Home /News /uttar-pradesh /

खत्म हुआ इंतजार, हवा से बातें करेगी गतिमान एक्सप्रेस

खत्म हुआ इंतजार, हवा से बातें करेगी गतिमान एक्सप्रेस

लंबे अंतराल के बाद आखिरकार पांच अप्रैल से देश की सबसे तेज दौड़ने वाली रेलगाड़ी गतिमान एक्‍सप्रेस नई दिल्‍ली-आगरा के बीच चलने लगेगी. 160 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ने वाली यह सुपरफास्‍ट ट्रेन महज 100-105 मिनट में 184 किलोमीटर की यात्रा करा देगी.

लंबे अंतराल के बाद आखिरकार पांच अप्रैल से देश की सबसे तेज दौड़ने वाली रेलगाड़ी गतिमान एक्‍सप्रेस नई दिल्‍ली-आगरा के बीच चलने लगेगी. 160 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ने वाली यह सुपरफास्‍ट ट्रेन महज 100-105 मिनट में 184 किलोमीटर की यात्रा करा देगी.

लंबे अंतराल के बाद आखिरकार पांच अप्रैल से देश की सबसे तेज दौड़ने वाली रेलगाड़ी गतिमान एक्‍सप्रेस नई दिल्‍ली-आगरा के बीच चलने लगेगी. 160 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ने वाली यह सुपरफास्‍ट ट्रेन महज 100-105 मिनट में 184 किलोमीटर की यात्रा करा देगी.

अधिक पढ़ें ...
  • CNN-News18
  • Last Updated :
    लंबे अंतराल के बाद आखिरकार पांच अप्रैल से देश की सबसे तेज दौड़ने वाली रेलगाड़ी गतिमान एक्‍सप्रेस नई दिल्‍ली-आगरा के बीच चलने लगेगी. 160 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ने वाली यह सुपरफास्‍ट ट्रेन महज 100-105 मिनट में 184 किलोमीटर की यात्रा करा देगी.

    फिलहाल दिल्‍ली-भोपाल (हबीबगंज) शताब्‍दी देश की सबसे तेज चलने वाली ट्रेन है, जिसकी रफ्तार 140-150 किलोमीटर प्रति घंटे है. गतिमान एक्‍सप्रेस का परिचालन शुरू होते ही उसे देश की सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन का तमगा हासिल हो जाएगा.

    Gatimaan-Express2

    बताया जा रहा है कि रेल मंत्री ने 22 मार्च को गतिमान एक्‍सप्रेस के अंतिम ट्रायल के बाद इसे दिल्‍ली के हजरत निजामुद्दीन स्‍टेशन से आगरा कैंट के बीच चलाने की इजाजत दे दी है.

    सबसे अच्‍छी बात यह है कि गतिमान एक्‍सप्रेस पूरी तरह भारत में तैयार है. इसके कोच को पंजाब स्‍थित कपूरथला रेलवे कोच फैक्‍ट्री में तैयार किया गया है. इस ट्रेन में बायो टॉयलेट हैं, जिसे डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (डीआरडीओ) सहित अन्‍य भारतीय कंपनियों ने तैयार किया है.

    10 कोच वाली इस ट्रेन को तैयार करने में करीब 50 करोड़ रुपए की लागत आई है. एक कोच को तेयार करने में ढाई से तीन करोड़ रुपए का खर्च आया है. बाकी का खर्च इसमें लगे दो पावर कार में हुए हैं.

    दिल्‍ली डिविजन में उत्‍तर रेलवे के डिविजनल रेलवे मैनेजर (डीआरएम) अरुण अरोरा ने बताया कि यह ट्रेन देखने में शताब्‍दी की तरह लगती है, पर इसमें कहीं ज्‍यादा सुविधाएं हैं.

    गतिमान एक्सप्रेस सप्ताह में छह दिन चलेगी. शुक्रवार को यह नहीं चलेगी. हजरत निजामुद्दीन स्टेशन से 12050 नंबर की ट्रेन सुबह 8.10 बजे रवाना होगी और सुबह 9.50 बजे आगरा कैंट पहुंचेगी. रास्ते में कहीं ठहराव नहीं होगा. वापसी में 12049 नंबर की ट्रेन आगरा कैंट से सायं 5.50 बजे रवाना होकर सायं 7.30 बजे हजरत निजामुद्दीन पहुंचेगी.

    Gatimaan-Express1

    रेलवे सुरक्षा आयुक्त ने ट्रेन के सुरक्षित परिचालन के लिए ट्रैक के दोनों तरफ फेंसिंग कराने की हिदायत दी है. अधिकारियों का दावा है कि संवेदनशील इलाकों में फेंसिंग कार्य पूरा करा लिया गया है और गतिमान को चलाया जा सकता है. वहीं इस रूट पर 25 ऐसे स्थानों की पहचान की गई थी जहां ट्रेन की रफ्तार 110 किलोमीटर से ज्यादा नहीं हो सकती थी. 22 मार्च को ट्रेन के अंतिम ट्रायल रन में आगरा के नजदीक दो लड़के इसकी चपेट में आ गए थे. अधिकारियों का दावा है कि इन परेशानियों को दूर कर लिया गया है.

    इस फुली एसी ट्रेन का किराया शताब्दी एक्सप्रेस के मुकाबले 25 फीसदी ज्यादा होगा. यानी, गतिमान एक्सप्रेस में चेयरकार का दिल्ली से आगरा का एक यात्री का किराया 690 रुपए और एक्जीक्यूटिव क्लास में सफर के लिए 1365 रुपए देने होंगे.

    आपके शहर से (आगरा)

    Tags: Indian railway

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर