लालू यादव को सजा देने वाले जज को ही नहीं मिल रहा न्याय

अपराधियों को सजा एवं आम लोगों को न्याय देने वाले न्यायाधीश ही अब न्याय पाने के लिए अधिकारियों के दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं.

Prashant Banerjee | ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 9, 2018, 11:42 AM IST
Prashant Banerjee | ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 9, 2018, 11:42 AM IST
अपराधियों को सजा एवं आम लोगों को न्याय देने वाले न्यायाधीश ही अब न्याय पाने के लिए अधिकारियों के दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं. लेकिन प्रसाशनिक अधिकारियों की उदासीनता के कारण उन्हें न्याय नहीं मिल रहा है. हम बात कर रहे हैं हाल ही में चारा घोटाले के आरोपी बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को सजा देकर सुर्खियों में आए रांची सीबीआई के जज शिवपाल सिंह की.

जज महोदय और उनके परिजन न्याय के लिये जालौन में अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं. लेकिन तमाम प्रयासों के वावजूद भी उन्हें न्याय नहीं मिल पा रहा है.

बता दें कि रांची सीबीआई के जज शिवपाल सिंह मूल रूप से जनपद जालौन के गांव शेखपुर खुर्द के निवासी हैं. अपनी पैतृक जमीन के बीचों-बीच चक रोड निकल जाने से वे परेशान हैं. इस मामले में वे कई बार जालौन के आला अधिकारियों के चक्कर लगा चुके हैं, लेकिन अधिकारी उनकी समस्या पर तनिक भी गौर नहीं कर रहे हैं. जिससे जज और उनका परिवार परेशान है.

मामले को लेकर में जज शिवपाल सिंह के भाई सुरेन्द्र पाल सिंह ने बताया कि मामला 2006 का है. उनके भाई शिवपाल एवं उनकी जमीन शेखपुर खुर्द में अराजी नंबर 15 और 17 में है. जिसके वह संक्रमणीय भूमिधर है. लेकिन उनकी जमीन पर पूर्व प्रधान ने अपने कार्यकाल के दौरान बिना किसी अधिकार के चकरोड मार्ग बनवा दिया. जबकि सरकारी कागजों में चकरोड मार्ग गाटा संख्या 13 है.

मामले को लेकर उनके भाई और जज शिवपाल सिंह खुद भी अधिकारीयों से न्याय की गुहार लगा चुके हैं, लेकिन उन्हें अभी तक न्याय नहीं मिला. सुरेन्द्र पाल ने कहा कि दूसरों को न्याय देने वाले उनके भाई को न्याय की दरकार है.

हालांकि मामला मीडिया में आने के बाद जालौन उप जिलाधिकारी भैरपाल सिंह ने कहा कि मामला अभी उनके संज्ञान में आया है. इसकी जांच कराकर उचित कारवाई की जाएगी.
First published: January 9, 2018, 8:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...