बागी पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर का बदला सुर, सीएम योगी को बोले- Thank You
Azamgarh News in Hindi

बागी पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर का बदला सुर, सीएम योगी को बोले- Thank You
बागी पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर का बदला सुर (फाइल फोटो)

इस मामले को लेकर पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) अपने मोर्चा के नेताओं के साथ प्रतापगढ़ स्थित गोविंदपुर पीड़ितों से मिलने पहुंचे थे.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) द्वारा आजमगढ़ मामले में एक्शन लेने के बाद पूर्व कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) के सुर बदल गए हैं. जहां कल तक सरकार पर हमलावर ओमप्रकाश राजभर ने आजमगढ़ में सरकार की कार्रवाई की सराहना करते हुए सीएम योगी आदित्याथ को धन्यवाद बोला है.

ओमप्रकाश राजभर ने ट्वीट कर कहा है कि उत्तर प्रदेश में किसी भी पिछड़े दलित गरीब के साथ अन्याय की जितनी भी निंदा की जाए कम है. दोषी किसी भी जाति समुदाय का हो अगर वो गलत करता है तो उसके विरुद्ध तुरंत सख्त कानूनी कार्यवाही होनी चाहिए. हाल ही में जौनपुर, आजमगढ़ में दलित समुदाय के साथ अन्याय हुआ मुख्यमंत्री जी ने देर से ही सही कार्यवाही की इसके लिए मैं धन्यवाद देता हूं.

लेकिन प्रतापगढ़ जौनपुर या अन्य जिले में पिछड़े वर्ग के साथ उत्पीड़न के मामले सामने आए उसमें पुलिस लीपापोती करने में लगी है. इनके साथ अन्याय अत्याचार हुआ है तत्काल इसपर भी इसी प्रकार कार्यवाही होनी चाहिए. गौरतलब है कि आजमगढ़ में दलित किशोरी के साथ छेड़खानी के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्ती दिखाते हुए आरोपी परवेज, फैजान, नूरआलम,सदरे आलम समेत 12 गिरफ्तार और फरार आरोपियों पर तत्काल एनएसए लगाने के आदेश दिए हैं, वहीं फरार आरोपियों पर ईनाम घोषित करने के साथ ही लापरवाह एसएचओ पर एक्शन का आदेश दिया है.



दूसरी तरफ आरोप है कि प्रतापगढ़ के गोविंदपुर गांव जानवर के खेत में जाने को लेकर ब्राह्मण और पटेलों में जमकर विवाद हो गया था. इसके बाद पटेलों के घर में आगजनी की घटना में 3 भैंसों की जलकर मौत हो गई. इस मामले को लेकर पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर अपने मोर्चा के नेताओं के साथ प्रतापगढ़ स्थित गोविंदपुर पीड़ितों से मिलने पहुंचे थे, जहां पूर्व मंत्री ओम प्रकाश राजभर, बाबू सिंह कुशवाहा और अपना दल की कृष्णा पटेल समेत आधा दर्जन नेताओँ पर धारा 144 के उल्लंघन और आपदा प्रबंधन की धाराओं में एफआईआर दर्ज हुई थी. पुलिस ने इन सबको वापस लौटा दिया था. राजभर अब प्रतापगढ़ के मामले में सीएम कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.
ये भी पढ़ें:

कोरोना काल में MMMTU किसी भी छात्र को नहीं करेगा फेल, जुलाई में घोषित होगा रिजल्ट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading