होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

खबर का असर: हरकत में आया झांसी नगर निगम, स्वतंत्रता सेनानियों को मिला उनका खोया सम्मान 

खबर का असर: हरकत में आया झांसी नगर निगम, स्वतंत्रता सेनानियों को मिला उनका खोया सम्मान 

Azadi Ka Amrit Mahostav: खबर दिखाने के महज 48 घंटे के अंदर न सिर्फ नगर निगम द्वारा इस शहीद स्तंभ की मरम्मत करवाई गई. बल्कि जो नाम मिट चुके थे उन्हें फिर से लिखा गया. महापौर रामतीर्थ सिंघल ने कहा कि NEWS 18 LOCAL द्वारा दिखाई गई खबर के बाद हमारे संज्ञान में यह मामला आया. नगर निगम द्वारा इस पर कार्रवाई की गई और इस शहीद स्तंभ की मरम्मत कर दी गई है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

स्वतंत्रता सेनानियों की याद में बना यह स्तंभ पूरी तरह से बदरंग हो चुका था
खबर दिखाने के 48 घंटे के भीतर नगर निगम ने करवाया मरम्मत

रिपोर्ट: शाश्वत सिंह

झांसी। NEWS 18 LOCAL की खबर का एक बार फिर बड़ा असर हुआ है. झांसी के स्वतंत्रता सेनानियों को उनका सम्मान मिल गया है. जी हां, सेनानियों के सम्मान में झांसी के महारानी लक्ष्मी बाई पार्क में एक शहीद स्तंभ बनाया गया था. लेकिन नगर निगम की अनदेखी के चलते यह स्तंभ बदहाल और बेरंग हो गया था. आजादी के अमृत वर्ष में तमाम स्मारकों को सजाया गया और उनकी मरम्मत की गई. लेकिन, इस शहीद स्तंभ को प्रशासन पूरी तरह भूल चुका था. NEWS 18 LOCAL द्वारा इस खबर को दिखाए जाने के बाद नगर निगम हरकत में आया.

खबर दिखाने के महज 48 घंटे के अंदर न सिर्फ नगर निगम द्वारा इस शहीद स्तंभ की मरम्मत करवाई गई. बल्कि जो नाम मिट चुके थे उन्हें फिर से लिखा गया. महापौर रामतीर्थ सिंघल ने कहा कि NEWS 18 LOCAL द्वारा दिखाई गई खबर के बाद हमारे संज्ञान में यह मामला आया. नगर निगम द्वारा इस पर कार्रवाई की गई और इस शहीद स्तंभ की मरम्मत कर दी गई है. इसके साथ ही अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि इस स्तंभ के रखरखाव का पूरा ध्यान रख जाए.

यह था मामला
झांसी के रहने वाले स्वतंत्रता सेनानियों की याद में बना यह स्तंभ पूरी तरह से बदरंग हो चुका था. साथ ही इस पर लिखे हुए स्वतंत्रता सेनानियों के नाम भी मिट चुके थे. स्तंभ का स्वरूप भी खराब हो गया था. लेकिन, जिम्मेदारों ने शहीद स्तंभ में कुछ जिंदा स्वतंत्रता सेनानियों के नाम भी लिख दिए थे. इस स्तंभ पर सत्यदेव तिवारी का नाम भी लिखा हुआ था जिन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में हिस्सा तो लिया था लेकिन वह शहीद नहीं थे. लेकिन नगर निगम ने उनका नाम भी शहीद स्तंभ की सूची में लिख दिया था. अब उसे सुधारा गया है.

Tags: Azadi Ka Amrit Mahotsav, Jhansi news, UP latest news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर