Home /News /uttar-pradesh /

Kanpur IT Raid: 100 साल पुराने केदारनाथ श्रीकृष्ण ज्वेलर्स पर आयकर छापे में मिला कुछ ऐसा, अधिकारी भी रह गए हैरान

Kanpur IT Raid: 100 साल पुराने केदारनाथ श्रीकृष्ण ज्वेलर्स पर आयकर छापे में मिला कुछ ऐसा, अधिकारी भी रह गए हैरान

IT raids Kanpur : इस फर्म के मालिक बॉबी अग्रवाल और सीए संजय अग्रवाल के घर पर सोमवार शाम तक जांच पूरी हुई. (प्रतीकात्मक)

IT raids Kanpur : इस फर्म के मालिक बॉबी अग्रवाल और सीए संजय अग्रवाल के घर पर सोमवार शाम तक जांच पूरी हुई. (प्रतीकात्मक)

Kanpur Income Tax Raid: केदारनाथ श्रीकृष्ण ज्वेलर्स (Kedarnath Srikrishan Jewelers) के मालिक खुद चार्टर्ड एकाउंटेंट हैं. केएस ब्रैंड नाम से उनके चांदी के बर्तन बाजार में आते हैं, जो प्रदेश के टॉप तीन ब्रैंड्स में से एक है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी उनकी चांदी के सामानों की भारी मांग रहती है.

अधिक पढ़ें ...

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में चौक सराफा स्थित 100 साल पुरानी फर्म केदारनाथ श्रीकृष्ण ज्वेलर्स (Kedarnath Sri Krishan Jewelers) और केएस बुलियन के चार प्रतिष्ठानों, कारखाना, आफिस, शोरूम और आवास पर आयकर विभाग (IT Raid in Kanpur) ने रविवार को छापे मारे थे, जो कि अब पूरी हो गई है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, आयकर विभाग की तीन टीमों की जांच रविवार रात और एक टीम की जांच सोमवार शाम को पूरी हो गई. इस दौरान वहां से 8.5 करोड़ रुपये की अघोषित चांदी सीज की गई. साथ ही 16 लाख रुपये का अघोषित कैश भी जब्त किया गया. इसके अलावा कई लॉकरों को भी सीज किया गया है.

इस फर्म के मालिक बॉबी अग्रवाल और सीए संजय अग्रवाल के घर पर सोमवार शाम तक जांच पूरी हुई. इस छापे में 8.5 करोड़ रुपये की अघोषित चांदी सीज किया गया है, जिसके कोई दस्तावेज नहीं मिले. बरामद की गई 1500 किलो चांदी सिल्लियों और बर्तनों के रूप में है. इन छापों में विभिन्न संपत्तियों के कागजात भी मिले हैं, लेकिन इनमें से अधिकांश बहुत पुरानी संपत्तियां हैं.

ये भी पढ़ें- अब ED के संयुक्त निदेशक का उमड़ा बीजेपी प्रेम, VRS हुआ मंजूर, सुल्तानपुर से लड़ेंगे चुनाव!

फर्म में जांच के दौरान न तो परचेज रजिस्टर मिला, न ही सेल रजिस्टर मिला, न स्टॉक रजिस्टर मिला और न ही मेंटेनेंस रजिस्टर मिला. आयकर अफसर उस समय हैरान रह गए, जब उन्हें पूरा बहीखाता 50 साल पुराने रोकड़ के रूप में मिला. इंटरनेशनल एकाउंटिंग सिस्टम के दौर में आज भी फर्म का हिसाब किताब मुनीम के जरिए रोकड़ के रूप में रखा जा रहा था, जिसका अध्ययन आयकर विभाग कर रहा है.

ये भी पढ़ें- इटावा में कांग्रेस बिगाड़ेगी समाजवादी पार्टी का गेम! 52 साल बाद सदर सीट पर उतारा मुस्लिम उम्मीदवार

केदारनाथ श्रीकृष्ण ज्वेलर्स के मालिक खुद चार्टर्ड एकाउंटेंट हैं. केएस ब्रैंड नाम से उनके चांदी के बर्तन बाजार में आते हैं, जो प्रदेश के टॉप तीन ब्रैंड्स में से एक है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी उनकी चांदी के सामानों की भारी मांग रहती है. ऐसे में आयकर अफसर भी हैरान है कि इतने बड़े कारोबार का हिसाब-किताब बाबा आदम जमाने के सिस्टम पर किया जा रहा था.

Tags: Income tax raid, Kanpur IT Raid, Kanpur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर