• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • गांववालों ने बिजली कर्मचारियों को बनाया बंधक, ग्रामीणों से कर रहे थे उगाही

गांववालों ने बिजली कर्मचारियों को बनाया बंधक, ग्रामीणों से कर रहे थे उगाही

मऊ जिले में बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर लगाने के नाम पर जनता से अवैध रूप से धन उगाही करने में संलिप्त है. ताजा मामला मऊ जिले दक्षिणटोला थाना के रैनी गाव का है जहां बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर लगाने के नाम पर ग्रामीणों से अवैध रुप से 100 रुपये से लेकर 500 रुपये तक की उगाही का काम कर रहे थे.

मऊ जिले में बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर लगाने के नाम पर जनता से अवैध रूप से धन उगाही करने में संलिप्त है. ताजा मामला मऊ जिले दक्षिणटोला थाना के रैनी गाव का है जहां बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर लगाने के नाम पर ग्रामीणों से अवैध रुप से 100 रुपये से लेकर 500 रुपये तक की उगाही का काम कर रहे थे.

मऊ जिले में बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर लगाने के नाम पर जनता से अवैध रूप से धन उगाही करने में संलिप्त है. ताजा मामला मऊ जिले दक्षिणटोला थाना के रैनी गाव का है जहां बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर लगाने के नाम पर ग्रामीणों से अवैध रुप से 100 रुपये से लेकर 500 रुपये तक की उगाही का काम कर रहे थे.

  • Share this:
    मऊ जिले में बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर लगाने के नाम पर जनता से अवैध रूप से धन उगाही करने में संलिप्त है. ताजा मामला मऊ जिले दक्षिणटोला थाना के रैनी गाव का है जहां बिजली विभाग के कर्मचारी मीटर लगाने के नाम पर ग्रामीणों से अवैध रुप से 100 रुपये से लेकर 500 रुपये तक की उगाही का काम कर रहे थे.

    इतना ही नहीं ग्रामीणों जब ये कहते कि साहब पैसे नहीं है या कम पैसे ले लो तो बिजली विभाग के कर्मचारी बिजली काटने की धमकी देने लगे. यह मामला गांव के एक युवक की सुझबुझ से सामने आया. गांववालों ने बिजली के कर्मचारियों को बन्धक बना लिया और फिर मामले की जानकारी मीडिया को भी दे दी गई, जिसके बाद पूरे हडकंप मच गया.

    ग्रामीण अंकुर राय ने बताया कि बिजली विभाग के कर्मचारी चार दिनों से गांव में बिजली मीटर लगाने का काम कर रहे है और लोगों से 400  रुपये मीटर लगाने के नाम वसूल रहे है. इतना ही नहीं जब मंगलवार को दोबारा मीटर लगाने बिजलीकर्मी पहुंचे तो मीटर लगाने के लिए रुपये की डिमान्ड करने लगे, तो हम लोगों ने बिजली कर्मियों को बन्धक बना लिया और उनसे वसूले हुए ग्रमीणों के सभी पैसे वापस कराए.

    पीड़ित कलावती ने बताया कि हम डॉक्टर के यहां गए हुए थे और जब वापस आए तो बिजली विभाग के कर्मचारी ने मीटर लगाने के लिए कहा. जब हमने मना किया तो धमकी देने लगे. जब मीटर लग गया तो उन्‍होंने पैसों की मांग की. हमने 200 रुपये दिए तो कहा कि पूरे पैसे चाहिए. उन्‍होंने कहा कि पूरे पैसे नहीं दिए तो बिजली कटवा दूंगा. किसी तरह 400 रुपये दिए, लेकिन गांववालों के कारण पैसा वापस मिल गए और इन लोगों को बंधक बनाकर सब लोगों का पैसा दिलवाया गया.

    बिजली विभाग के कर्मचारी मुख्खन राम ने बताया कि हम मीटर लगाने के लिए लोगों से 100 -100 रुपये लिए है. ये हमारा हक है, क्योंकि हमको एसडीओ बिजली विभाग ने इन लोगों के साथ भेजा है. हमने तो बस अपना मेहनताना लिया है. अब तक 19 लोगों से पैसे लिए है.

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज