होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Covid-19: झांसी में बची कोरोना वायरस की सिर्फ 2000 वैक्सीन, 8 लाख लोग कैसे होंगे सुरक्षित?

Covid-19: झांसी में बची कोरोना वायरस की सिर्फ 2000 वैक्सीन, 8 लाख लोग कैसे होंगे सुरक्षित?

50 हजार बूस्टर डोज की मांग की गई है.

50 हजार बूस्टर डोज की मांग की गई है.

झांसी जिले में लगभग 12. 50 लाख लोग हैं, जिन्हें कोरोना का बूस्टर डोज लगाया जाना था. इनमें से अभी तक मात्र 4,16,578 लोगो ...अधिक पढ़ें

    शाश्वत सिंह

    झांसी. कोरोना वायरस के नए वेरिएंट BF.7 का कहर बढ़ता जा रहा है. तीसरे लहर की आशंका को देखते हुए केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार ने तैयारियां तेज़ कर दी हैं. सरकार के द्वारा इसके मद्देनजजर अलर्ट जारी कर दिया गया है. झांसी में भी तैयारियां तेज़ कर दी गई हैं. यहां के जिलाधिकारी के द्वारा लोगों से अपील की गई है कि वो जल्द से जल्द बूस्टर डोज लगवा लें. लेकिन, सवाल यह है कि लोग बूस्टर डोज लगवाएं कैसे, क्योंकि जिले में वैक्सीन की मात्र दो हजार डोज ही बची हैं.

    झांसी जिले में लगभग 12. 50 लाख लोग हैं, जिन्हें कोरोना का बूस्टर डोज लगाया जाना था. इनमें से अभी तक मात्र 4,16,578 लोगों को ही बूस्टर डोज लग पाई है. अभी भी लगभग आठ लाख लोगों को बूस्टर डोज नहीं लगी है. ऐसे में यह बड़ा सवाल है कि सभी लोगों को बूस्टर डोज कैसे लगेगा. कोरोना के नोडल अधिकारी डॉ. रविशंकर ने बताया कि फिलहाल झांसी में सिर्फ चार जगहों पर बूस्टर डोज लगाए जा रहे हैं. यह जगह हैं- जिला अस्पताल, मेडिकल कॉलेज, मऊरानीपुर और मोठ की सीएचसी.  वर्तमान में यहां ही कोरोना के बूस्टर डोज लगाए जा रहे हैं.

    आपके शहर से (लखनऊ)

    डॉ. रविशंकर ने बताया कि 50 हज़ार बूस्टर डोज की मांग भेजी गई है. जैसे ही वैक्सीन आ जाएगी तो सेंटर बढ़ा दिए जायेंगे. फिलहाल झांसी में टेस्टिंग बढ़ा दी गई है. सभी सीएचसी और कुछ प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना की टेस्टिंग करवाई जा रही है. पहली प्राथमिकता उन लोगों को दी जा रही है जिनमें कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दे रहे हैं.

    Tags: Booster Dose, Corona Virus Vaccine, Jhansi news, Up news in hindi

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें