होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /झांसी: फर्जी नियुक्ति पत्र पर नौकरी कर रहे 5 टीचर पहुंचे सलाखों के पीछे, गैंग का सरगना भी गिरफ्तार

झांसी: फर्जी नियुक्ति पत्र पर नौकरी कर रहे 5 टीचर पहुंचे सलाखों के पीछे, गैंग का सरगना भी गिरफ्तार

Jhansi: पांच फर्जी शिक्षक गिरफ्तार

Jhansi: पांच फर्जी शिक्षक गिरफ्तार

Jhansi Fake Teachers Racket: जनपद झांसी में फर्जी नियुक्ति पत्र के जरिए यह पूरा फर्जीवाड़ा किया गया. मऊरानीपुर थाना क्षे ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

सभी फर्जी शिक्षक आजमगढ़ के रहने वाले
फर्जी नियुक्ति पत्र के सहारे हथियाई थी नौकरी

झांसी. फर्जी नियुक्ति पत्र दिखाकर इंटर कॉलेजों में सरकारी टीचर का पद हथियाने वाले 5 फर्जी शिक्षकों को अपने करतूतों की वजह से आखिरकार हवालात जाना पड़ा. आजमगढ़ जिले के निवासी सभी पांच फर्जी शिक्षकों को डीआईओएस ने गिरफ्तार करवा कर जेल भिजवा दिया. जनपद झांसी में फर्जी नियुक्ति पत्र के जरिए यह पूरा फर्जीवाड़ा किया गया. मऊरानीपुर थाना क्षेत्र के वीरा व बम्होरी सुहागी के विद्यालय में फर्जी नियुक्ति पत्र के जरिए दो अधियापिकाएं नौकरी करती हुई पकड़ी गई. जिला विद्यालय निरीक्षक की सूचना पर पुलिस ने 2 शिक्षिकाओं सहित 5 शिक्षकों के खिलाफ मऊरानीपुर और गरौठा थाने में मुकदमा दर्ज करवाया.

मऊरानीपुर कोतवाली क्षेत्र के राजकीय बालिका हाई स्कूल वीरा की प्रधानाध्यापिका ऊषा पाठक ने पुलिस को बताया कि विद्यालय में तैनात हिंदी की सहायक अध्यापक ग्राम लक्षीरामपुर पोस्ट हीरापट्टी तहसील सदर जनपद आजमगढ़ निवासी अमृता कुशवाहा ने फर्जी नियुक्ति पत्र के माध्यम से 20 जुलाई को राजकीय बालिका हाई स्कूल वीरा में सहायक अध्यापक हिंदी के पदभार ग्रहण किया था. वहीं राजकीय बालिका हाई स्कूल बम्होरी सुहागी की प्रधानाध्यापिका पूनम बौद्ध ने भी स्थानीय थाने की पुलिस को तहरीर देते हुए बताया कि आजमगढ़ निवासी मैनावती ने भी फर्जी  नियुक्ति पत्र दिखाकर दिनाक 27 जून 2022  को कार्यालय शिक्षा निदेशक उत्तर प्रदेश प्रयागराज द्वारा 20 जुलाई को बम्होरी सुहागी में सहायक अध्यापक का पदभार ग्रहण कर लिया. आरोप है कि शिक्षिकाओं द्वारा फर्जी दस्तावेज तैयार कर सहायक अध्यापक के पद पर नियुक्ति ली थी.

गरौठा से भी तीन गिरफ्तार
वहीं इस मामले में गरौठा पुलिस ने भी ग्राम खड़ौरा हाई स्कूल में तैनात 3 शिक्षकों के विरूद्ध मामला दर्ज किया है. इस फर्जी भर्ती के मामले में भी जिला विद्यालय निरीक्षक को तीनों शिक्षकों के नियुक्ति पत्र फर्जी होने की सूचना मिली थी. जिला विद्यालय निरीक्षक ने इन तीनों फर्जी शिक्षको के खिलाफ भी थाने में मुकदमा लिखवाकर उन्हें गिरफ्तार करवा दिया.

पुलिस के हत्थे चढ़ा फर्जी भर्ती घोटाले का मुख्य आरोपी
वहीं इस पूरे फर्जीवाड़े में पुलिस को एक अहम सफलता भी हाथ लग गई है. पांचों फर्जी शिक्षकों से कड़ाई से पूछताछ में पुलिस ने उनकी निशानदेही पर गैंग के मुख्य सरगना को भी गिरफ्तार कर लिया है. ऐसे में यह उम्मीद जताई जा रही है कि आने वाले समय में पुलिस यूपी के कई अन्य जिलों में भी फर्जी नियुक्ति पत्र के दम पर नौकरी पाने वाले आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने का काम करेगी.

Tags: Jhansi news, Jhansi Police, UP latest news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें