होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /बुंदेलखंड के किसानों के लिए खुशखबरी! झांसी में बढ़ा भूजल स्तर, जानें ब्‍लॉकवार आंकड़े

बुंदेलखंड के किसानों के लिए खुशखबरी! झांसी में बढ़ा भूजल स्तर, जानें ब्‍लॉकवार आंकड़े

झांसी में कई ब्‍लॉक में भूजल स्तर बढ़ा है.

झांसी में कई ब्‍लॉक में भूजल स्तर बढ़ा है.

झांसी के भूजल विभाग के सीनियर जियोफिजिसिस्ट शशांक शेखर सिंह ने बताया कि भूजल का स्तर का बढ़ना एक सुखद खबर है, लेकिन जनत ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – शाश्वत सिंह

    झांसी. बुंदेलखंड में पिछले 2 साल से हो रही अच्छी बारिश का फायदा अब सामने आने लगा है. अच्छी बारिश की वजह से झांसी का भूजल स्तर बढ़ गया है. झांसी में देखा जाए तो पोस्ट मॉनसून सेशन में भूजल का स्तर 1.73 मीटर बढ़ गया है. दरअसल वर्ष 2020 में जलस्तर 6.79 मीटर था, जो अब बढ़कर 5.06 मीटर हो गया है. इसका मतलब यह है कि अब बोरिंग करने पर 5.06 मीटर पर ही पानी मिल सकेगा. इससे बुंदेलखंड के किसानों को खेतों की सिंचाई में फायदा मिलेगा.

    सूखे और पथरीले बुंदेलखंड में जमीन से पानी निकालने के लिए लोगों को खासी मेहनत करनी पड़ती है. इसमें बहुत अधिक खर्च भी आता है. उम्मीद की जा रही है कि जलस्तर बढ़ जाने के बाद से इस खर्च में कमी आएगी. ब्लॉक स्तर पर बात करें तो सबसे बेहतर स्थिति में मोट ब्लॉक का जलस्तर है. यहां जलस्तर 1.14 मीटर है. बड़ागांव ब्लाक में 2.15 मीटर, बबीना ब्लाक में 3.36 मीटर, बांद्रा ब्लॉक में 5.47 मीटर, चिरगांव ब्लॉक में 3.9 मीटर और मऊरानीपुर ब्लॉक में 6.42 मीटर पर जलस्तर है. बामौर ब्लॉक की स्थिति अभी भी खराब है जहां जल स्तर 10.45 मीटर है.

    अभी और काम करने की जरूरत
    जलस्तर बढ़ने के बारे में जानकारी देते हुए भूजल विभाग के सीनियर जियोफिजिसिस्ट शशांक शेखर सिंह ने बताया कि भूजल को मापने के लिए 121 हाइड्रोग्राफ स्टेशन बनाए गए हैं. इसके साथ ही बबीना और मऊरानीपुर में अटल भूजल योजना भी शुरू की गई है. उन्होंने बताया कि जलस्तर का बढ़ना एक सुखद खबर है, लेकिन जनता को भी अपने प्रयास जारी रखने होंगे. घरों में रेनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाना होगा. इसके साथ ही सबमर्सिबल का इंतजाम भी कम करना होगा, ताकि स्थिति और बेहतर हो सके.

    Tags: Jhansi news, UP news, Water Level

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें