लाइव टीवी

कम नहीं हो रहीं बुंदेलखंड की मुसीबते, जल संस्थान को दो साल से नहीं मिला पैसा

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 28, 2018, 8:11 PM IST

सूखा राहत कोष से झांसी के जल संस्थान विभाग को दो साल से पैसा जारी नहीं किया गया. दो साल के बकाया दो करोड़ छह लाख में से महज बीस लाख का ही भुगतान किया गया.

  • Share this:
एक तरफ जहां कुदरत के कहर से बेहाल बुंदेलखंड के लोगों की समस्याएं कम होने का नाम नहीं लेती वहीं दूसरी तरफ शासन-प्रशासन के आलाधिकारियों की घोर लापरवाही और मनमाना रवैया बुंदेलखंड के लोगों की समस्याओं को दोगुना कर रहा है. इसकी बानगी देखने को मिली झांसी में, जहां प्रचंड गर्मी के दिनों में पेयजल को लेकर शहर से लेकर गांव तक हाहाकार मचा हुआ है.

यहां के लोगों को बूंद-बूंद पानी को लेकर भी कड़ा संघर्ष करना पड़ रहा है. इन हालातों से लोगों को निजात दिलाने के लिए शासन और प्रशासन स्तर पर की जाने वाली कोशिशें कितनी बेमानी साबित होती हैं इसका जल संस्थान से बड़ा दूसरा कोई उदाहरण हो ही नहीं सकता. पानी की किल्लत वाले इलाको में जल संस्थान टैंकरों से पानी मुहैया कराता है. सूखा राहत कोष से झांसी के जल संस्थान विभाग को दो साल से पैसा जारी नहीं किया गया.

दो साल के बकाया दो करोड़ छह लाख में से महज बीस लाख का ही भुगतान किया गया. ऐसे में पानी का टैंकर चलाने वाले ड्राइवरों को एक साल से वेतन नहीं मिला. वहीं इस बाबत जल संस्थान के महा प्रबंधक राजेश यादव ने न्यूज18 के कैमर पर अपनी बेबसी जाहिर करते हुए कहा कि प्रशासन स्तर से शासन को प्रपोजल देरी से भेजा गया, जिसके चलते पैसा नहीं मिला. साथ ही पानी के टैकरों की सप्लाई में तमाम तरह की समस्याए सामने आ रही है.

ये भी पढ़ें

 VIDEO: अधिकारियों को पानी देने के पहले गिलास में थूकता था चपरासी, वीडियो वायरल

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झांसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 28, 2018, 8:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...