झांसी में 8 कौओं की मौत के बाद 'बर्ड फ्लू' की आशंका से हड़कंप, हरकत में आया प्रशासन

अब दिल्‍ली में कौओं के मरे पाए जाने के बाद बर्ड फ्लू की आशंका में हड़कंप मच गया है.

अब दिल्‍ली में कौओं के मरे पाए जाने के बाद बर्ड फ्लू की आशंका में हड़कंप मच गया है.

झांसी (Jhansi) के जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने दावा किया है कि सभी मृत कौओं के ब्लड सैंपल की जांच मंडलीय लैब में कराई गई थी. किसी भी मृत कौओं में बर्ड फ्लू वायरस के कोई लक्षण नहीं पाए गए. फिलहाल जिले में बर्ड फ्लू का कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है.

  • Share this:
झांसी. दूसरे राज्यों में बर्ड फ्लू (Bird Flu) की आहट के बाद यूपी में अलर्ट घोषित कर दिया गया है. इस बीच झांसी (Jhansi) के प्रेमनगर थाना क्षेत्र में स्थित सेंट जोन्स एकेडमी परिसर में गुरुवार को 8 कौओं की आकस्मिक मौत की खबर है. कौओं के मरने की सूचना पर हरकत में आए पशु चिकित्सा विभाग और नगर निगम इस बात की जांच पड़ताल कर रहे हैं कि इन कौओं की मौत किस कारण हुई है? मामला जो भी हो, किंतु शहर में बर्ड फ्लू की चर्चा के बीच मुर्गों की बिक्री में गिरावट शुरू हो गई है.

प्रेमनगर थाना क्षेत्र में स्थित सेंट जोन्स चर्च के पादरी फादर सदानन्द के अनुसार विद्यालय परिसर में रोज एक-दो कौओं की मौत हो रही है. गुरुवार को एक साथ 8 से अधिक कौओं की मौत ने दहशत फैला दी है. बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए इस बात की आशंका है कि इनकी मौत भी बर्ड फ्लू कारण हुई है. पिछले 10 दिन की बात की जाए तो 30 से लेकर 35 की संख्या में कौओ की मौत हो चुकी है. नगर निगम व पशु चिकित्सा विभाग जांच पड़ताल कर रहा है.

Youtube Video


सर्दी या अन्य कारणों से मौत की आशंका: नगर निगम
नगर निगम के पशु चिकित्सा और कल्याण अधिकारी डॉ. राम किशोर निरंजन ने कौओं के मरने के पीछे सम्भावना व्यक्त की है कि सर्दी या अन्य कारणों से कौओं की मौत हो सकती है. जांच के बाद ही इस बात का पता चलेगा.

मृत कौओं में बर्ड फ्लू के लक्षण नहीं मिले: डीएम

वही इस बाबत झांसी जिले के जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने दावा किया है कि सभी मृत कौओं के ब्लड सैंपल की जांच मंडलीय लैब में कराई गई थी. किसी भी मृत कौओं में बर्ड फ्लू वायरस के कोई लक्षण नहीं पाए गए. फिलहाल जिले में बर्ड फ्लू का कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है. जिला प्रशासन पल-पल नजर बनाए हुए हैं. देशी और विदेशी पक्षियों की मौत की जानकारी मिलने पर तत्काल पक्षी के शव को कब्जे में लेकर जांच के लिए भेजा जा रहा है. किसी भी स्तर से कोई कोताही नहीं बरती जा रही है. बर्ड फ्लू को लेकर झांसी जिला प्रशासन संवेदनशील है. किसी भी स्थिति से निपटने के लिए जिला प्रशासन की तैयारियां पूरी हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज