अब बुझेगी बुंदेलों की प्यास, CM योगी करेंगे 'हर घर नल का जल' योजना की शुरुआत
Jhansi News in Hindi

अब बुझेगी बुंदेलों की प्यास, CM योगी करेंगे 'हर घर नल का जल' योजना की शुरुआत
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (File Photo)

मुख्यमंत्री योगी झांसी से इस योजना की शुरुआत करेंगे. इस मौके पर केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत भी मौजूद रहेंगे.

  • Share this:
झांसी. दशकों से शुद्ध पेयजल के लिए तरस रहे बुंदेलों की प्यास अब बुझने जा रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) मंगलवार को 'हर घर नल का जल' योजना की शुरुआत करेंगे. पहले चरण में बुंदेलखंड (Bundelkhand) के तीन जिलों के 770 ग्राम पंचायतों तक शुद्ध जल पहुंचाने से इसकी शुरुआत होगी. मुख्यमंत्री योगी झांसी से इस योजना की शुरुआत करेंगे. इस मौके पर केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत भी मौजूद रहेंगे.

2100 करोड़ रुपए से अधिक की योजनाओं का शुभारंभ

अपने इस दौरे के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 2100 करोड़ रुपए से अधिक की योजनाओं का शुभारंभ भी करेंगे. बता दें योगी सरकार ने बुंदेलखंड के लिए राज्य पेयजल योजना शुरू की थी. 10 हजार करोड़ से अधिक की इस योजना का लाभ 67 लाख लोगों तक पहुंचाना है. यूपी के जलशक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री ने जल जीवन मिशन को प्राथमिकता से अमल में लाने को कहा है. झांसी, ललितपुर व महोबा की 770 ग्राम पंचायतों में शुद्ध जल पहुंचाने की शुरुआत होगी. मुख्यमंत्री झांसी से इसकी शुरुआत करेंगे, जबकि सांसद व विधायक अलग-अलग जिलों में भूमि पूजन करेंगे. सरकार की मंशा हर घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने की है.



सीएम दोपहर 12.30 पहुंचेंगे झांसी



सीएम योगी बुंदेलखंड दौरे के लिए सबसे पहले झांसी जाएंगे. दोपहर 12 बजकर 30 मिनट पर सीएम झांसी पहुंचेंगे. सीएम जल जीवन मिशन की सबसे बड़ी पेयजल योजना का शुभारंभ करने खुद बुंदेलखंड पहुंच रहे हैं. सूबे में पानी की कमी से जूझने वाला इलाका बुंदेलखंड ही है. इस योजना की शुरुआत के बाद काफी हद तक बुंदेलों की प्यास बुझेगी.

पहले चरण में 14 लाख लोगों तक पहुंचेगा नल का जल

पहले चरण में बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र के लिए 2185 करोड़ की परियोजना की शुरूआत होगी. इससे महोबा, ललितपुर और झांसी की 14 लाख की आबादी तक नल का जल पहुंचेगा. सरफेस वॉटर और अंडरग्राउंट वॉटर के माध्यम से लोगों तक पानी पहुंचाया जाएगा. सरकार की योजना है कि अगले 2 साल के अंदर पहले बुंदेलखंड और फिर विंध्यांचल के हर घर तक पीने का पानी पहुंच सके.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading