Home /News /uttar-pradesh /

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे पर जल्द भर सकेंगे रफ्तार; 75 फीसद काम पूरा, जानें कहां कितना हुआ निर्माण

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे पर जल्द भर सकेंगे रफ्तार; 75 फीसद काम पूरा, जानें कहां कितना हुआ निर्माण

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे निर्माण कार्य को तेजी से पूरा किया जा रहा है. फाइल फोटो

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे निर्माण कार्य को तेजी से पूरा किया जा रहा है. फाइल फोटो

Bundelkhand Expressway Project : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के पहले योगी आदित्यनाथ सरकार अपनी एक्सप्रेसवे परियोजनाओं को साकार करने में जुटी है. बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे निर्माण कार्य में तेजी लाई गई है. बुंदेलखंड वह इलाका है जहां 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने सभी 19 सीटों पर जीत दर्ज की थी. यहां एक्सप्रेसवे का निर्माण यूपीडा करा रही है और इसका 75 फीसदी निर्माण कार्य पूर्ण होने का दावा किया जा रहा है. दिसंबर 2021 तक इसकी एक लेन शुरू करने की तैयारी है. यूपी सरकार मानती है कि यह सड़क पिछड़े बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए व्यवसायिक रेखा साबित होगी.

अधिक पढ़ें ...

झांसी. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) के पहले योगी सरकार (Yogi Sarkar) का पूरा फोकस बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे (Bundelkhand Expressway) निर्माणकार्य को पूरा करने में है. यह वह इलाका है जहां 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने सभी 19 सीटों पर जीत दर्ज की थी. शायद यही वजह है कि यूपी की चार प्रमुख एक्सप्रेसवे परियोजनाओं में बुंदेलखंड को भी शामिल किया गया है. इसका निर्माण यूपीडा करा रही है और इसका 75 फीसदी निर्माण कार्य पूर्ण होने का दावा किया जा रहा है. यूपी विधानसभा चुनाव के पूर्व दिसंबर 2021 तक इसकी एक लेन शुरू करने की तैयारी है. यह सड़क बेहद सपाट होने के साथ और अत्याधुनिक तकनीक पर आधारित है. यूपी सरकार मानती है कि यह सड़क पिछड़े बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए व्यवसायिक रेखा साबित होगी.

उत्तर प्रदेश में 4 महत्वपूर्ण सड़क परियोजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है. पूर्वांचल एक्सप्रेसवे परियोजना, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे और गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना पर सरकार ने बजट का एक बड़ा हिस्सा खर्च किया है. बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे इन्हीं में से एक है. 297 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है. इस परियोजना में जनपद चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन एवं इटावा के लोग लाभान्वित होंगे. बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे में नई सड़क निर्माण के साथ ही फोरलेन चौड़ी सड़क का सिक्स लेन में विस्तारीकरण होगा.

दिल्ली लखनऊ से सीधे लिंक हो जाएगा बुंदेलखंड

यह एक्सप्रेसवे प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र को देश की राजधानी दिल्ली से आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे एवं यमुना एक्सप्रेसवे के साथ सीधे लिंक कर देगा. ऐसा होते ही देश के पिछड़े इलाकों में गिना जाने वाले बुंदेलखंड क्षेत्र में विकास की तमाम संभावनाएं जन्म लेंगी. बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे को झांसी जिले की विधानसभा गरौठा में बन रहे डिफेंस कॉरिडोर से जोड़ा जाएगा. गरौठा विधायक जवाहल लाल राजपूत कहते हैं कि सड़कों के लिए तरसने वाले बुंदेलखंड में एक्सप्रेसवे जैसी आधुनिक सड़क बहुत बड़ी सौगात है. सड़क निर्माण के साथ डिफेंस कॉरिडोर यहां रोजगार के नए अवसर पैदा करेगा.

चित्रकूट से इटावा तक सड़क

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे परियोजना का प्रारम्भ झांसी-इलाहाबाद राष्ट्रीय मार्ग संख्या-35 भरतकूप के पास चित्रकूट जिले से किया गया. परियोजना का अन्तिम स्थल आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर ग्राम कुदरैल इटावा होगा.

4 लेन चौड़ा और 6 लेन तक विस्तारीकरण

एक्सप्रेसवे 04 लेन चौडा है, जिसकी संरचनाएं 06 लेन चौडाई की बनाई जा रही हैं. एक्सप्रेसवे के राइट आफ वे (ROW) की चौडाई 110 मीटर है. एक्सप्रेसवे के एक ओर 3.75 मी. चैड़ाई की सर्विस रोड़ स्टैगर्ड रूप में बनाई जायेगी जिससे परियोजना के आस-पास के गांव के निवासियों को सुगम आवागमन की सुविधा उपलब्ध हो सके.

इन नदियों के ऊपर से गुजरेगा बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे यहां की प्रमुख नदियों से होकर गुजरेगा. यही कारण है है कि इसके तैयार होने से देश और प्रदेश की राजधानी तक पहुंचने की दूरी काफी कम और सुगम हो जाएगी. बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे बागेन, केन, श्यामा, चन्द्रावल, बिरमा, यमुना, बेतवा और सेंगर नदियों से गुजरेगा. एक्सप्रेसवे के निर्माण में कुल 04 रेलवे ओवर ब्रिज, 14 दीर्घ सेतु, 06 टोल प्लाजा, 07 रैम्प प्लाजा, 266 लघु सेतु, 18 फ्लाई ओवर का निर्माण भी किया जा रहा है.

Tags: Bundelkhand Expressway Construction, Bundelkhand Expressway Project, Bundelkhand news, CM Yogi Adityanath, UP New Expressway

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर