जालौन के DM और SDM के खिलाफ जांच शुरू, जज से लालू की सिफारिश का आरोप

सीएम ने झांसी के कमिश्नर अमित गुप्ता को आदेश जारी कर डीएम डॉ मन्नान अख्तर और एसडीएम भैरपाल सिंह के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं.

News18Hindi
Updated: January 11, 2018, 8:52 AM IST
जालौन के DM और SDM के खिलाफ जांच शुरू, जज से लालू की सिफारिश का आरोप
Yogi adityanath: File photo - PTI
News18Hindi
Updated: January 11, 2018, 8:52 AM IST
उत्तर प्रदेश के जालौन के डीएम पर चारा घोटाले की सुनवाई कर रहे जज शिवपाल सिंह को फोन कर राजद सुप्रीमो और देवघर कोषागार से अवैध निकासी मामले में दोषी करार दिए गए लालू प्रसाद यादव को बरी करने की सिफारिश करने का आरोप लगा है. इस मामले में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जालौन के डीएम और एसडीएम के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं.

सीएम के आदेश के बाद झांसी के कमिश्नर अमित गुप्ता ने  डीएम डॉ मन्नान अख्तर और एसडीएम भैरपाल सिंह के खिलाफ जांच शुरू कर दी है. गौरतलब है कि सजा पर सुनवाई के दौरान जज ने इस बात का जिक्र भी किया था, लेकिन उन्होंने किसी का नाम लिया था.

अपनी पैतृक जमीन के बीचों-बीच चक रोड निकल जाने से जज और उनके परिजन परेशान हैं. इस मामले में वह कई बार जालौन के आला अधिकारियों के चक्कर लगा चुके हैं, लेकिन अभी तक कोई हल नहीं निकला है.

देवघर कोषागार से अवैध निकासी के दौरान जस्टिस शिवपाल सिंह ने लालू यादव से कहा था कि आपकी पैरवी के लिए बहुत लोगों के फोन आ रहे हैं. जज के इस बयान के बाद राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई थी. राजद नेता शिवानंद तिवारी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि अगर जज को किसी ने फोन किया तो कार्रवाई क्यों नहीं किए.

वहीं इस मामले में जालौन डीएम डॉ. मन्नान अख्तर ने सफाई देते हुए कहा कि मैंने किसी को फोन नहीं किया और ना ही इस प्रकरण में कोई बात की.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झांसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 11, 2018, 8:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...