जौनपुर: चोरी छिपे चिता जलाने आए दंपत्ति गिरफ्तार,दहेज हत्या का शक

चोरी छिपे चिता जलाने आए दंपत्ति गिरफ्तार,दहेज हत्या का मामला दर्ज

ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 19, 2017, 11:03 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 19, 2017, 11:03 PM IST
जौनपुर के मछलीशहर थाना क्षेत्र के शिवपालपुर गांव की रहने वाली एक युवती के शव को शमशान घाट पर जलाने जा रहे लोगो को पुलिस ने रोक लिया. जानकारी के मुताबिक खुटहन थाना क्षेत्र के पिलकिछा घाट पर एक बेलोरो पर सवार महिला व पुरुष एक किशोरी के शव को घसीटकर अर्थी पर रखने लगे तो देखनेवालों के होश उड़ गए. किसी ने मामले की सूचना 100 नम्बर को दे दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने अर्थी जलने से पहले शव को देखा तो वह अर्धनग्न अवस्था में थी.उसके ऊपर कफन भी नहीं था.

पुलिस ने शव जलाने आयी एक महिला व एक पुरुष सहित किशोरी के शव को हिरासत में लेकर छानबीन शुरू कर दी है.

क्या था मामला

गाड़ी पर सवार एक महिला व पुरुष युवती का शव लेकर पिलकिछा के श्मशानघाट घाट पर पहुंचे. इन लोगों ने श्मशानघाट की व्यवस्था संभालने वाले धिन्नीलाल की मदद से आनन फानन में एक चिता तैयार करवा ली. लेकिन जब यह महिला व पुरुष शव को घसीटते हुए श्मशानघाट पर ले जाने लगे तो वहां मौजूद लोगों को शक हुआ और उनमें किसी ने मामले की सूचना 100 नम्बर दे दी. मौके पर पुलिस ने पहुंचकर चिता को जलाने से रोक दिया.तफ्तीश के दौरान जब शव को खोलकर देखा गया तो 18 वर्षीय युवती का शव अर्धनग्न अवस्था में पाया गया. शव के ऊपर चोट के निशान भी पाए गए.

मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष ने जब शव लाने वालों लोगों से पूछताछ शुरू की तो इन लोगों ने अलग अलग नाम व पता बताना शुरू किया. काफी देर बाद पुरुष ने बताया कि वह मछलीशहर के बरईपार के विषपालपुर गांव का निवासी रामसिंह है. रामसिंह के अनुसार उसकी पुत्रवधू अर्चना पत्नी दयाशंकर ने मंगलवार की शाम को जहर खा लिया था. जिसे जौनपुर में एक निजी चिकित्सालय में भर्ती किया गया था. बाद में, रेफर होने के बाद वाराणसी शिवपुर में जमुना सेवा सदन अस्पताल में बुधवार अलसुबह को अर्चना की मौत हो गई.
एसपी देहात, जौनपुर, संजय राय के अनुसार लड़की के परिजन की तहरीर पर शव को पीएम के लिए भेज दिया गया है. इसके अलावा दहेज हत्या का मामला दर्ज करते हुए दो आरोपियो को गिरफ्तार किया है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...