होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP News: यूपी सरकार की नंबर प्लेट, सचिवालय में नौकरी दिलवाने का 'काम', ऐसे बना फर्जी IAS पुलिस थाने का 'मेहमान'

UP News: यूपी सरकार की नंबर प्लेट, सचिवालय में नौकरी दिलवाने का 'काम', ऐसे बना फर्जी IAS पुलिस थाने का 'मेहमान'

फर्जी आईएएस बनकर नौकरी दिलवाने के नाम पर आरोपी पैसों की ठगी करता था. (न्यूज18)

फर्जी आईएएस बनकर नौकरी दिलवाने के नाम पर आरोपी पैसों की ठगी करता था. (न्यूज18)

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh News) में एक शख्स को फर्जी आईएएस (Fake IAS) बनने का चस्का इतना महंगा पड़ गया कि अब उसकी जेल जाने की नौबत आ गई है. उत्तर प्रदेश के जौनपुर (Jaunpur News) में पुलिस चेकिंग के दौरान फर्जी आईएएस का धौंस जमा रहे हिमांशु कनौजिया नामक युवक को पुलिस ने लाल-नीली बत्ती लगी कार के साथ गिरफ्तार कर किया है. पुलिस अब फर्जी आईएएस हिमांशु कनौजिया को जेल भेजने की कार्रवाई में जुट गई है. पुलिस को यह सफलता नगर कोतवाली और एसओजी टीम के संयुक्त प्रयास से मिली है. एसपी संजय कुमार ने बताया कि फर्जी भारतीय प्रशासनिक अफसर को पकड़ने वाली टीम को दस हजार रुपये इनाम दिया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

जौनपुर: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh News) में एक शख्स को फर्जी आईएएस (Fake IAS) बनने का चस्का इतना महंगा पड़ गया कि अब उसकी जेल जाने की नौबत आ गई है. उत्तर प्रदेश के जौनपुर (Jaunpur News) में पुलिस चेकिंग के दौरान फर्जी आईएएस का धौंस जमा रहे हिमांशु कनौजिया नामक युवक को पुलिस ने लाल-नीली बत्ती लगी कार के साथ गिरफ्तार कर किया है. पुलिस अब फर्जी आईएएस हिमांशु कनौजिया को जेल भेजने की कार्रवाई में जुट गई है. पुलिस को यह सफलता नगर कोतवाली और एसओजी टीम के संयुक्त प्रयास से मिली है. एसपी संजय कुमार ने बताया कि फर्जी भारतीय प्रशासनिक अफसर को पकड़ने वाली टीम को दस हजार रुपये इनाम दिया जाएगा.

दरअसल, विधानसभा 2022 चुनाव को लेकर चलाये जा रहे चेकिंग अभियान के दौरान पुलिस के हाथ यह सफलता लगी है. फर्जी आईएएस के मामले में खुलासा करते हुए एसपी सिटी डॉ. संजय कुमार ने बताया कि कोतवाली थाना इलाके के रसूलाबाद तिराहा पर संदिग्ध व्यक्तियों/ वाहनों की चेकिंग के दौरान चौकियाधाम की तरफ से आ रही लाल-नीली बत्ती लगी एस-क्रास गाड़ी नं0 UP-32-BG-6626 को पुलिस ने रोका. पुलिस ने जब गाड़ी रोकी तो वाहन चालक ने स्वयं को ACS HOME का रिश्तेदार बताया और पुलिस को अपने प्रभाव मे लेना चाहा. युवक का व्यवहार देख पुलिस को शक हुआ और पुलिस द्वारा ई-चालान ऐप के माध्यम से गाड़ी के नम्बर प्लेट UP32 BG 6626 को चेक किया गया.

उन्होंने आगे बताया कि रजिस्ट्रेशन नम्बर पर ऑनर का नाम एग्जीक्यूटिव इंजीनियर एलकेओ डिविजिन शारदा कनाल मिला और चेक करने पर पाया गया कि इस नंबर से जो गाड़ी है वह स्विफ्ट डिजायर है. इसके बाद वाहन के कागजात तलब करने पर उसने दिखाने से मना किया. पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने अपना नाम हिमांशु कन्नौजिया बताया, जो जौनपुर के ही थाना सरायख्वाजा में भेटावर का निवासी है.

यूपी सरकार का बोर्ड लगा युवक सचिवालय में नौकरी दिलाने के नाम पर लेता था पैसा

फर्जी आईएएस युवक की तलाशी में पुलिस को एक लैपटॉप, एक आई-पैड, तीन मोबाइल फोन और 6 एटीएम कार्ड तथा 3340 रुपए बरामद हुए. पूछताछ के दौरान गिरफ्तार हिमान्शु कन्नौजिया ने बताया कि उसने फर्जी सरकारी नम्बर प्लेट लगाया है ताकि यह कार प्रशासनिक अधिकारी की लगे. बरामद लैपटाप- आईपैड व मोबाइल फोन के बारे मे पूछने पर बताया कि वह सैमसंग S-21 में फन कॉल ऐप इंस्टॉल करके ACS होम के नंबर से प्रशासनिक अधिकारियों के CUG NUMBER पर कॉल करके खुद को ACS होम बताते हुए जायज-नाजायज काम करवाने के लिए दबाव बनाता था और इसी ऐप के माध्यम से विभिन्न पुलिस अधिकारियों व अन्य लोगों को कॉल करके उनके सम्बन्धियों की सचिवालय में नौकरी लगवाने के नाम पर पैसे लेता था.

एसपी सिटी ने एक सवाल के जबाब में बताया कि विधानसभा चुनाव में जौनपुर और अन्य जनपदों के कौन-कौन अफसर के नाम पर धौंस जमाकर नाजायज काम करवाने के लिए दबाव बनाता था, इसकी भी जांच चल रही है. करीब तीन महीने से जौनपुर के अलग-अलग इलाकों में यह युवक अपने आप को एक आईएएस अफसर बताता रहा. पुलिस ने उसके खिलाफ अलग-अलग धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है.

Tags: Jaunpur news, ​​Uttar Pradesh News

अगली ख़बर