मुन्ना बजरंगी के बाद जेल में ‘योगी’ को मारने की कोशिश, दी गई 20 लाख रुपए की सुपारी

उत्तर प्रदेश की बागपत जेल में कुख्यात माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि ललितपुर जेल में निरुद्ध चल रहे एक कैदी को चाय में जहर देकर मारने के प्रयास का मामला सामने आया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 19, 2018, 9:32 AM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 19, 2018, 9:32 AM IST
उत्तर प्रदेश की बागपत जेल में कुख्यात माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि ललितपुर जेल में बंद कैदी को चाय में जहर देकर मारने के प्रयास का मामला सामने आया है. हालत बिगड़ने पर कैदी को जिला संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है.

आरोप है कि कैदी को मारने के लिए 20 लाख रुपए की सुपारी दी गई थी. पूरा मामला संदिग्ध है जिसमें जेल प्रशासन की भूमिका भी संदेह के घेरे में नजर आ रही है. सबसे बड़ा सवाल यह है कि जेल में कभी पिस्टल, कभी धारदार हथियार तो कभी जहर कैसे पहुंच जाता है.

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की जेल में हुई हत्या के बाद भी यूपी की जेलों में सब कुछ ठीक नहीं है. ललितपुर जिला कारागार में बुधवार की सुबह उस समय अफरा-तफरी का माहौल हो गया जब जेल में निरुद्ध चल रहे एक कैदी की हालत अचानक बिगड़ गई. कैदी को जब जिला संयुक्त चिकित्सालय लाया गया तो पता चला कि उसने जहरीला पदार्थ खाया है.

ये भी पढ़ें - 

मुन्‍ना बजरंगी मर्डर: 14 घंटे की तलाशी के बाद हत्‍या में इस्‍तेमाल पिस्‍टल टायलेट से बरामद

मुन्ना बजरंगी मर्डर केस: सुनील राठी ने कहा- बजरंगी ने मेरे ऊपर तानी थी पिस्टल

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की मौत से पहले का VIDEO वायरल

शुरुआत में यही माना जा रहा था कैदी योगी उर्फ़ चंद्रपाल ने खुद ही जहर खाकर ख़ुदकुशी की कोशिश की है लेकिन होश में आने पर कैदी ने मीडिया को जो बयान दिया वह चौंकाने वाला था. हत्या और लूट जैसे मामले में जेल में बंद चल रहे कैदी ने बताया कि उसकी अपने गांव के दो लोगों से रंजिश चल रही है. जेल में निरुद्ध रमेश लोधी और बल्लू यादव ने उसकी बीस लाख रुपए में सुपारी ली है जिसका बकायदा पांच लाख रुपए एडवांस में पहुंच भी गया है. कैदी के अनुसार उसे चाय में जहर देकर मारने की कोशिश की गई है.

कैदियों से मारपीट करते हैं रमेश लोधी और बल्लू यादव
कैदी का कहना है कि ललितपुर जेल में सब कुछ ठीक नहीं है. आये दिन रमेश लोधी और बल्लू यादव कैदियों से मारपीट करते हैं. इसके कारण जेल का अस्पताल मरीजों से भरा पड़ा है. उसने कहा है कि जेल में खुलेआम कैदियों और उनसे मिलने आए परिजनों से वसूली होती है. उसने जेल के अधिकारियों की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान लगाए हैं.

बहरहाल हाल ही में कैदी योगी उर्फ़ चंद्रपाल को झांसी जेल से ललितपुर स्थानांतरित किया गया था. जेल में कैदी के जहरीला पदार्थ खाने की यह कोई पहली घटना नहीं है. इससे पहले भी इस तरह के दर्जनों मामले सामने आ गए हैं.

रिपोर्ट - अभय श्रीमाली

ये भी पढ़ें -

मुन्ना बजरंगी पर रंगदारी मांगने का आरोप लगाने वाले पूर्व MLA लोकेश दीक्षित को बसपा ने पार्टी से निकाला

मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद क्या सुनील राठी बन जाएगा यूपी का अगला डॉन?
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर