Home /News /uttar-pradesh /

शरारती तत्वों ने रेल ट्रैक पर लगाया डुप्लीकेट बम, अधिकारियों के हाथ-पैर फूले

शरारती तत्वों ने रेल ट्रैक पर लगाया डुप्लीकेट बम, अधिकारियों के हाथ-पैर फूले

रविवार देर रात गेट मैंन ने रेलवे लाइन में लाल कपडे में बंधी संदिग्ध वस्तु की जानकारी स्टेशन मास्टर को दी.

रविवार देर रात गेट मैंन ने रेलवे लाइन में लाल कपडे में बंधी संदिग्ध वस्तु की जानकारी स्टेशन मास्टर को दी.

रविवार देर रात गेट मैंन ने रेलवे लाइन में लाल कपडे में बंधी संदिग्ध वस्तु की जानकारी स्टेशन मास्टर को दी.

चित्रकूट में एक बार फिर बम की सूचना पर हड़कम्प मच गया. मामला चित्रकूट के भरतकूप रेलवे स्टेशन के पास की है, जहां रविवार देर रात गेट मैंन ने रेलवे लाइन में लाल कपडे में बंधी संदिग्ध वस्तु की जानकारी स्टेशन मास्टर को दी.

आनन फानन में बम डिस्पोजल स्क्वैड को भी इसकी सूचना दी गयी. साथ ही भारी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची और रेलवे ट्रैक पर मिली संदिग्ध वस्तु को रेल ट्रैक से दूर किया गया. बम निरोधक दस्ते ने जब आकर मामले की छानबीन की तो पता चला कि शरारती तत्वों ने दहशत फैलाने के लिए लाल कपड़े में लोहे के टुकड़ों, तारों और टेलीविजन के पार्टों को जोड़कर संदिग्ध वस्तु को बम की शक्ल दी थी.

बम होने की सूचना पर आरपीएफ के कमांडेंट आशीष मिश्रा और एसपी केशव कुमार चौधरी भी मौके पर पहुंच कर जायजा लिया और उन्होंने भी इसे शरारती तत्वों की करतूत बताया.

बता दें कि बीती रात दो शारारती तत्वों ने भरतकूप स्टेशन के केबिन नम्बर 487 के पास रेल पटरी में लाल कपडे में संदिग्ध वस्तु रस्सी से बांध कर भाग निकले. उसी दौरान केविन में मौजूद गेट मैंन मोटर साइकिल का नम्बर देखा जो यूपी 90 ई 6343 था. उसी बाइक से आये दो युवकों ने रेल पटरी में नकली बम लगाकर यह हरकत की. गेटमैन ने उसके बाद रेल पटरी में जाकर देखा तो पता चला कुछ लाल कपडे में बंधा हुआ है. इसकी सूचना गेट मैंन ने स्टेशन मास्टर को दी उसके बाद स्टेशन मास्टर ने इस मैसेज को पुलिस को पास किया.

इस दौरान कई ट्रेने चित्रकूट धाम कर्वी रेलवे स्टेशन में खड़ी रही. बाद में रेल पटरी में बम की सूचना पर जांच के लिये बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंचा और जब जांच की तो लाल कपड़े में टेलीविजन का कोई पार्ट निकला.

आपको यह भी बता दें की पिछले माह की 29 जनवरी को मानिकपुर रेलवे जंक्शन में महानगरी एक्सप्रेस में एक शक्तिशाली टाइम बम मिला था, जिसको बीडीएस  की टीम डिफ्यूज तक नहीं कर पाई थी और बाद में मजबूरन उस बम को विस्फोट कराकर ख़त्म किया गया था. आज भले ही यह सूचना शरारती तत्वों की रही हो किन्तु शांति प्रिय माने जाने वाले बुन्देलखण्ड में आतंकियों की नजर होने से इंकार नही किया जा सकता है. इसके पहले 2010 में संपर्क क्रांति एक्सप्रेस में महोबा के पास भी टाइम बम मिल चुका है.

Tags: चित्रकूट

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर