Home /News /uttar-pradesh /

Jewar Airport News: रेल-रोड और हेलीकॉप्टर सर्विस से ऐसे जुड़ेगा जेवर एयरपोर्ट, जानिए सब कुछ

Jewar Airport News: रेल-रोड और हेलीकॉप्टर सर्विस से ऐसे जुड़ेगा जेवर एयरपोर्ट, जानिए सब कुछ

Noida International Aairport: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जेवर में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

Noida International Aairport: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज जेवर में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) से 15 किमी की दूरी पर दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग (Delhi-Howrah Rail Route) का चोला रेलवे स्टेशन है. चोला स्टेशन के पास ही ईस्टर्न और वेस्टर्न फ्रेट कॉरिडोर आपस में मिलते हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए चोला स्टेशन से जेवर एयरपोर्ट तक 15 किमी की रेलवे लाइन बिछाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है. इस लाइन के शुरू होते ही जेवर एयरपोर्ट सीधे ईस्टर्न और वेस्टर्न फ्रेट कॉरिडोर (Eastern and Western Freight Corridor) से जुड़ जाएगा. लेकिन यह लाइन पूरी तरह से सिर्फ माल ढुलाई के लिए ही होगी. गौरतलब रहे इसके अलावा माल ढुलाई के लिए बोढ़ाकी में भी बहुत बड़ा लॉजिस्टिक्स और वेयर हाउस हब बन रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास हो चुका है. पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) और सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने इसका शिलान्यास किया. इस मौके पर पीएम मोदी ने रेल, रोड से जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) की कनेक्टिविटी का जिक्र करते हुए इसकी कई खासियत गिनाईं. साथ ही बताया कि एयरपोर्ट की मदद से कई एक्सप्रेसवे और रेल सर्विस कई दिन की दूरियों को चंद घंटों में बदल देगी. उन्होंने यह भी जिक्र किया कि पास ही ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में मल्टीमॉडल ट्रांसपोर्ट हब और मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब यूपी और दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) के कारोबार को नई कामयाबी देगा.

    जेवर एयरपोर्ट को ऐसे मिलेगी हेलीकॉप्टर सर्विस

    बुलेट ट्रेन और 6 एक्सप्रेसवे से जुड़ने के साथ ही जेवर एयरपोर्ट हेलीकॉप्टर सर्विस से भी जुड़ेगा. हेलीकॉप्टर सर्विस के लिए हेलीपोर्ट गोल्फ मैदान के पास सेक्टर 151ए में बनाने की तैयारी चल है. परि चौक से हेलीपोर्ट की दूरी 12 किमी और महामाया फ्लाईओवर से 20 किमी होगी. यहां से देश के दो बड़े आईजीआई और जेवर एयरपोर्ट और करीब 36 शहरों के लिए हेलीकॉप्टर सर्विस शुरू हो जाएगी.

    बेल 412 और एमआई 172 डिजाइन के हेलीकॉप्टर नोएडा से उड़ान भरेंगे. गौतमबुद्ध नगर में कई बड़े प्रोजेक्ट शुरु होने के चलते इस हेलीकॉप्टर सर्विस को शुरु होने से पहले ही कामयाब माना जा रहा है. हेलीपोर्ट के लिए जमीन नोएडा अथॉरिटी की होगी तो निवेश प्राइवेट कंपनी करेगी. इस कमाई में अथॉरिटी का भी हिस्सा होगा. हेलीकॉप्टर की बड़ी कंपनी पवन हंस भी इसमे दिलचस्पी दिखा रही है.

    10 जनवरी से ग्रेटर नोएडा में शुरू हो जाएगा पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन, जानिए और कहां खुलेंगे

    6 एक्सप्रेसवे से ऐसे जोड़ा जा रहा है जेवर एयरपोर्ट

    किसी भी शहर और दिशा से जेवर एयरपोर्ट तक पहुंचने में कोई परेशानी न हो, इसका खास ख्याल रखा गया है. यमुना एक्सप्रेसवे से एलिवेटेड सड़क सीधे एयरपोर्ट तक जाएगी. बल्लभगढ़ से बाईपास बनाकर दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे को एयरपोर्ट से जोड़ा जाएगा. गंगा एक्सप्रेसवे को यमुना एक्सप्रेसवे से जोड़कर वाहनों को एयरपोर्ट तक के लिए रास्ता दिया जाएगा.

    इसी तरह ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे को भी यमुना एक्सप्रेसवे से जोड़कर वाहनों को जेवर एयरपोर्ट तक का रास्ता दिया जा रहा है. वेस्ट यूपी के शहरों को सीधे एयरपोर्ट से जोड़ने के लिए दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे की मदद लेकर बुलंदशहर से एक नई सड़क तैयार की जाएगी. दिल्ली वालों की सहुलियत के लिए मयूर विहार से माहामाया फ्लाई ओवर तक एलिवेटेड रोड तैयार हो रहा है. जिसके चलते नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे से होते हुए वाहन जेवर एयरपोर्ट तक पहुंच जाएंगे.

    जेवर एयरपोर्ट के नीचे होगा बुलेट ट्रेन का स्टेशन

    एक्सप्रेसवे और हेलीकॉप्टर सर्विस के साथ ही जेवर एयरपोर्ट को रेल सेवा से भी जोड़ा जा रहा है. जेवर इंटरनेशनल ऐसा एयरपोर्ट होगा जिसके नीचे से यानि अंडरग्राउंड बुलेट ट्रेन गुजरेगी. बुलेट ट्रेन का स्टेशन भी एयरपोर्ट के नीचे ही होगा. इतना ही नहीं थोड़ी ही दूरी पर बोड़ाकी रेलवे स्टेशन तैयार किया जा रहा है. ऐसा दावा है कि भारतीय रेल का ये इंटरनेशनल सुविधाओं वाला स्टेशन होगा. बोड़ाकी से पूर्वी यूपी के साथ-साथ बिहार और पश्चिम बंगाल के लिए भी ट्रेन मिलेगी.

    अगर मेट्रो ट्रेन की बात करें तो जेवर एयरपोर्ट को मेट्रो ट्रेन से जोड़ने के लिए स्पेशल मेट्रो कॉरिडोर बनाया जा रहा है. ये कॉरिडोर जेवर को आईजीआई, दिल्ली से जोड़ेगा. स्पेशल मेट्रो कॉरिडोर की लम्बाई करीब 74 किमी होगी. इस कॉरिडोर का रूट भी लगभग तय कर लिया गया है. कॉरिडोर का रूट कई फेज में होगा. जेवर एयरपोर्ट से लेकर नॉलेज पार्क (ग्रेटर नोएडा) तक, नॉलेज पार्क से नोएडा और नोएडा से यमुना बैंक स्टेशन तक एलिवेटेड ट्रैक बनेगा. इसके बाद यमुना बैंक से नई दिल्ली (शिवाजी पार्क) तक अंडरग्राउंड कॉरिडोर तैयार होगा.

    Tags: Dedicated Freight Corridor, Jewar airport, Yamuna Expressway

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर