ललितपुर: हैलीकॉप्टर की मदद से पहाड़ी पर फंसे सभी चरवाहे सुरक्षित निकाले गए

जानकारी के अनुसार ये चरवाहे सुबह पशु चराने के लिए जंगल में गए थे. इस दौरान सुकवा-डुकवा बांध का जल स्तर बढ़ गया, जिसके कारण ये चरवाहे वहीं पहाड़ी पर ही फंस गए.

abhay shrimali | News18 Uttar Pradesh
Updated: September 2, 2018, 6:32 PM IST
abhay shrimali | News18 Uttar Pradesh
Updated: September 2, 2018, 6:32 PM IST
उत्तर प्रदेश के ललितपुर और झांसी बॉर्डर पर बांध से छोड़े गए पानी के कारण पहाड़ी पर फंसे सभी 6 चरवाहों को हैलीकॉप्टर से रेस्क्यू कर लिया गया है. दरअसल सुबह अचानक बाढ़ का पानी बढ़ने से 6 चरवाहे पहाड़ी पर फंस गए थे. कई घंटे की मशक्कत के बाद किसी तरह सूचना जिला प्रशासन को हुई, इसके बाद डीएम मानवेंद्र सिंह सक्रिय हुए और सेना से मदद मांगी. डीएम  मानवेंद्र सिंह का कहना है कि उन्होंने चरवाहों को सुरक्षित निकालने के लिए सेना से हैलीकॉप्टर की मदद मांगी गई थी. जैसे ही हैलीकॉप्टर आया, उसने सभी लोगों को सकुशल निकाल लिया है.

जानकारी के अनुसार ये चरवाहे सुबह पशु चराने के लिए जंगल में गए थे. इस दौरान सुकवा-डुकवा बांध से करीब 5 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया, जिसक के कारण पहाड़ी के आसपास का सारा इलाका डूब गया. जिसके कारण ये चरवाहे वहीं पहाड़ी पर ही फंस गए. उधर काफी देर बाद मुख्यालय तक चरवाहों के फंसे होने की खबर पहुंची. जिसके बाद जिलाधिकारी ने पहाड़ी पर फंसे लोगों के रेस्क्यू कर निकालने के लिए सेना से हेलीकाप्टर की मदद मांगी है.

उधर ललितपुर में एक अन्य जगह बड़ा हादसा टलने की खबर है. यहां बालाबेहट गांव के पास एक तेजगति बस नदी में गिर गई. यह गनीमत रही कि दुर्घटना में किसी भी यात्री को चोट नहीं लगी. उधर घटना के बाद फौरन मौके पर पहुंचे आसपास के ग्रामीणों ने सभी यात्रियों को सुरक्षित निकाला गया.

ये भी पढ़ें: 

छात्रों से भरी टाटा मैजिक गाड़ी नहर में पलटी, 2 बच्चों की मौत 17 घायल

बलि देने को 24 उंगलियों वाले लड़के की जान के पीछे पड़े रिश्‍तेदार

मुजफ्फरनगर की महिला के साथ हरिद्वार के एक होटल में सामूहिक गैंगरेप
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर