• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • गन्ने की पेराई में नहीं की मदद तो मासूम को चरखी पर ढकेला, हाथ कटा

गन्ने की पेराई में नहीं की मदद तो मासूम को चरखी पर ढकेला, हाथ कटा

  • Share this:
जौनपुर जिले में दबंग ने गन्ना पेराई में मादा करने से इंकार करने पर आठ साल के मासूम को मार पीटकर उसका हाथ मशीन में दे दिया जिससे उसका बायां हाथ बुरी तरह जख्मी हो गया. डॉक्टरों ने मासूम की जान बचने के लिए उसके हाथ को कंधे से काट दिया.

लेकिन जब दलित महिला इसकी शिकायत लेकर पुलिस के पास पहुंची तो पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने की जगह उसे वहां से भगा दिया. अब यह महिला न्याय के लिए आला अधिकारीयों से गुहार लगा रही है.

घटना महराजगंज थाना क्षेत्र के गौराखुर्द गांव की है. पीड़ित दलित महिला ने सोमवार को न्याय की गुहार लगाने एसपी आफिस पहुंची. एसपी के न मिलने पर उसने फैक्स और रजिस्टर्ड डाक द्वारा एसपी, डीआईजी और आईजी वाराणसी को अपना प्रार्थना पत्र भेजा.

उसका आरोप है कि गांव का एक दबंग व्यक्ति ने उसके आठ वर्ष के मासूम बच्चे से गन्ना पेराई में मदद करने को कहा जब उसने इंकार किया तो उसने उसके बेटे को मार पीटकर गन्ने के चरखी पर धक्का दे दिया जिसके कारण उसका बायां हाथ बुरी तरह से जख्मी हो गया. वह इस कदर चोटहिल हो गया कि उसकी जान बचाने के लिए डाक्टर को कंघे के पास से हाथ ही काटना पड़ गया.

महिला का आरोप है कि जब वह इस मामले की एफआईआर दर्ज कराने के लिए थाने गई तो थानेदार टालमोटल करते हुए उसे भगा दिया. जिसके बाद
जौनपुर जिले के महराजगंज थाना क्षेत्र के गौराखुर्द गांव की निवासी जमुना देवी अपने आठ वर्षीय बेटा शिवम को साथ लेकर एसपी आफिस पहुंची. शिवम का बायां हाथ कंधे के पास कटा हुआ था.

जमुना पुलिस अधिक्षक से मिलकर गुहार लगाने आयी हुई थी. लेकिन एसपी उस समय दफ्तर में मौजूद नही थे. उसके बाद उसने अपना दुखड़ा फैक्स और रजिस्टर्ड डाक द्वारा एसपी जौनपुर, डीआईजी और आईजी वाराणासी को भेजा.

जमुना का आरोप है कि बीते 28 दिसम्बर को गांव के एक दबंग परिवार द्वारा उसके बेटे शिवम को घर से पकड़कर अपने साथ ले गये. अपने घर ले जाने के बाद उन लोगों ने उससे गन्ने की पेराई करने में मदद करने को कहा.

'मेरा बेटा पहले थोड़ा मदद करने के बाद भाग निकला. उसके बाद दबंग फिर से मेरे घर आकर उसे पकड़कर ले गया. वहां ले जाने के बाद जबरदस्ती गन्ने को चरखी लगाने को कहा तो मेरे पुत्र ने इंकार कर दिया. जिसके बाद दबंग ने मेरे बेटे को दो थप्पड़ मारने के बाद गन्ने की चरखी पर ढकेल दिया जिससे उसका बाया हाथ बुरी तरह से जख्मी हो गया. उसकी चीखपुकार सुनकर हम लोग मौके पर पहुंचकर अपने साथ लेकर जौनपुर शहर के एक निजी डॉक्टर के पास गए. जहां उसकी जान बचाने के लिए डॉक्टर को हाथ काटना पड़ा. हम आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए थाने गये तो थानाध्यक्ष आज तक टालमटोल कर रहे हैं. उधर दबंग व्यक्ति एफआईआर दर्ज न कराने के लिए धमकी दे रहा है.'

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज