होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

मां कपड़ा सिलती, पिता चलाते हैं परचून की दुकान; अपने दम पर US से डिग्री लेने चली UP की बेटी

मां कपड़ा सिलती, पिता चलाते हैं परचून की दुकान; अपने दम पर US से डिग्री लेने चली UP की बेटी

आर्थिक तंगी को मात देकर यूपी के जौनपुर की अंशिका पहुंची अमेरिका,  सौ फीसदी छात्रवृत्ति के साथ मिला यूनिवर्सिटी में दाखिला

आर्थिक तंगी को मात देकर यूपी के जौनपुर की अंशिका पहुंची अमेरिका, सौ फीसदी छात्रवृत्ति के साथ मिला यूनिवर्सिटी में दाखिला

उत्तर प्रदेश में जौनपुर जिले के एक छोटे से गांव की रहने वाली अंशिका पटेल को अमेरिका की वाशिंगटन एंड ली यूनिवर्सिटी में 100 प्रतिशत छात्रवृत्ति मिली है. अंशिका आज यानी गुरुवार को एक प्रतिष्ठित लिबरल आर्ट्स कॉलेज वाशिंगटन एंड ली यूनिवर्सिटी में इकोनॉमिक्स में स्नातक कोर्स के लिए वर्जीनिया के लेक्सिंगटन रवाना हो रही हैं.

अधिक पढ़ें ...

जौनपुर: उत्तर प्रदेश में जौनपुर की बेटी ने अमेरिका के वाशिंगटन एंड ली यूनिवर्सिटी में 100 प्रतिशत छात्रवृत्ति के साथ दाखिला लेकर परचम लहरा दिया है. छोटे से गांव की गरीब घर की बेटी अंशिका पटेल का उसकी अपनी मेहनत के बल पर अमेरिका के विश्वविद्यालय में प्रवेश हुआ है, वह भी सौ फीसदी छात्रवृत्ति पर. पकरी गोदाम निवासी अंशिका पटेल का वाशिंगटन एंड ली यूनिवर्सिटी में इकोनॉमिक्स एंड मैथमेटिक्स से उच्च शिक्षा (स्नातक) की पढ़ाई के लिए चयन हुआ है. अंशिका आज यानी गुरुवार को अपने गांव से उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए अमेरिका के लिए रवाना हो जाएंगी.

अमेरिका की यूनिवर्सिटी में पढ़ेगी जौनपुर की बेटी
अमेरिका के विश्वविद्यालय में अंशिका का चयन होने के बाद माता-पिता, संबंधियों और आसपास के इलाकों में खुशी की लहर है. अंशिका ने अपनी मेहनत के बल पर अमेरिका के वाशिंगटन एंड ली यूनिवर्सिटी तक पहुंचने के अपने सपना को साकार किया है. परिवार के लोगों का मानना है कि उनकी बेटी अंशिका निश्चित तौर पर एक दिन परिवार, समाज और देश के लिए बड़ा काम करेगी. अंशिका के चयन के बाद उनके माता-पिता काफी खुश हैं. गरीब घर की बेटी अपने हौसले से आसमान छूने निकली है, यह खबर इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है.

मां कपड़ा सिलती हैं और पिता चलाते हैं परचून की दुकान
जौनपुर जिला मुख्यालय से 65 किलोमीटर दूर मुंगरा बादशाहपुर थाना क्षेत्र के जंघई रोड पर पकरी गोदाम निवासी 18 वर्षीय अंशिका पटेल ने न्यूज18 से फोन पर बताया कि खर्च का जिम्मा अमेरिका के वाशिंगटन एंड ली यूनिवर्सिटी पूरी पढ़ाई का खर्च उठाएगी. न्यूज 18 से बात करते हुए अंशिका पटेल ने बताया कि मां कपड़े की सिलाई करती हैं और पिता परचून की दुकान पर काम करते हैं. यह देख उनका कलेजा भर आता था. अंशिका ने कहा कि मैंने बचपन में ही ठान लिया था कि पढ़ाई के बल पर घर की आर्थिक स्थिति को सुधार कर रहूंगी. इस तरह अंशिका आज आर्थिक तंगी की मात देकर और मेहनत के बल पर आज अमेरिका के वॉशिंगटन एंड ली यूनिवर्सिटी में सुनहरे भविष्य के निर्माण के लिए रवाना हो रही हैं.

गांव से ही हुई है शुरुआती पढ़ाई
बता दें कि कमजोर आर्थिक पृष्ठभूमि परिवार में जन्मीं अंशिका पटेल की प्राथमिक शिक्षा मोहल्ले के प्राइमरी स्कूल में ही हुई है. इसके बाद पिता ने बेटी का दाखिला बुलंदशहर में विद्या ज्ञान आवासीय विद्यालय में कराया और वहीं से साल 2014 में अंशिका ने इंटरमीडिएट की परीक्षा 98. 5 फीसदी अंक प्राप्त कर पास की. इसके बाद अंशिका ने वाशिंगटन एंड ली यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा अटेंड किया.

Tags: Jaunpur news, Uttar pradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर