जौनपुर: मुन्ना बजरंगी के गांव में पसरा सन्नाटा, परिजन बोले- चला गया मेरा शेर

बता दें कि मुन्ना बजरंगी का असली नाम प्रेम प्रकाश सिंह है. उसका जन्म 1967 में उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के पूरेदयाल गांव में हुआ था. उसके पिता पारसनाथ सिंह उसे पढ़ा लिखाकर बड़ा आदमी बनाने का सपना संजोए थे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 9, 2018, 4:17 PM IST
जौनपुर: मुन्ना बजरंगी के गांव में पसरा सन्नाटा, परिजन बोले- चला गया मेरा शेर
मुन्ना के परिजन
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 9, 2018, 4:17 PM IST
उत्तर प्रदेश के कुख्यात माफिया मुन्ना बजरंगी की सोमवार को बागपत जेल में 10 गोलियां मारकर मौत के घाट उतार दिया गया. मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद उसके पैतृक जिला जौनपुर के सुरेरी थाना क्षेत्र के पूरेदयाल गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है. मुन्ना के परिजन सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए  जांच की मांग कर रहे है. मुन्ना बजरंगी की रिश्तेदार ने कहा कि मुन्ना हमारे गांव के शेर थे, जो आज चले गए. हम लोग उसकी मौत से काफी दुखी है. परिजनों ने योगी सरकार से मांग करते हुए कहा, बागपत जेल प्रशासन पर कड़ी कार्रवाई करे. वहीं इस हत्याकांड को अंजाम देने के पीछे जो लोग है उनको पुलिस जल्द गिरफ्तार हो. उन्होंने कहा कि आज पूरा गांव मुन्ना की मौत के गम में आंसू बहा रहा है.

यह भी पढ़ें: कुख्यात डॉन मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में गोली मारकर हत्या, योगी ने दिए न्यायिक जांच के आदेश

बता दें कि मुन्ना बजरंगी का असली नाम प्रेम प्रकाश सिंह है. उसका जन्म 1967 में उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के पूरेदयाल गांव में हुआ था. उसके पिता पारसनाथ सिंह उसे पढ़ा लिखाकर बड़ा आदमी बनाने का सपना संजोए थे. मगर प्रेम प्रकाश उर्फ मुन्ना बजरंगी ने उनके अरमानों को कुचल दिया. उसने पांचवीं कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़ दी. किशोर अवस्था तक आते-आते उसे कई ऐसे शौक लग गए जो उसे जुर्म की दुनिया में ले जाने के लिए काफी थे.

मुन्ना बजरंगी का पैतृक घर


मुन्ना बजरंगी का नाम भाजपा विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड के बाद भी सुर्खियां में आया. आरोप है कि इस हत्याकांड के पीछे माफिया मुख्तार अंसारी का हाथ था. मुख्तार के ही कहने पर मुन्ना बजरंगी ने कृष्णानंद राय पर एके-47 से 400 गोलियां दागीं. इस हत्याकांड ने पूरे पूर्वांचल को दहला कर रख दिया था.

यह भी पढ़ें: जानिए कौन था माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी, कैसे बना जुर्म की दुनिया का बेताज बादशाह

सुनील राठी को कुछ दिनों पहले ही रुड़की से बागपत जेल में शिफ्ट किया गया था. उसने रुड़की में अपनी जान का खतरा बताया था. बताया जा रहा है कि सुनील राठी का परिवार भी अपराध जगत में सक्रिय है. मुन्ना बजरंगी का नेटवर्क मुंबई, पश्चिम बंगाल, हरियाणा और पूर्वी उत्तर प्रदेश में फैला हुआ था.

(रिपोर्ट: मनोज कुमार पटेल)

यह भी पढ़ें:

अखिलेश का बीजेपी पर निशाना, कहा- ये है कैंची वाली सरकार, हमारे कामों का काट रही फीता

नोएडा में सैमसंग की मोबाइल फैक्ट्री से मिलेगा 70 हजार रोजगार

मुन्ना बजरंगी मर्डर: डाॅन से माननीय बनने का सपना रह गया अधूरा

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर