Home /News /uttar-pradesh /

kerakat jaunpur assembly seat result live update win loss tufani saroj dinesh chaudhary rajesh lalbahadur pappu

Kerakat assembly seat result live: 'तूफानी' ने अपनी चाल से दी BJP को मात, सपा-भाजपा में रहा कड़ा मुकाबला

Kerakat Vidhan Sabha Chunav Result: जौनपुर की केराकत (सुरक्षित) विधानसभा सीट (Kerakat Vidhan Sabha Chunav Result Live) से सपा के तूफानी सरोज (TUFANI SAROJ) चुनाव जीत गए हैं. उन्होंने भाजपा के मौजूदा विधायक दिनेश चौधरी (DINESH CHAUDHARY) को हराया है.

Kerakat Vidhan Sabha Chunav Result: जौनपुर की केराकत (सुरक्षित) विधानसभा सीट (Kerakat Vidhan Sabha Chunav Result Live) से सपा के तूफानी सरोज (TUFANI SAROJ) चुनाव जीत गए हैं. उन्होंने भाजपा के मौजूदा विधायक दिनेश चौधरी (DINESH CHAUDHARY) को हराया है.

Kerakat Vidhan Sabha Chunav Result: जौनपुर की केराकत (सुरक्षित) विधानसभा सीट (Kerakat Vidhan Sabha Chunav Result Live) से सपा के तूफानी सरोज (TUFANI SAROJ) चुनाव जीत गए हैं. उन्होंने भाजपा के मौजूदा विधायक दिनेश चौधरी (DINESH CHAUDHARY) को हराया है.

अधिक पढ़ें ...

Kerakat Vidhan Sabha Chunav Result: जौनपुर की केराकत (सुरक्षित) विधानसभा सीट (Kerakat Vidhan Sabha Chunav Result Live) से सपा के तूफानी सरोज (TUFANI SAROJ) चुनाव जीत गए हैं. उन्होंने भाजपा के मौजूदा विधायक दिनेश चौधरी (DINESH CHAUDHARY) को हराया है. बसपा के लाल बहादुर (LALBAHADUR) तीसरे स्थान पर रहे. मालूम हो कि भाजपा ने अपने मौजूदा विधायक दिनेश चौधरी (DINESH CHAUDHARY) पर दांव लगाया है. समाजवादी पार्टी ने तीन बार सांसद रह चुके तूफानी सरोज (TUFANI SAROJ) को मैदान में उतारकर चुनावी जंग को रोचक बना दिया है. इसके बीच ही बसपा ने लाल बहादुर (LALBAHADUR) के हाथ में उम्मीदवारी सौंपकर सियासी गणित बदलने की कोशिश की है. कांग्रेस की तरफ से राजेश (RAJESH) यहां दावेदारी कर रहे हैं.

केराकत सीट पर पिछले 30 साल में हुए संघर्ष में सबसे अधिक फायदा भाजपा को मिला. उसे यहां पर चार बार जीत हासिल हुई जबकि बसपा दो बार और सपा सिर्फ एक बार कामयाबी का स्वाद चख पाई. 2017 के विधानसभा चुनाव में यहां से भाजपा के दिनेश चौधरी ने जीत दर्ज की थी. उन्‍होंने सपा उम्‍मीदवार संजय कुमार सरोज को 15 हजार से अधिक मतों से हराया था. भाजपा के दिनेश चौधरी को 84,078 वोट मिले थे. दूसरे स्‍थान पर रहे सपा के संजय कुमार सरोज ने 68,819 मत प्राप्‍त किए थे. 66307 वोट के साथ बसपा की उर्मिला राज तीसरे नंबर पर थीं.

केराकत सीट पर पहला चुनाव 1957 में हुआ था. इसके बाद से लगातार चार चुनाव कांग्रेस ने जीते. 1969 में यह सीट जनसंघ के पास चली गई. हालांकि 1974 के अगले ही चुनाव में कांग्रेस ने वापसी कर ली. 1977 में यह सीट जनता पार्टी के पास रही. इसके बाद फिर 1989 तक कांग्रेस के कब्‍जे में रही. यह सीट सबसे अधिक सात बार कांग्रेस के पास रही है. इसमें से पांच बार राम समझावन ने कांग्रेस को जीत दिलाई थी. 1989 के चुनाव में जनता दल के राजपति जीते थे. 1991 की राम लहर में भाजपा ने केराकत सीट पर जीत दर्ज की थी. इसके बाद 1996 और 2002 में भी यहां से भाजपा जीती. 1993 और 2007 में यह सीट बसपा के पास रही. 2012 में सपा इस सीट को बसपा से छीनने में कामयाब रही थी.

लगभग चार लाख मतदाताओं वाली केराकत सीट पर अनुसूचित जाति के वोटर करीब एक लाख हैं. यादव 50 हजार, क्षत्रिय 36 हजार, बिंद 35 हजार, ब्राह्मण और वैश्‍य 23-23 हजार, मुस्‍लिम 22 हजार, राजभर 19 हजार, मौर्य 18 हजार और चौहान वोटर करीब 17 हजार है.

Tags: Assembly elections, Uttar Pradesh Elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर