सूखे से जूझ रहे बुंदेलखंड में हरियाली बढ़ाने के लिए चलाई जा रही है 'टी एंबुलेंस'

पौधारोपण को प्रोत्साहित करने के लिए परमार्थ समाज सेवा संस्था की तरफ से ललितपुर, टीकमगढ़, छतरपुर आदि स्थानों पर अभियान चलाया जा रहा है, तथा पौधों का वितरण भी किया जा रहा है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 17, 2018, 5:13 PM IST
सूखे से जूझ रहे बुंदेलखंड में हरियाली बढ़ाने के लिए चलाई जा रही है 'टी एंबुलेंस'
बुंदेलखंड में हरियाली बढ़ाने की कोशिश (प्रतिकात्मक फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 17, 2018, 5:13 PM IST
सूखे से जूझ रहे  बुंदेलखंड में हरियाली बढ़ाने के हर तरफ प्रयास चल रहे हैं. इसी क्रम में जगह-जगह पौधे रोपे जा रहे हैं, ताकि पर्यावरण में सुधार आए और बारिश का औसत बढ़े. बुंदेलखंड के छतरपुर जिले में पौधरापण के साथ ही पौधों की रक्षा के लिए टी एंबुलेंस चलाई जा रही है. इस अभियान को हर वर्ग का साथ मिल रहा है. समाज के विभिन्न वर्ग से जुड़े लोग भी पौधे रोप रहे हैं.

पौधारोपण को प्रोत्साहित करने के लिए परमार्थ समाज सेवा संस्था की तरफ से ललितपुर, टीकमगढ़, छतरपुर आदि स्थानों पर अभियान चलाया जा रहा है, तथा पौधों का वितरण भी किया जा रहा है.

बुंदेलखंड में बिन बरसे जा रहे हैं बादल, सूखे की आशंका से डरे किसान

इसी तरह झांसी में उत्तर प्रदेश महिला जिला उद्योग व्यापार मंडल ने तीन संस्थाओं के साथ मिलकर पौधे रोपे. इस मौके पर आर्ट ऑफ लीविंग, जिये मुहिजीं सिंध के प्रतिनिधियों ने पौधे रोपे. व्यापार मंडल की अध्यक्ष कंचन आहूजा का कहना है कि हरियाली इंसान के जीवन के लिए जरूरी है, यही कारण है कि पौधे रोपने का अभियान चलाया जा रहा है.

बुंदेलखंड के योगी' को पुलिस ने किया गिरफ्तार, दहशत फैलाने का लगा आरोप

झांसी में गैर सरकारी संगठन जेसीआई मनस्विनी, मानवता के लिए एक कदम और वन विभाग ने मिलकर जन संदेश यात्रा निकाली. यह यात्रा शहर के विभिन्न स्थानों से निकली. मनस्विनी की अध्यक्ष रजनी गुप्ता ने बताया कि इस यात्रा का संदेश लोगों में वृक्षों के प्रति जागृति लाना था. लोगों तक संदेश पहुंचाने महिलाएं हाथों में तख्तियां लिए हुए थीं, जिनमें पर्यावरण की रक्षा के संदेश लिखे हुए थे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर