Home /News /uttar-pradesh /

सैकड़ों समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी से दे दिया इस्तीफा?

सैकड़ों समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी से दे दिया इस्तीफा?

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेंद्र यादव पर उनकी ही पार्टी के विधायक आबिद रज़ा ने गोकशी (गायों को काटना), अवैध खनन और भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाया था.

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेंद्र यादव पर उनकी ही पार्टी के विधायक आबिद रज़ा ने गोकशी (गायों को काटना), अवैध खनन और भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाया था.

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेंद्र यादव पर उनकी ही पार्टी के विधायक आबिद रज़ा ने गोकशी (गायों को काटना), अवैध खनन और भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाया था.

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेंद्र यादव पर उनकी ही पार्टी के विधायक आबिद रज़ा ने गोकशी (गायों को काटना), अवैध खनन और भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाया था.

बावजूद इसके बदायूं से विधायक आबिद रज़ा को पार्टी प्रत्याशी का टिकट दे दिया गया.  इससे नाराज होकर पार्टी के वरिष्ठ नेता हरप्रसाद सिंह पटेल ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.

हरप्रसाद सिंह का कहना है कि जब सांसद अपना ही सम्मान नहीं बचा पाए, तो हम लोगों का सम्मान क्या बचा पाएंगे ?

बदायूं सदर सीट से एसपी विधायक आबिद रज़ा ने अपने ही सांसद धर्मेंद्र यादव पर गोकशी, अवैध खनन और भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाया था. इस कारण विधायक को पार्टी से निष्कसित भी कर दिया गया था.

इतना ही नहीं इस दौरान सांसद के समर्थन में सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने विधायक का पुतला भी फूंका था, लेकिन अब 2017 के चुनाव में उसी विधायक को पार्टी का उम्मीदवार बनाए जाने से लोग काफी आहत हैं.

इसी के चलते पार्टी के नेता हरप्रसाद सिंह पटेल ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ सांसद धर्मेंद्र यादव से आहत होकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया. हरप्रसाद सिंह पटेल का कहना है कि जब सांसद खुद अपना सम्मान नहीं बचा पाए, तो हमारा सम्मान क्या बचा पाएंगे ?

उन्होंने कहा कि आबिद को टिकट दिये जाने से कई मुस्लिम नेता नाराज़ हैं, क्योंकि सांसद ने उनको टिकट देने का आश्वाशन दिया था. इसमें एक राज्यमंत्री भी है ज़ल्दी वे भी इस्तीफा देंगे.

पार्टी के वरिष्ठ नेता हरप्रसाद का कहना है कि जो सांसद अपने अपमान के बाद उस इंसान को पार्टी में वापस आने से रोक नहीं सका, साथ ही पार्टी प्रत्याशी का टिकट मिलने से भी नहीं रोक पाया वैसे कमजोर सांसद के साथ उन्हें नहीं रहना है.

वहीं पार्टी प्रत्याशी का टिकट मिलने पर उत्साहित विधायक आबिद रज़ा का कहना है कि टिकट मिलने से वे बेहद खुश हैं. साथ ही उन्होंने सांसद पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पार्टी में एक बेगुनाह को सजा दी गई, जबकि मुजरिम को गोद में बैठाया गया था.

इधर, आबिद रज़ा को पार्टी से टिकट दिए जाने पर बदायूं से सांसद धर्मेंद्र यादव ने कहा कि ये सरकार का निर्णय है, वो जिसे चाहे टिकट दे सकते हैं. इसमें किसी की कोई दखल नहीं चल सकती.

Tags: Akhilesh yadav

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर