• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • जालौन की जंग में कांग्रेस और महागठबंधन की लड़ाई में क्या बीजेपी को मिलेगा फायदा?

जालौन की जंग में कांग्रेस और महागठबंधन की लड़ाई में क्या बीजेपी को मिलेगा फायदा?

महागठबंधन के लोकसभा प्रत्याशी अजय सिंह पंकज.

महागठबंधन के लोकसभा प्रत्याशी अजय सिंह पंकज.

जो सीट कभी कांग्रेस का किला हुआ करती थी, उसे आज BJP ने अपना दुर्ग बना लिया है. लेकिन इस बार कांग्रेस और सपा-बसपा की आपसी टक्कर से सीधा फायदा बीजेपी को मिल सकता है.

  • Share this:
    उत्तर प्रदेश की जालौन लोकसभा सीट कभी कांग्रेस का किला हुआ करती थी. लेकिन इस किले की दीवारों को भेद कर बीजेपी ने अपना दुर्ग बना लिया. इस बार जालौन की जंग में कांग्रेस और बीजेपी को कड़ी टक्कर देने के लिए मैदान में महागठबंधन भी है. जालौन सीट से बीजेपी पांच बार चुनाव जीत चुकी है. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के भानुप्रताप वर्मा चुनाव जीते थे. पार्टी ने इस बार भी भानुप्रताप वर्मा को मैदान में उतारा है. लेकिन यहां की लड़ाई कांग्रेस बनाम महागठबंधन बनने से फायदा बीजेपी को पहुंचता दिख सकता है.

    कौन हैं प्रत्याशी?
    जालौन सीट से बीजेपी ने मौजूदा सांसद भानुप्रताप वर्मा पर दोबारा भरोसा जताया है. कांग्रेस ने बीएसपी से आए बृजलाल खाबरी को टिकट दिया है. जबकि सपा-बसपा महागठबंधन ने अजय सिंह पंकज को मैदान में उतारा है.

    कौन हैं भानुप्रताप वर्मा?
    भानुप्रताप वर्मा को बीजेपी साल 1996 से लगातार टिकट दे रही है. अब तक जालौन से 6 बार लोकसभा चुनाव लड़ चुके भानुप्रताप वर्मा 4 बार चुनाव जीते हैं तो 2 बार चुनाव हारे भी हैं. भानुप्रताप वर्मा कोरी जाति से आते हैं और उनके जीतने की संभावना का इस वजह से दावा किया जा रहा है कि मुकाबले में कोई भी दूसरा कोरी उम्मीदवार नहीं है. हालांकि भानुप्रताप वर्मा 2014 का चुनाव मोदी-लहर की वजह से जीतने में कामयाब हुए थे.

    कौन हैं बृजलाल खाबरी?
    साल 2014 के लोकसभा चुनाव में BSP के बृजलाल खाबरी दूसरे स्थान पर रहे थे. लेकिन इस बार वो बीएसपी का दामन छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. बृजलाल खाबरी जातीय समीकरणों की आस लगा कर कांग्रेस के पुराने दिन लौटाने का दावा कर रहे हैं.

    कौन हैं अजय सिंह पंकज?
    जालौन की सीट महागठबंधन के तहत बीएसपी के खाते में गई. बीएसपी ने इस बार कोंच के विधायक अजय सिंह पंकज को टिकट दिया. बीएसपी को यहां मुख्य मुकाबले में माना जा रहा है. वहीं समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन की वजह से बीएसपी को उम्मीद है कि यादव-मुस्लिम वोट की वजह से जीत पक्की रहेगी. बीएसपी और एसपी यहां एक –एक बार जीत हासिल कर चुकी हैं. बीएसपी ने 1999 तो एसपी ने 2009 में यहां जीत दर्ज की.

    जातीय समीकरण
    जालौन लोकसभा सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है. अनुसूचित जाति की आबादी इस सीट पर 27.8 फीसदी है जबकि अनुसूचित जनजाति की आबादी 0.06, फीसदी है. जालौन सीट पर कुल मतदाता 1917864 हैं जिनमें पुरुष मतदाता 1040819 और महिला मतदाता 876952 हैं. 2011 की जनगणना के मुताबिक यहां 78.97 फीसदी ग्रामीण और 21.03 फीसदी शहरी आबादी है.

    जालौन में विधानसभा की कुल 5 सीटें आती हैं. भोगनीपुर, माधोगढ़, कालपी, उरई और गरौठा विधानसभा क्षेत्र हैं. जालौन में लोकसभा चुनाव 2019 के चौथे चरण के तहत 29 अप्रैल को वोट डाले जा चुके हैं.
    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज