हटाने के बावजूद पूर्व सांसद के आवास पर मिले सीआईएसएफ जवान

जौनपुर में ब्लॉक प्रमुख अविश्वास प्रस्ताव के मामले में हुए बवाल के दौरान सपा विधायक शैलेन्द्र यादव 'ललई' और बसपा एमएलसी बृजेश सिंह 'प्रिंसू' की सुरक्षा वापस के ली गई है.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 15, 2017, 10:46 PM IST
हटाने के बावजूद पूर्व सांसद के आवास पर मिले सीआईएसएफ जवान
एडीजी एलओ, आनंद कुमार
ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 15, 2017, 10:46 PM IST
जौनपुर में ब्लॉक प्रमुख अविश्वास प्रस्ताव के मामले में हुए बवाल के दौरान सपा विधायक शैलेन्द्र यादव 'ललई' और बसपा एमएलसी बृजेश सिंह 'प्रिंसू' की सुरक्षा वापस के ली गई है.

वहीं, एक अन्य आरोपी पूर्व बसपा सांसद धनंजय सिंह के यहां दबिश में पता चला कि उनके आवास अब भी सीआईएसएफ के जवान तैनात हैं,  जबकि भारत सरकार ने उनकी वाई श्रेणी की सुरक्षा जुलाई में ही हटा ली थी.

विधायक और एमएलसी दोनों को शासन की ओर से सुरक्षा उपलब्ध करवाई गई थी. ये दोनों बवाल मामले में आरोपी हैं और दोनों को पुलिस खोज रही है. इसलिए उनकी सुरक्षा हटाई गई है.

एडीजी एलओ आनंद कुमार ने बताया कि जिले के एसपी के मुताबिक दबिश के दौरान पूर्व सांसद नहीं मिले. ऐसा प्रतीत होता है कि अभी भी उनकी सुरक्षा में तैनात जवान हटाए नहीं गए हैं.

अब अहम सवाल है कि धनंजय के आवास पर किसके आदेश से सीआईएसएफ के जवान तैनात थे. अब पुलिस ने धनंजय की सुरक्षा हटाने के लिए उचित प्लेटफार्म पर लिखा पढ़ी शुरू कर दी है.

बताते चलें कि जौनपुर के एक कोर्ट ने सपा विधायक शैलेंद्र यादव 'ललई', बसपा एमएलसी बृजेश सिंह 'प्रिंसू' और पूर्व बसपा सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ ग़ैर ज़मानती वारंट जारी कर रखा है. एडीजी एलओ के मुताबिक तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...