• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • 14 रिश्‍तेदारों की हुई मौत तो बचने के लिए 30 साल से दुल्‍हन बनकर रह रहा आदमी

14 रिश्‍तेदारों की हुई मौत तो बचने के लिए 30 साल से दुल्‍हन बनकर रह रहा आदमी

30 साल से मौत से बचने के लिए दुल्‍हन बनकर रह रहा है आदमी.

30 साल से मौत से बचने के लिए दुल्‍हन बनकर रह रहा है आदमी.

जौनपुर (Jaunpur) के रहने वाले चिंताहरण चौहान (Chintaharan chauhan) का दावा है कि वह य‍ह सब खुद को और परिवार को मौत से बचाने के लिए करते हैं.

  • Share this:
    जौनपुर. यूपी के जौनपुर (Jaunpur) के एक व्‍यक्ति के साथ कुछ ऐसा हुआ कि अब वह पिछले 30 साल से रोजाना दुल्‍हन (Bride) की तरह सज कर रह रहा है. उसे उसकी मौत का डर सता रहा है, जिसके कारण वह रोजाना ऐसा करता है. दरअसल इस व्‍यक्ति ने जब तीसरी शादी की थी तो एक के बाद एक उसके 14 रिश्‍तेदारों की मौत हो चुकी है. जौनपुर के इस व्‍यक्ति का नाम चिंताहरण चौहान (Chintaharan Chauhan) है. वह मजदूर है.

    66 साल का चिंताहरण चौहान जौनपुर जिले के जलालपुर के हौजखास गांव का रहने वाला है. वह रोजारा सुबह उठने के बाद लाल साड़ी पहनता है. बिंदी लगाता है. नाक में नथुनी पहनता है. कान में झुमका और हाथ में चूड़ियां पहनता है. उसका दावा है कि वह ये सब अपनी मौत को टालने के लिए करता है.

    दिनाजपुर में की थी दूसरी शादी
    चौहान के रिश्‍तेदारों की मौत के पीछे भी दिलचस्‍प कहानी है. चिंताहरण के अनुसार, 14 साल की उम्र में उसकी पहली शादी हुई थी. शादी के कुछ ही महीनों के बाद उसकी पत्‍नी की मौत हो गई. 21 साल की उम्र में वह ईंट भट्ठे पर काम करने के लिए पश्चिम बंगाल के दिनाजपुर चला गया. वहां वह ईंट भट्ठे पर काम करने वाले लोगों के लिए पास की दुकान से खाना और अन्‍य चीजें खरीदकर लाता था. ऐसे में उसकी दोस्‍ती दुकान मालिक से हो गई. वह बंगाली था.

    दूसरी पत्‍नी ने की थी आत्‍महत्‍या
    चार साल बाद चिंताहरण ने दुकान मालिक की बेटी से शादी कर ली. लेकिन चिंताहरण का परिवार इस शादी का विरोध करने लगा. परिवार का विरोध देखते हुए चिंताहरण एक दिन अपनी बंगाली पत्‍नी को छोड़कर जौनपुर आ गया. उसके जौनपुर चले जाने की बात से उसकी पत्‍नी को सदमा लगा. पत्‍नी से कुछ दिन बाद आत्‍म‍हत्‍या कर ली. चिंताहरण को इसकी जानकारी तब मिली जब वह एक साल बाद फिर दिनाजपुर गया.

    कहर बनकर टूटी तीसरी शादी
    वह जब फिर जौनपुर परिवार के पास लौटा तो घरवालों ने उसपर तीसरी शादी करने का दबाव बनाया. उसका दावा है कि इस तीसरी शादी के बाद से ही उसके परिवार पर कहर टूटने लगा. उसने बताया कि तीसरी शादी के कुछ महीने बाद ही वह बीमार हो गया और उसके रिश्‍तेदार एक के बाद एक मरने लगे. इसमें उसके पिता राम जीवन, बड़ा भाई छोटू, उसकी पत्‍नी इंद्रावती, भाई के दो बेटे, उसके छोटा भाई बड़ऊ की जल्‍द ही मौत हो गई. इसके बाद उसके भाई की तीन बेटियों और चार बेटों की भी मौत हो गई.

    सपने आई दूसरी पत्‍नी और रखी थी शर्त
    चिंताहरण चौहान ने दावा किया कि उसके सपने में उसकी दूसरी पत्‍नी आने लगी. वह बंगाली थी. वह उसके सपने में आकर उसे डराने लगी और तेज-तेज रोने लगी. ए‍क दिन जब उसके सपने में फिर वो आई तो चौ‍हान ने उससे माफी मांगी और उसे व परिवार को बख्‍स देने को कहा. चौहान का दावा है कि ऐसे में उसकी बंगाली पत्‍नी ने उसके सामने शर्त रखी कि अगर तुम रोजाना दुल्‍हन की तरह सजकर रहोगे तो मैं तुम्‍हें छोड़ दूंगी. वह इस बात पर राजी हो गया. उसने बताया कि जिस दिन से वह दुल्‍हन की तरह सज कर तैयार होने लगा, उस दिन से उसके रिश्‍तेदारों की मौत रुक गई.

    अब स्‍वास्‍थ्‍य हुआ बेहतर
    चौहान के अनुसार, उसकी तीसरी पत्‍नी की भी कुछ साल पहले मौत हो गई. लेकिन उसकी और उसके दो बेटों रमेश व दिनेश का स्‍वास्‍थ्‍य बेहतर होने लगा. उसके मुताबिक पहले लोग उसका मजाक उड़ाते थे लेकिन उसने ऐसा अपने परिवार को बचाने के लिए किया. लोग अब उसको समझने लगे हैं.

    यह भी पढ़ें:

    बेटे की थी अंतिम इच्छा तो उसी की अर्थी के सामने लोकगीत गाती रही मां

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज