Home /News /uttar-pradesh /

झांसी में 75 मीटर पेंटिंग को किया गया प्रदर्शित,भारत के स्वर्णिम इतिहास को देखकर लोग हुए खुश

झांसी में 75 मीटर पेंटिंग को किया गया प्रदर्शित,भारत के स्वर्णिम इतिहास को देखकर लोग हुए खुश

X

आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर पूरे देश में अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. सरकार हो या आम जनता हर कोई अपने तरीके  से इस महोत्सव में योगदान दे रहा है. इसी क्रम में बनारस के काशी हिंदू विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना स्वयंसेवकों द्वारा 75 मीटर की पेंटिंग बनाई गई है. 

अधिक पढ़ें ...

    आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर पूरे देश में अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. सरकार हो या आम जनता हर कोई अपने तरीके से इस महोत्सव में योगदान दे रहा है. इसी क्रम में बनारस के काशी हिंदू विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना स्वयंसेवकों द्वारा 75 मीटर की पेंटिंग बनाई गई है. इस पेंटिंग को झांसी के बुंदेलखंड विश्वविद्यालय में प्रदर्शित किया गया है.पेंटिंग को देखकर लोग काफी उत्साहित हैं क्योंकि इस पेंटिंग में भारत के स्वर्णिम और गौरवशाली इतिहास को दर्शाया गया है.

    पौराणिक इतिहास और ऋषि परम्परा को किया चित्रित
    इस पेंटिंग में भारत के पौराणिक इतिहास, ऋषि परम्परा महाभारत और रामायण को दर्शाया गया है.पेंटिंग में भगवान बुद्ध और महावीर के साथ ही ऋषि चरक और ऋषि सुश्रुत को भी दर्शाया गया है.इसके अलावा महाराणा प्रताप तथा छत्रपति शिवाजी की वीर गाथाओं को भी इस में दर्शाया गया है.उधर स्वतंत्रता संग्राम को भी इस पेंटिंग में जगह दी गई है.

    भारत की आजादी और आधुनिकता को भी किया प्रदर्शित
    इसी पेंटिंग में भारत की आजादी , सरदार पटेल द्वारा किए गए भारत के एकीकरण और गणतंत्र होने के दिन को भी दर्शाया गया है. इसके साथ ही एशियन गेम्स के आयोजन, 1983 का क्रिकेट विश्वकप जीतना, इसरो द्वारा विज्ञान के क्षेत्र में तरक्की को भी इस पेंटिंग में दिखाया गया है. भारत की हरित क्रांति और दूध क्रांति को भी इस पेंटिंग में दिखाया गया है. आधुनिक भारत के विकास,स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के निर्माण, मेट्रो और भारत के तमाम आयामों को इस पेंटिंग में दिखाया गया है.

    75 स्वयंसेवकों ने 7.5 दिन में किया निर्माण
    इस पेंटिंग को 75 स्वयं सेवकों और स्वयं सेविकाओं ने कुल 7.5 दिन में बनाया है.इस पेंटिंग को विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डॉ. बाला लखेंद्र के निर्देशन में बनाया गया है.इस पेंटिंग में 5 मीटर के 15 कैनवास का इस्तेमाल किया गया है.डॉ. बाला ने बताया कि इस पेंटिंग को बनाने से पहले कई कार्यशालाओं का आयोजन किया गया और उसके बाद ही चुनिंदा 75 बच्चों द्वारा इस पेंटिंग का निर्माण शुरू किया गया.इस पेंटिंग को देश के 75 जगहों पर प्रदर्शित करने की योजना है.(रिपोर्ट – शाश्वत सिंह)

    Tags: Azadi Ka Amrit Mahotsav, झांसी

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर