बच्ची को लिटा दिया. उसके बाद पिता अनीस ने बच्ची के सर पर पत्थर मारा और चाचा ने बच्ची के पेट में चाकू मारा. लड़की को मरा समझकर वे सभी घर वापस गए और मस्जिद से लड़की के खो जाने की घोषणा करवा दी. एक बार फिर ये पांचों मौके पर पहुंचे तो लड़की जिंदा मिली. बच्ची का चाचा सलीम उसका वीडियो बनाने लगा, जो बाद में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. पुलिस ने इन पांचों के ऊपर मुकदमा दर्ज कर लिया है और इन पांचों को जेल भेजने की तैयारी कर रही है. मानवता को शर्मसार करने वाला बाप फिलहाल पुलिस के शिकंजे में है. अपनी दुश्मनी को निभाने के लिए अपने ही बच्चे की हत्या को लेकर पूरे जिले में गुस्से का माहौल बना हुआ है.

Tags: Up crime news, UP police

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें