होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Bundelkhand Literature Festival: बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल का कल से आगाज, जानें पूरा शेड्यूल

Bundelkhand Literature Festival: बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल का कल से आगाज, जानें पूरा शेड्यूल

Bundelkhand Literature Festival: बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल का आयोजन कल यानी 14 अक्टूबर से झांसी के बुंदेलखंड विश्वविद् ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – शाश्वत सिंह

    झांसी. बुंदेलखंड के साहित्य से संबंधित सबसे बड़े कार्यक्रम बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल (Bundelkhand Literature Festival) का आयोजन 14, 15 और 16 अक्टूबर को झांसी के बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के गांधी सभागार में किया जाएगा. इन 3 दिनों में बुंदेली साहित्य, सिनेमा, कला और मीडिया पर आधारित विभिन्न कार्यक्रम होंगे. इस आयोजन से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए न्यूज़ 18 लोकल ने फेस्टिवल के संयोजक प्रताप राज से खास बातचीत की.


     बुंदेलखंड लिटरेचर फेस्टिवल के संयोजक प्रताप राज ने बताया कि इस फेस्टिवल का उद्देश्य बुंदेलखंड की कला और साहित्य को राष्ट्रीय मंच तक ले जाना है. इन 3 दिनों में देशभर के कई बड़े साहित्यकार बुंदेलखंड के साहित्य पर चर्चा करेंगे. इनमें सबसे बड़ा नाम मैत्रयी पुष्पा का है. इसके साथ ही सत्य व्यास, महिंद्र भीष्म, सर्वेश अस्थाना, नरेश सक्सेना और नवीन चौधरी भी कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे. मीडिया जगत से भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक प्रोफेसर संजय द्विवेदी और निस्कॉर्ट मीडिया कॉलेज की प्रिंसिपल रितु दुबे तिवारी भी इस फेस्टिवल में शिरकत करेंगी.

    कला को बढ़ावा देने पर जोर
    प्रताप ने बताया कि कार्यक्रम में लोक कला और परंपरा से संबंधित कार्यक्रम भी होंगे.हर शाम राई, आल्हा गायन जैसे कार्यक्रम होंगे.इसके साथ ही युवा कवियों और साहित्यकारों को मंच देने के लिए ओपन माइक का आयोजन भी इस फेस्टिवल में किया जाएगा. साथ ही एक मंच ग्रामीण शैली में भी तैयार किया जाएगा.इस फेस्टिवल में उन लोगों को भी आमंत्रित किया जायेगा जो बुंदेली भाषा में न्यूज़ पोर्टल या रेडियो चैनल चला रहे हैं.इस लिटरेचर फेस्टिवल का एकमात्र उद्देश्य बुंदेलखंड और उसके साहित्य को नई पहचान दिलाना है.

    Tags: Bundelkhand, Bundelkhand history, Jhansi news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें