जौनपुर के एक गांव में हिंदुओं के दो दर्जन परिवार हो गए ईसाई!

एसपी दिनेश पाल सिंह ने कहा कि गांव में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है. धर्म परिवर्तन जैसा कोई मामला नहीं है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 25, 2018, 10:41 AM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 25, 2018, 10:41 AM IST
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार में धर्मान्तरण का मामला जौनपुर से सामने आया है. जिले के एक गांव में दो दर्जन परिवार के लोगों ने लंबी बीमारियों से निजात पाने के लिए हिन्दू से ईसाई धर्म के अनुसार जीवन जीना शुरू कर दिया है.

घटना जौनपुर शहर से करीब 50 किलोमीटर दूर चंदवक थाना के हरिहरपुर ग्राम सभा के बढ़यापार गांव की है. हिंदू संगठनों का आरोप है कि यहां की दलित बस्ती में ईसाई मिशनरियां गुप-चुप तरीके से गांव के दो दर्जन परिवार के लोगों को हिन्दू से ईसाई बना दिया है. लोगों को इसकी भनक तक नहीं लगी. हिंदू संगठनों के अनुसार, साप्ताहिक सामूहिक प्रार्थना सभा की आड़ में धर्मान्तरण का ये खेल चल रहा है और गांव की दलित बस्ती के लोगों को बहला-फुसलाकर धर्मान्तरण किया गया.

न्यूज-18 के कैमरे में दलित बस्ती में ईसाई धर्म की प्रार्थना कारगर तरीके से चलती हुई कैद हुई. जब न्यूज18 ने हिन्दू से ईसाई बने लोगों को ईसाइयों की तरह रहन-सहन पूजा-पाठ किये जाने से जुड़ा सवाल पूछा तो उन्होंने लंबी बीमारियों और प्रेत साया से परेशान होकर चर्च में जाने की बात कही. ग्रामीण ने बताया कि वहां जाने से सालों पुरानी समस्या महीनों में दूर हो जाती है. तभी से लोगों ने मंदिरों में जाना छोड़ दिया है. उसके बाद से ही ईशु भगवान को मानने लगे. इसलिए वे लोग ईसाई धर्म की प्रार्थना सभा सप्ताह में दो दिन रविवार, मंगलवार के दिन एक-दूसरे के घर पर जाकर करते हैं.

गांव की दलित बस्ती के लोग आखिर कब से, क्यों ईसाई धर्म के अनुसार पूजा-अर्चना करने लगे हैं, इस बात का पता न्यूज18 ने लोगों के पड़ोसी और घर से कुछ दूर जाकर पता किया, तो सामने आया कि 90 फीसदी नहीं बल्कि दो दर्जन परिवार के लोगों ने ऐसा किया है. लेकिन धर्म परिवर्तन किये जाने की बात किसी से नहीं बतायी है. ग्रामीणों ने बताया कि धर्म छोड़ा नहीं है, बस मंदिर में नहीं जाते है.

हालांकि हिन्दू से ईसाई बने परिवार के लोगों से जब न्यूज18 की टीम ने बात की तो लोगों ने बताया कि लोगों ने परिवर्तन नहीं किया है. केवल बताये हुए रास्ते पर चल रहे हैं. धर्मान्तरण किये जाने की बात से जिन लोगों ने इनकार किया, वे लोग भी प्रार्थना सभा में शामिल रहे.

जौनपुर पुलिस भी धर्म परिवर्तन की किये जाने की खबर को बेबुनियाद बता रही है. एसपी दिनेश पाल सिंह ने कहा कि गांव में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है, लोगों की परेशानी है. धर्म परिवर्तन जैसा कोई मामला नहीं है. (रिपोर्ट- मनोज सिंह पटेल)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर