लाइव टीवी

पुलिस कार्रवाई पर सवाल खड़ा करना होगा मुश्किल, जल्‍द तैनात होगा यह खास ‘पहरेदार’

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 7, 2019, 4:30 PM IST
पुलिस कार्रवाई पर सवाल खड़ा करना होगा मुश्किल, जल्‍द तैनात होगा यह खास ‘पहरेदार’
सुधार की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए जिला पुलिस अधीक्षक ने अलग महिला क्यूआरटी का गठन भी किया है.

यह खास पहरेदार कार्रवाई के दौरान का हर सच अपनी आंखों में कैद करेगा. जरूरत पड़ने पर पहरेदार की आंखों में कैद सच को सबूत के तौर पर भी पेश किया जा सकेगा.

  • Share this:
आजमगढ़ (Azamgarh) : अब पुलिस की कार्रवाई पर उठने वाले सवालों का सच जानना बेहद आसान होने वाला है. दरअसल, यूपी पुलिस (UP Police) ने पुलिस कार्रवाई के दौरान एक खास पहरेदार तैनात करने जा रही है. यह खास पहरेदार कार्रवाई के दौरान का हर सच अपनी आंखों में कैद करेगा. जरूरत पड़ने पर पहरेदार की आंखों में कैद सच को सबूत के तौर पर भी पेश किया जा सकेगा. दरअसल, हम बॉडी वार्न कैमरों (Body Worn Camera) की बात कर रहे हैं, जो जल्‍द आजमगढ़ पुलिस (Azamgarh Police) की वर्दी (Uniform) का हिस्‍सा बनने जा रहे हैं.

आजमगढ़ पुलिस के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने व अपराधियों पर लगाम कसने के मकसद से जिला पुलिस ने बड़ी पहल की है. इस पहल के तहत, अब जिले के इंस्पेक्टर और महिला कांस्‍टेबल बाडी वार्न कैमरों से लैस होंगी. इन कैमरों का इस्‍तेमाल हर तरह के अपराध पर नजर रखने के साथ-साथ त्वरित कार्रवाई के लिए भी किया जा सकेगा. उन्‍होंने बताया कि इन कैमरों का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि अब लोग पुलिस कार्रवाई पर झूठे सवाल भी खड़ा नहीं कर सकेंगे.

पुलिस अधीक्षक की देखरेख में नई गठित क्यूआरटी सड़क पर रूट मार्च कर रिहर्सल भी किया. Under the supervision of the Superintendent of Police, rehearsal was also carried out by marching on the newly formed QRT road.
पुलिस अधीक्षक की देखरेख में नई गठित क्यूआरटी सड़क पर रूट मार्च कर रिहर्सल भी किया.


महिला क्‍यूआरटी का गठन

उन्‍होंने बताया कि अब पुलिस कार्रवाई के दौरान का पूरा घटनाक्रम जवानों की वर्दी पर लगे बॉडी वार्म कैमरों में कैद होगा. यही नहीं, कानून व्यवस्था में सुधार की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए जिला पुलिस अधीक्षक ने अलग महिला क्यूआरटी का गठन भी किया है. पुलिस अधीक्षक की देखरेख में नई गठित क्यूआरटी सड़क पर रूट मार्च कर रिहर्सल भी किया. इस दौरान, पुलिस अधीक्षक ने उन्‍हें बताया कि अपराध नियंत्रण के लिए टीम को क्या कदम उठाने है और कैमरे का इस्तेमाल कैसे करना होगा.

आला अधिकारियों की नजर आजमगढ़ पर
उल्‍लेखनीय है कि अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर पूरे देश में एलर्ट है. आजमगढ़ जिले को अति संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है. उत्‍तर प्रदेश पुलिस के हर आला अधिकारी की नजर इन दिनों आजमगढ़ पर है. अराजकतत्व अपने मंसूबे में कामियाब न हों और अपराध को पूरी तरह काबू किया जा सके, इसलिए यह कवायद शुरू की गई है.
Loading...

आसान होगी पुलिस कार्रवाई
न्यूज़ 18 से बातचीत के दौरान पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि कानून-व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने तथा अपराध पर नियंत्रण के लिए महिला क्यूआरटी का गठन किया गया है. आम तौर पर देखा गया है कि जब कोई विवाद होता है तो अराजकतत्व महिलाओं को आगे कर माहौल को खराब करते है. अब क्यूआरटी ऐसे मामलों को आसानी से रोक सकेगी. साथ ही इनके पास साक्ष्य भी होगा, जिससे कार्रवाई में मदद मिलेगी.

यह भी पढ़ें:
70 लाख का गबन कर फरार हुई महिला इंस्‍पेक्‍टर, महकमे ने घोषित किया 25 इजार का ईनाम
अयोध्‍या फैसला: कानून-व्‍यवस्‍था कायम रखने के लिए कानपुर पुलिस लेगी ‘एरोस्‍टैग’ का सहारा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए आजमगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 4:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...