झांसी: बीजेपी MLA राजीव सिंह पारीछा पर ग्रामीणों ने लगाए गंभीर आरोप, पुलिस ने शुरू की जांच

बबीना से बीजेपी विधायक राजीव सिंह परीक्षा पर लगे गंभीर आरोप

बबीना से बीजेपी विधायक राजीव सिंह परीक्षा पर लगे गंभीर आरोप

Jhansi News: गणेशी पाल का आरोप है कि वह अपने पुत्र रवि तथा भूपेंद्र के अलावा गांव के ही राजाराम उर्फ राजू जाटव को लेकर खेत पर भूसे आदि का कार्य करने के लिए जा रही थी. रास्ते में बबीना विधायक राजीव सिंह पारीछा तथा उनके साथ मौजूद एक दर्जन से अधिक लोगों ने दो गाड़ियों से टक्कर मार दी.

  • Share this:

झांसी. पंचायत चुनाव (Panchayat Chunav) को लेकर शुरू हुई रंजिशें अब तेज हो गई हैं. चिरगांव क्षेत्र में पंचायत चुनाव की रंजिश के चलते सत्ताधारी लोगों पर गाड़ी से कुचलने की कोशिश, फायरिंग, बन्दूक की बट से हमला करने और एक युवक को अगवा करने की कोशिश का आरोप लगा हैं. जिन लोगों पर आरोप लगाए गए हैं, उनमें भारतीय जनता पार्टी (BJP) के मौजूदा बबीना विधायक राजीव सिंह पारीछा (MLA Rajeev Singh Pariksha) भी शामिल हैं. इस मामले को लेकर चिरगांव के ग्राम निवी निवासी गणेशी पाल ने सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देते हुए शिकायत की है. जिसके बाद एसएसपी ने सीओ मोठ को जांच सौंपी है.

दरअसल, गणेशी पाल का आरोप है कि वह अपने पुत्र रवि तथा भूपेंद्र के अलावा गांव के ही राजाराम उर्फ राजू जाटव को लेकर खेत पर भूसे आदि का कार्य करने के लिए जा रही थी. रास्ते में बबीना विधायक राजीव सिंह पारीछा तथा उनके साथ मौजूद एक दर्जन से अधिक लोगों ने दो गाड़ियों से टक्कर मार दी. उनके साथ मौजूद राजाराम ने जब-जब बीच बचाव करने की कोशिश की तो आरोपियों ने उसके सिर पर बंदूक की बट से वार कर दिया. इसके बाद आरोपियों ने उसके पुत्र रवि को गाड़ी में डाल दिया और अपहरण कर ले गए. पारीछा ले जाने के बाद जब उन्हें पता चला कि सारे गांव वाले इकट्ठा होकर थाने की ओर चले गए हैं तो उन्होंने रवि को छोड़ दिया। आरोप लगाया गया है कि आरोपियों ने फायरिंग भी की थी, जिससे पूरे गांव में दहशत फैल गई थी. घटना का कारण पंचायत चुनाव की रंजिश बताया गया है. गणेशी पाल के अनुसार उसने इस मामले की सूचना थाने में भी दी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.

विधायक ने दी ये सफाई

प्रार्थना पत्र में उसने विधायक राजीव सिंह पारीछा सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई किए जाने की मांग की है. वहीं न्यूज़ 18 से मोबाइल पर बात करते हुए बीजेपी विधायक ने कहा कि जिले में पार्टी ने जिला पंचायत सदस्य के चुनाव लड़वाने के लिए कहा था. प्रधानी के चुनाव से मेरा कोई मतलब नहीं था. मेरे ऊपर जो आरोप लगाए जा रहे है,वो सारे आरोप बेबुनियाद है. उधर एसएसपी का कहना है कि पीड़ितों के प्रार्थना पत्र पर सीओ मोठ को जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दे दिया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज