Jhansi news

झांसी

अपना जिला चुनें

झांसी: कोरोना संकट काल को पुलिस ने अवसर में बदला, गांव गोद लेकर बना दिया हाईटेक

झांसी के इस गांव को पुलिस ने लिया है गोद

झांसी के इस गांव को पुलिस ने लिया है गोद

झांसी पुलिस ने कोरोना संकट को अवसर में बदलने का कोई मौका नहीं छोड़ा. प्रवासी मजदूरों को रक्सा बार्डर पर हाइटेक सुविधा, बच्चों को खिलौने, महिलाओं को सैनेटरी पैड मुहैया कराने के बाद अब झांसी पुलिस ने झांसी के एक गांव को गोद लिया है.

SHARE THIS:
झांसी. कोरोना काल (Corona Pandemic) झांसी पुलिस (Jhansi Police) ने अपने शानदार और दमदार कामों को लेकर खूब सुर्खियां बटोरी. झांसी पुलिस द्वारा किए गए जनहित के कामों को भरपूर समर्थन भी मिला. लेकिन इस बार झांसी पुलिस ने जो काम किया है, वो एक मिसाल के तौर पर सामने आया है. झांसी पुलिस ने कोरोना संकट को अवसर में बदलने का कोई मौका नहीं छोड़ा. प्रवासी मजदूरों को रक्सा बार्डर पर हाइटेक सुविधा, बच्चों को खिलौने, महिलाओं को सैनेटरी पैड मुहैया कराने के बाद अब झांसी पुलिस ने झांसी के एक गांव को गोद लिया है. झांसी पुलिस के गोद लिए इस गांव का नाम गढ़मऊ है, मुख्यालय से दस किलोमीटर की दूरी पर है.

यूपी का पहला गांव जिसका अपना ट्विटर हैंडल

गोद लिए गांव में पुलिस ने बच्चो को स्कूली बैग दिए, जिसमें रखी किताबें गांव के बच्चों को पढ़ने का आसान माध्यम बन गई. साथ ही महिलाओ को साड़ी तो युवाओं को गमछे देने का काम झा्सी पुलिस ने किया. साथ ही यह यूपी का पहला गांव है जिसका अपना ट्वीटर हैंडल भी है. आपको जानकार ये हैरानी होगी कि गढ़मऊ के नाम से ग्रामीणो ने यूपी के पहले गांव का ट्वीटर हैंडल बनाया. पुलिस वालिंटियर ने मिलकर गांव को यूपी का सबसे हाइटेक गांव बनाने की कवायद शुरू कर दी. ट्वीटर हैंडल पर किसी भी  तरह की समस्या लिख सकते हैं. इसके लिए झांसी पुलिस ने विश्व विद्यालय के छात्रों को अपनी टीम में शामिल किया है.

क्या कहना है जिले के एसएसपी का

वहीं यूनीसेफ ने भी झांसी पुलिस की इस सबसे अलग मुहिम का समर्थन करते हुए झांसी पुलिस के साथ कदमताल की बात कही है. वहीं इस बाबत जिले के एसएसपी डी प्रदीप कुमार का कहना है कि इस कान्सेप्ट को लेकर जिले की पुलिस लगातार काम कर रही थी. गढ़मऊ गांव को गोद लेने के बाद गांव में रहने वाले हर बच्चे की पढ़ाई से लेकर डिजिटल ट्रेनिंग का पूरा ख्याल रखा जाएगा. गढ़मऊ गांव का अपना ट्वीटर हैंडल होने के बाद अब ग्रामीण भी गांव की समस्याओं को ट्वीट कर शासन-प्रशासन तक पहुचा सकेंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

डेंगू से लड़ने में ये मछली बनी 'देवदूत', जानिए कैसे करती है बचाव?

UP: झांसी में जिला प्रशासन ने डेंगू से लड़ने के लिए गंबूजिया मछली तालाबों में छोड़नी शुरू की है. (File Photo)

Jhansi News: झांसी में डेंगू के एक्टिव मामलों की जानकारी देते हुए जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने बताया कि वर्तमान में 17 डेंगू के केस एक्टिव हैं, जिन्हें उपचार दिया जा रहा है.

SHARE THIS:

झांसी. आपने अक्सर एक कहावत सुनी होगी कि एक मछली पूरे तालाब को गंदा कर देती है लेकिन अब ये कहावत कोरोना काल में बदलने लगी है. अब एक मछली पूरे तालाब के साथ इंसानी जान को भी बचाने का काम कर रही है. हम आपको एक ऐसी मछली के बारे में बता रहे हैं, जो लोगों को डेंगू के डंक से बचा सकती है. इस मछली का नाम गम्बूजिया (Gambusia) है. ये मछली सिर्फ डेंगू ही नहीं बल्कि मलेरिया की चपेट में आने से भी बचा सकती है. झांसी जिला प्रशासन ने अब इस मछली को तमाम तालाबों में छोड़ने का अभियान शुरू कर दिया है. बता दें झांसी में डेंगू फैल रहा है, फिलहाल सरकारी आंकड़ों के अनुसार यहां 17 केस डेंगू के एक्टिव बताए जा रहे हैं.

झांसी जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने इस मछली को आंतिया तालाब में छोड़ा है. ताकि डेंगू के लार्वा को खत्म किया जा सके. दरअसल ये एक ऐसी मछली है, जो डेंगू-मलेरिया फैलाने वाले जानलेवा मच्छरों के लार्वा को खाकर झांसी को मच्छरों के प्रकोप से बचा सकती है. मलेरिया और डेंगू के प्रकोप से निपटने के लिए गम्बूजिया मछली को हथियार बनाने की तैयारी शुरू हो गई है.

झांसी में तालाबों में छोड़ी जा रही गंबूजिया मछली

dengue News, gambusia fish, Jhansi News,

UP: झांसी में जिला प्रशासन ने डेंगू से लड़ने के लिए गंबूजिया मछली तालाबों में छोड़नी शुरू की है. (File Photo)

आने वाले दिनों में डेंगू का लार्वा खाने वाली कंबूजिया मछली को बड़ी तादाद में जिले के सभी तालाबों में छोड़ा जाएगा. डेंगू के प्रकोप का फैलने से रोकने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है. जिले में डेंगू के एक्टिव मामलों की जानकारी देते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि वर्तमान में 17 डेंगू के केस एक्टिव हैं, जिन्हें उपचार दिया जा रहा है.

UP Elections: BJP का दावा- कांग्रेस 10 सीटें भी नहीं जीतेगी, AAP की 5 आ जाए तो बहुत

भाजपा सांसद रीता बहुगुणा ने यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में बीजेपी के सत्ता में बने रहने का दावा किया.

BJP Claims : भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने झांसी में कहा कि प्रियंका गांधी अमेठी से पहले तो लड़ेंगी ही नहीं, क्योंकि ये लोग रिस्क नहीं लेना चाहते हैं. यदि वह लड़ीं भी तो जीतेंगी नहीं, बल्कि हार जाएंगी.

SHARE THIS:

झांसी. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में जीत को लेकर यूपी की सत्तासीन पार्टी ने कड़ी कवायद शुरू कर दी है. यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा को बड़ी जीत दिलाने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार ने ताकत झोंक दी है. इसी मिशन के तहत बुंदेलखंड दौरे पर झांसी पहुंचीं प्रदेश सरकार की पूर्व कैबिनेट मंत्री और भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने दावा किया कि यूपी में कांग्रेस की 10 सीटें भी नहीं आएंगी. भारतीय जनता पार्टी जीतेगी भी और सरकार भी बनाएगी. उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी अमेठी से पहले तो लड़ेंगी ही नहीं, क्योंकि ये लोग रिस्क नहीं लेना चाहते हैं. यदि वह लड़ीं भी तो जीतेंगी नहीं, बल्कि हार जाएंगी.

यूपी में प्रियंका भी नहीं जीत पाएंगी चुनाव

पत्रकारों के प्रियंका गांधी को लेकर पूछे गए सवाल पर भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि प्रियंका गांधी की तो बात ही नहीं कीजिए. दो साल में 5 बार आई हैं उत्तर प्रदेश में. आप बात कीजिए मुख्यमंत्री की, जिनके पिता का देहांत हो गया. तब पहली लहर चल रही थी कोरोना की, वह दाह-संस्कार में नहीं गए. अभी कोरोना हुआ, 5-7 दिन वे एक-एक वॉर्ड में घूमें. जरा देखिए कि हमारी बहनजी किस-किस वॉर्ड में गईं. अपने परिवार का नाम लेकर या मोटरसाइकिल आगे-पीछे लगाकर पॉलिटिक्स करने का जमाना बीत गया. अब यह राजनीति नहीं चलेगी. रीता बहुगुणा के मुताबिक, उन्होंने कांग्रेस पार्टी इसलिए छोड़ी कि ये लोग जनता से दूरी रखते हैं. जो परिक्रमा करते हैं उन्हीं की बात सुनना इनकी आदत है, जननेताओं से मिलना नहीं.

इसे भी पढ़ें : पूरे UP में बारिश का कहर, अब 2 दिनों तक प्राइमरी स्कूल से लेकर यूनिवर्सिटी तक सब बंद

अमेठी में हारने के बाद दोबारा नहीं आए राहुल

चुनाव को लेकर मै कुछ कहना नहीं चाहती हूं. फिर भी मैं बताती हूं. भारतीय जनता पार्टी जीतेगी और कांग्रेस की 10 सीटें भी नहीं आएंगी, लिखकर रख लीजिए. अमेठी से प्रियंका गांधी के चुनाव लड़ने को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि पहली बात तो वह लडे़गी नहीं, यह भी लिखकर रख लीजिए. ये लोग रिस्क लेते ही नही हैं. अब बताइए, राहुल को देखिए, जिस अमेठी ने उनके पिता से लेकर आज तक साथ दिया, जब से चुनाव हारे लौटकर नहीं आए. ये पॉलिटिक्स है क्या?

इसे भी पढ़ें : पहली बार नहीं डूब रहा Lucknow, 1960 की बाढ़ ने बढ़ा दी थी सबकी धड़कन

आप विधानसभा चुनाव में साबित होगी सेफद हाथी

भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने आम आदमी पार्टी को लेकर कहा कि ये उत्तर प्रदेश है. यहां की जनता अच्छी तरह से जानती है कि यूपी में किस पार्टी को वोट करना है. आम आदमी पार्टी यूपी विधानसभा चुनाव में सफेद हाथी की तरह साबित होगी. चुनाव में आम आदमी पार्टी को 5 सीटें भी मिल जाए तो बहुत बड़ी बात होगी. उन्होंने कहा कि यूपी. दिल्ली है क्या? यदि यूपी के दो जनपदों को जोड़ लिया जाए तो दिल्ली बन जाएगी. यूपी 75 जिलों का जनपद है.

झांसीः जमीन विवाद सुलझाने गई पुलिस पर लड़कियों ने किया हमला, दारोगा-सिपाहियों को जमकर पीटा, हंगामा, 4 जख्मी

UP: झांसी के मऊरानीपुर थाना क्षेत्र में दो लड़कियों की दबंगई सामने आई है.

Jhansi News: झांसी में जमीनी विवाद सुलझाने पहुंची पुलिस पर दो दबंग लड़कियों ने हमला बोल दिया. उन्होंने पुलिस की गाड़ी को कब्जे में ले लिया और दारोगा सहित पुलिसकर्मियों से जमकर मारपीट की.

SHARE THIS:

झांसी. उत्तर प्रदेश के झांसी जिले के मऊरानीपुर थाना क्षेत्र में शिकायत पर घटनास्थल पहुंची पुलिस पर लड़कियों ने हमला बोल दिया. जिसमें महिला और पुरुष दारोगा और दो सिपाही घायल हो गए हैं. पुलिस ने बाद में हमला करने वालों को गिरफ्तार कर लिया है. यही नहीं पता चला है कि हमले के दौरान दबंग लड़कियों ने पुलिस की गाड़ी पर ही कब्जा कर लिया.

दरअसल झांसी जिले के मऊरानीपुर थानान्तर्गत मोहल्ला परवारीपुरा निवासी मदन मोहन माली अपने मकान का निर्माण करा रहा था. तभी पड़ोस में रहने वाली कुछ लड़कियां अपने परिवार के साथ निर्माण कार्य रुकवाने वहां पहुंच गईं, जिसको लेकर विवाद हो गया. इसकी सूचना थाने की पुलिस को दी गई. पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जानकारी इकट्ठी करनी शुरू कर दी.

पुलिस वालों से गाली-गलौच, वर्दी फाड़ी
आरोप है कि इसी दौरान वहां मौजूद लड़कियां आक्रोशित हो गईं और पुलिस पर हमला करते हुए महिला व पुरुष दारोगा से गाली गलौज व मारपीट की. इतना ही नहीं वर्दी को फाड़ने की भी कोशिश की गई. उन्होंने पुलिस की जीप पर चढ़कर तोड़-फोड़ करने की कोशिश की, जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

दारोगा, दो सिपाही मारपीट में हुए घायल
जिसके बाद कोतवाली पुलिस ने इन्हें हिरासत में लेकर कार्यवाही शुरू कर दी है. दोनों लड़कियों के साथ आई महिलाओं की पिटाई के चलते पुलिसकर्मियों को चोटें आई हैं. दरोगा, दोनों सिपाहियों ने बमुश्किल पुलिस की गाड़ी पर कब्जा कर हंगामा काट रही दोनों लड़कियों, महिलाओं से बचकर थाने आये. वहीं चोटिल पुलिस कर्मियों को चिकित्सीय परीक्षण के लिए भेजा गया है.

एसएसपी ने कड़ी कार्रवाई के दिए आदेश
पुलिस की गाड़ी पर चढ़कर पुलिसकर्मियों से मारपीट की घटना को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी शिवहरि मीणा ने कहा कि सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है. मामले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

ललितपुर में छात्रों का प्रदर्शन: SDM को बनाया बंधक, पुलिस ने भांजी लाठियां, कई छात्र हिरासत में

ललितपुर: प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस का लाठीचार्ज, कई छात्र हिरासत में.

Lalitpur student protest: ललितपुर में बोर्ड परीक्षा की अंक सूची में नंबर दर्ज कराए जाने की मांग को लेकर छात्रों ने मोर्चा खोल दिया. आंदोलनरत छात्रों ने इस दौरान जमकर हंगामा किया. स्कूल के गेट में ताला लगाकर एसडीएम और प्रधानाचार्य को बंधक बना लिया. जिसके बाद पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज कर दिया.

SHARE THIS:

ललितपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के ललितपुर (Lalitpur) में बोर्ड परीक्षा (Board Exam) की अंक सूची में नंबर दर्ज कराए जाने की मांग को लेकर छात्रों ने मोर्चा खोल दिया. आंदोलनरत छात्रों ने इस दौरान जमकर हंगामा किया. स्कूल के गेट पर ताला लगाकर छात्रों ने एसडीएम और प्रधानाचार्य को बंधक बना लिया, जिसके बाद पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज कर दिया. पुलिस की लाठीचार्ज में कई छात्रों को गहरी चोटें पहुंची हैं. इस हंगामे के बाद पुलिस ने दो दर्जन छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. छात्रों पर पुलिसिया लाठीचार्ज के विरोध में राजनीति भी तेज हो गई है. सपा और कांग्रेस नेता खुलकर छात्रों के समर्थन में उतर आए हैं.

गौरतलब है कि कोरोना के चलते हाईस्कूल और इंटर मीडिएट की परीक्षाएं सम्पन्न नहीं हो सकी हैं. छात्रों को प्री परीक्षा के आधार पर ही अगली कक्षा में प्रोन्नत किया गया है, लेकिन ललितपुर के राजकीय इंटर कालेज के बारहवीं कक्षा के 854 छात्रों के प्री परीक्षा के परिणाम समय से प्रयागराज बोर्ड नहीं भेजे गए. इस कारण छात्रों की अंक सूची में नंबर दर्ज नहीं हो पाए हैं. विद्यालय के प्रधानाचार्य और शिक्षकों की लापरवाही के चलते छात्रों का किसी भी महाविद्यालय में प्रवेश नहीं हो पा रहा है. पिछले एक माह से अंक सूची में सुधार के लिए छात्र अधिकारियों को ज्ञापन देने के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं.

छात्रों ने विद्यालय गेट पर ताला लगाकर बनाया बंधक

इसी मामले को लेकर विद्यालय में 13 सितंबर की शाम एक बैठक का आयोजन किया गया था, लेकिन अधिकारियों और छात्रों के बीच बात नहीं बन पाई. इसी बीच एनएसयूआई और समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ता भी पहुंच गए. इसके बाद छात्रों का मिजाज गर्मा गया. कुछ छात्रों ने विद्यालय के मुख्य गेट पर ताला जड़ कर अधिकारियों को बंधक बना लिया. मामला बिगड़ता देख मौके पर भारी पुलिस फोर्स पहुंच गई. किसी प्रकार पुलिस ने ताला तोड़कर विद्यालय में बंद एसडीएम, प्रधानाचार्य और अन्य अधिकारियों को बाहर निकाला.

पुलिस ने भांजी लाठियां

इस दौरान पुलिस और छात्रों में जमकर झड़प हुई. पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज कर दिया. छात्रों को जलती हुई लकड़ी से पीटा गया. कई छात्र चोटिल हुए हैं. पुलिस द्वारा दो दर्जन छात्रों को हिरासत में लिए जाने की भी खबर है. इस घटना के बाद रोष देखा जा रहा है. सदर कोतवाली छावनी के रूप में तब्दील हो गई है.

झांसी में साक्षी महाराज ने कहा - मंदिर न जाने वाले नेता भी अब तिलक लगाए घूम रहे

झांसी में जनसभा को संबोधित करते बीजेपी के सांसद साक्षी महाराज.

UP assembly elections : विपक्ष पर निशाना साधते हुए साक्षी महाराज ने कहा - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इतना बड़ा परिवर्तन कर दिया कि जो कभी मंदिर नहीं जाते थे, आज तिलक लगाकर मंदिरों में घूम रहे हैं.

SHARE THIS:

झांसी. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में सत्ता दोबारा हासिल करने के लिए यूपी की मौजूदा सरकार ने कड़ी कवायद शुरू कर दी है. यूपी के सभी जिलों में लगातार यूपी और केंद्र सरकार के मंत्रियों, सासंदों और विधायकों का मैराथन जनसंपर्क अभियान देखने को मिल रहा है. सोमवार को भाजपा के फायर ब्रांड नेता साक्षी महाराज झांसी पहुंचे.

साक्षी महाराज ने विपक्षी दलों को घेरा

भाजपा के सांसद साक्षी महाराज ने झांसी में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि न देने जाने पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर बरसे. वहीं, उन्होंने बसपा और कांग्रेस नेताओं के राममंदिर जाने पर टिप्पणी की. साक्षी महाराज के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इतना बड़ा परिवर्तन कर दिया कि जो कभी मंदिर नहीं जाते थे, आज तिलक लगाकर मंदिरों में घूम रहे हैं. साक्षी महाराज ने अखिलेश पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछड़ों की राजनीति करने वाले अखिलेश यादव हमारे बहुत प्रिय हैं. पहला चुनाव मैंने उनको लड़ाया. उनकी शादी में बहुत मेरी बड़ी सहभागिता रही. लेकिन दुर्भाग्य है कि अखिलेश यादव चूक गए. उनसे एतिहासिक भूल हो गई. उनके घर से कल्याण सिंह के घर की दूरी एक किलोमीटर थी. इसके बाद भी वे फूल नहीं चढ़ाने गए. क्या आपको एक जाति विशेष का वोट चाहिए. एक संप्रदाय विशेष का वोट चाहिए. आपको हिंदू का वोट नहीं चाहिए. आपको रामभक्त का वोट नहीं चाहिए. यह जबाब आपको 22 और 24 में देना होगा.

इन्हें भी पढ़ें :
BJP मीडिया कार्यशाला में योगीमंत्र- पार्टीलाइन पर बोलें, तय करें कि क्या और कितना बोलें
AAP की अयोध्या में तिरंगा यात्रा पर भड़के संत, काले झंडे दिखाने की घोषणा

2022 में सरकार बनाने का साक्षी महाराज ने किया दावा

झांसी के मुक्ताकाशी मंच पर संत स्वामी ब्राह्मानंद निर्वाण दिवस और पंचायत प्रतिनिधि सम्मान समारोह आयोजित हुआ. जिसमें शामिल होने भाजपा सांसद साक्षी महाराज पहुंचे. जहां उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए लोगों से अपील की कि वे जातिवाद के बहकावे में न आएं. साक्षी महाराज ने दावा किया कि यूपी में 2022 में भाजपा की सरकार फिर बनेगी. इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गुण गाए.

झांसी में तिलंगाना एक्सप्रेस में सीट के नीचे मिला हथियारों से भरा बैग, सामने आया कश्मीर कनेक्शन

झांसी में तिलंगाना एक्सप्रेस में सीट के नीचे मिला हथियारों से भरा बैग (फाइल फोटो)

Jhansi News: मामले में जीआरपी का कहना है कि बरामद एसबीबीएल गन और कारतूसों को लेकर जांच की जा रही है. ट्रेन में हथियार मिलने का मामला बेहद संगीन है. मामले की गहनता से जांच कराई जाएगी.

SHARE THIS:

झांसी. उत्तर प्रदेश के झांसी रेलवे स्टेशन (Jhansi Railway Station) पर शुक्रवार देर शाम हथियारों (Weapons) से भरा बैग मिलने से हड़कंप मच गया. आरपीएफ (RPF) को सूचना मिली की ट्रेन में दो लावारिस बैग रखे है. आरपीएफ ने जब तेलंगाना एक्सप्रेस (02732) के यात्री कोच में जाकर लावारिस बैग को खोला तो उसमें रखी बंदूकें और कारतूस देखकर सनसनी फैल गई. दोनों बैग की तलाशी के दौरान 5 बंदूकें, 23 कारतूस और मोबाइल, आई कार्ड और अन्य पेपर मोहम्मद रफीक और मस्जिद जम्मू कश्मीर के नाम लिखे बरामद किए हैं. रेलवे पुलिस ने दो नामजद और एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया. वहीं, एसपी रेलवे मोहम्मद इमरान का कहना है कि मामले को गंभीरता से लेते हुए हैदराबाद और जम्मू कश्मीर की राजौरी पुलिस से संपर्क स्थापित किया जा रहा है. इस मामले में जांच की जा रहा है.

बता दें कि हैदराबाद से चलकर हजरतनिजामुद्दीन की ओर जा रही तिलंगाना एक्सप्रेस के जनरल कोच में दो लावारिस बैग मिले हैं. बैग को खोला गया तो उसके अंदर बंदूक व कारतूस दिखाई दिए. यह दृश्य देख रेलवे पुलिस और रेल सुरक्षा बल की टीम के सदस्यों में हड़कंप मच गया. इसकी जानकारी दोनों फोर्स के स्टॉफ ने अफसरों को दी. एक बैग में तीन स्माल बट सिंगल बैरल तथा दो बड़े सिंगल बैरल गन मिली. साथ में 12 बोर के 23 कारतूस जिसमें 22 कारतूस जिंदा व एक कारतूस खोखा है. सभी असलहा नंबरी हैं.

यह भी पढे़ं- UP Poll-Tricks: मुख्तार कबूल करेंगे AIMIM की पेशकश? देखें, लाभ-नुकसान का गणित

बैग में सिक्योरिटी कंपनी के दो कार्ड मिले. कार्डों की जांच की गई. पता चला कि यह कार्ड हैदराबाद में खुली यूनिवर्सल सिक्योरिटी सर्विस के हैं. रेलवे पुलिस के मुताबिक, एक कार्ड पर मोहम्मद रफीक पुत्र मुस्ताक खान निवासी बारोवी पुलिस स्टेशन धर्मशाला जिला राजौरी जम्मू एंड कश्मीर व दूसरे कार्ड पर माजिद पुत्र सैय्यद बिन मोहम्मद निवासी जमाला पोस्ट जमाला जिला राजोरी जम्मू एंड कश्मीर लिखा हुआ था. इस मामले में जीआरपी पुलिस ने नामजद अभियुक्तों के खिलाफ दफा 30 शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया. मामले में जीआरपी का कहना है कि बरामद एसबीबीएल गन और कारतूसों को लेकर जांच की जा रही है. ट्रेन में हथियार मिलने का मामला बेहद संगीन है. मामले की गहनता से जांच कराई जाएगी.

Crime in UP : झांसी में युवक को हैंडपंप से बांधकर पीटा, तीनों आरोपी गिरफ्तार

युवक को बांधकर पीटने के तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

Crime in UP : पुलिस ने बताया कि सुनील जब अपने पड़ोसियों के घर के सामने से गुजर रहा था, तभी उन्होंने सुनील को पकड़ लिया और घर में लगे हैंडपंप से उसके हाथ-पैर बांध दिए और पीटा.

SHARE THIS:

झांसी. उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में तीन लोगों ने एक युवक को अपने घर में लगे हैंडपंप से बांध कर खूब पीटा. इस पिटाई के दौरान किसी ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया. इस बीच इस मामले की जानकारी पुलिस को मिली तो उसने युवक को मुक्त कराते हुए तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

यह मामला झांसी जिले के बबीना थानान्तर्गत पृथ्वीपुर नया खेड़ागांव का बताया जा रहा है. सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में देखा जा सकता है कि आरोपियों ने एक युवक के हाथ-पांव घर में लगे हैंडपंप से बांध दिए हैं. आरोप है कि उसके साथ मारपीट भी गई. सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और उसने युवक को मुक्त कराया. वहां मौजूद लोगों ने इसका वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया.

कुछ दिन पहले हुए विवाद पर पंचायत भी हुई थी

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो के बारे में थाने की पुलिस ने बताया गांव में सुनील नाम का युवक रहता है. सुनील का पिछले दिनों पड़ोस में रहने वाले लोगों से विवाद हो गया था. इस विवाद को सुलझाने के लिए पंचायत भी हुई थी. ताजा मामले में पुलिस ने बताया कि सुनील जब अपने पड़ोसियों के घर के सामने से गुजर रहा था, तभी उन्होंने सुनील को पकड़ लिया और घर में लगे हैंडपंप से उसके हाथ-पैर बांध दिए और पीटा. पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर लिया है और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है.

इन्हें भी पढ़ें :
अलीगढ़ : खेत में मिली लापता दलित लड़की की लाश, बलात्कार के बाद हत्या की आशंका
UP Assembly Election: दशहरा बाद पूरी तरह से मैदान में उतरेगी BJP, PM मोदी की होंगी 30 से ज्यादा रैलियां

तीनों आरोपियों को जेल भेजने की तैयारी

घर में हैंडपंप से युवक को बांधकर तालिबानी हरकत करने वाले तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में एसएसपी शिव हरी मीणा का कहना है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाकर तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली गई है. सभी आरोपियों को जेल भेजा जा रहा है.

UP: शादीशुदा प्रेमिका से मिलने उसके घर पहुंचा प्रेमी, पति ने चप्पलों से पीटा; फिर..

ललितपुर में महिला से घर पर मिलने पहुंचे युवक की पिटाई का वीडियो वायरल हुआ है.

Lalitpur news : ललितपुर में प्रेमिका से उसके घर अकेले में मिलने आए युवक की जान आफत में पड़ गई. किसी ने महिला के पति को इसकी सूचना दे दी. फिर पति और उसके दोस्तों ने चप्पलों से उसकी जमकर पिटाई की.

SHARE THIS:

ललितपुर. उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) के ललितपुर (lalitpur) में प्रेमिका से उसके घर अकेले में मिलने आए युवक की जान आफत में पड़ गई. किसी ने महिला के पति को इसकी सूचना दे दी और फिर पति और उसके दोस्तों ने घर में उसे पकड़कर चप्पलों से उसकी जमकर पिटाई की. यही नहीं दोस्तों ने पिटाई का पूरा वीडियो भी बनाया और उसे वायरल कर दिया. पिटाई करने के बाद आरोपी युवक को पुलिस के सुपुर्द कर दिया.

बताया गया है कि सदर कोतवाली अंतर्गत वर्णी जैन इंटर कालेज के पीछे रहने वाली एक शादीशुदा महिला से उसका प्रेमी अकेले में घर पर मिलने आया हुआ था. इसी बीच किसी ने पति को फोन पर सूचना दे दी. पति भी अपने दोस्तों के साथ घर पहुंच गया. पत्नी को दूसरे व्यक्ति के साथ अकेला मौजूद देखकर पति और उसके दोस्तों ने उसकी जमकर चप्पलों से पिटाई की.

प्रेमी को बचाती नजर आई महिला

इस दौरान महिला प्रेमी को बचाती भी नजर आई. उसने यह भी कहा कि सुबह पति और उस युवक ने एक साथ घर में बैठकर चाय पी थी. रात्रि में दोनों ने एक साथ घर में ही शराब भी पी, लेकिन पति इस बात को लेकर नाराज था कि अब दोपहर में युवक अकेला उसके घर में क्या कर रहा था ? पति और उसके दोस्तों ने न केवल युवक की चप्पलों से जमकर पिटाई की, बल्कि पिटाई का वीडियो भी बना लिया.

जिस युवक को पकड़ा गया वह चुप-चाप मार खाता रहा, उसने बिल्कुल भी विरोध नहीं किया. पिटाई करने के बाद प्रेमी को पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया है. वहीं अब सोशल मीडिया में पिटाई का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है.

CM योगी के मंत्री भूपेंद्र चौधरी ने किया दावा, 'यूपी में बिल्कुल नहीं है महंगाई'

यूपी के पंचायत राज मंत्री भूपेंद्र चौधरी.

दो दिन के दौरे पर झांसी पहुंचे प्रदेश सरकार के मंत्री भूपेंद्र चौधरी ने महंगाई को लेकर अजीबो गरीब बयान देने के साथ ही उत्तर प्रदेश भाजपा की आंतरिक कलह, विकास की रफ्तार और किसान आंदोलन के मुद्दों पर भी बात की.

SHARE THIS:

झांसी. बढ़ती महंगाई को लेकर विपक्ष 2022 के चुनाव में भाजपा सरकार को घेरना चाहता है. लेकिन उसी मुद्दे को भाजपा के पंचायती राज विभाग के मंत्री भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने खारिज करते हुए कहा कि देश और प्रदेश में कहीं महंगाई नज़र नहीं आ रही है. हालांकि भूपेंद्र चौधरी ने दबी ज़ुबान में महंगाई को थोड़ा स्वीकार भी किया. उन्होंने कहा कि सभी भाजपा सरकार से खुश हैं और 2022 में भाजपा फिर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी. झांसी पहुंचे भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने पत्रकारों से मुलाकात के दौरान ये बातें कहीं.

महंगाई पर चौधरी ने कहा कि कोरोना को लेकर जिस प्रकार की परिस्थितियां बनीं, उनके हिसाब से ‘प्रधानमंत्री व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने बड़ा काम किया. वैक्सीन फ्री में दी जा रही है, फ्री अनाज दिया जा रहा है. कोई मंहगाई नहीं है, हम लोग जिन हालात में हैं, उसके हिसाब से आगे बढ़ रहे हैं. कुछ भी महंगा नहीं है.’

‘मानकों के तहत हो रहे विकास कार्य’
अनाज के लिए लंबी लाइन में खड़े लोगों के सवाल पर जबाब देते हुए चौधरी ने कहा कि सरकार के विकास के जो मापदंड है, ‘उसके हिसाब से फ्लाई ओवर देखो, रोड देखो, निवेश देखो.. या बिजनिस करने के लिए जो अच्छा माहौल पूरे प्रदेश में बना है, फिर चाहे गन्ना क्षेत्र में हो या फिर धान और गेहूं की खरीद. जो भी विकास के पैरामीटर हैं, उन पर सरकार ने काम किया है. कोरोना और लॉकडाउन में प्रभावित लोगों को सरकार राशन भी उपलब्ध करवा रही है.’

ये भी पढ़ें : ओवैसी के पोस्टरों से अब मुस्लिम समाज खफा, इकबाल अंसारी ने कहा ‘होशियार रहें मुसलमान’

विपक्ष पर हमला
किसान आंदोलन को लेकर उन्होंने कहा कि किसान हमेशा देशभक्त रहा है, किसान समुदाय ने देश के लिए बड़ी कुर्बानी दी है लेकिन कुछ लोगों के एजेंडे और राजनीतिक कारणों से आंदोलन किया जा रहा है. ‘किसान संगठन कहते हैं कि राजनीति से उनका कोई मतलब नहीं है, तो भाजपा को लेकर बयानबाजी क्यों हो रही है? कुछ लोग किसानों के कंधे पर बंदूक रखकर अपना उल्लू सीधा कर रहे हैं. विपक्ष मुद्दों के अभाव में किसानों को गुमराह कर रहा है.

uttar pradesh news, uttar pradesh bjp, uttar pradesh election, uttar pradesh politics, yogi adityanath minister, उत्तर प्रदेश न्यूज़, उत्तर प्रदेश भाजपा, उत्तर प्रदेश चुनाव, उत्तर प्रदेश राजनीति

पंचायत मंत्री ने उत्तर प्रदेश भाजपा में कोई मतभेद न होने का दावा किया.

‘पार्टी में कोई नाराज़ नहीं’
‘भाजपा के सभी कार्यकर्ता पार्टी और योगी शासन से खुश हैं. कोई धरने पर नहीं बैठा है, हालांकि विधानसभा में इस प्रकार की छोटी सी घटना हुई थी, जो सभी के संज्ञान में है लेकिन पूरी पार्टी का एक-एक कार्यकर्ता अपने नेतृत्व के साथ है.’ यह दावा करते हुए चौधरी ने विधानसभा चुनाव 2022 में फिर भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने का विश्वास जताया.

UP News : बांध के पानी से बेतवा में अचानक बढ़ा जलस्तर, 3 महिलाएं बीच नदी में फंसीं...

राजघाट डैम से छोड़े गए पानी से अचानक बढ़ा बेतवा का जलस्तर.

rescue operation : बरदौन की रहनेवाली रामसखी, सुखबती और ललिता देवी जंगल में लकड़ियां काटने के लिए गई हुई थीं. तीनों महिलाएं जब बेतवा नदी के रास्ते गांव वापस आ रही थीं, तभी बांध के गेट खोल दिए गए और अचानक नदी में जलस्तर बढ़ गया. ये तीनों महिलाएं बीच नदी में फंस गईं.

SHARE THIS:

ललितपुर. उत्तर प्रदेश के ललितपुर में जंगल में गईं तीन महिलाएं अचानक राजघाट बांध के गेट खुलने की वजह से बेतवा नदी के बीच पानी में फंस गईं. मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने बांध के गेट बंद करवा कर महिलाओं का रेस्क्यू कर उन्हें सही-सलामत बाहर निकाला.

दरअसल, थाना जखौरा के गांव बरदौन की रहनेवाली रामसखी, सुखबती और ललिता देवी जंगल में लकड़ियां काटने के लिए गई हुई थीं. तीनों महिलाएं जब बेतवा नदी के रास्ते गांव वापस आ रही थीं, तभी बांध के गेट खोल दिए गए और अचानक नदी में जलस्तर बढ़ गया. ये तीनों महिलाएं बीच नदी में फंस गईं. शुक्र यह रहा कि तीनों महिलाएं नदी के बीच में पहाड़नुमा उठी जगह पर आकर खड़ी हो गईं. वे चारों तरफ से पानी से घिरी हुई थीं. नदी के पानी की तेज धार की वजह से वे उसे पार करने का जोखिम नहीं ले रही थीं.

इसे भी पढ़ें : FB पर CM से महिला की गुहार ‘प्लीज हेल्प मी सर, मेरे साथ न्याय किया जाए’, फिर कर ली खुदकुशी

इसी बीच कुछ ग्रामीणों की नजर उन महिलाओं पर पड़ी. तब उन्होंने नदी के बीच फंसी महिलाओं के बारे में पुलिस को तत्काल सूचना दी. समय गवांए बगैर पुलिस मौके पर पहुंची. उसने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को फोन कर बांध के गेट बंद करवाए और इसके बाद रेस्क्यू कर महिलाओं को बाहर निकाला.

इसे भी पढ़ें : मुख्तार अंसारी को सुप्रीम कोर्ट से झटका: सुरक्षा को लेकर पत्नी की याचिका पर सुनवाई से इनकार

गौरतलब है कि बुंदेलखण्ड के ललितपुर में भले ही बारिश कम हो रही हो, लेकिन यहां के सीमावर्ती मध्य प्रदेश के जिलों में हो रही बारिश के चलते बांधों और नदियों का जलस्तर बढ़ रहा है. ऐसे में आए दिन बांधों के गेट खोल दिए जाते हैं. खासकर नदी, नालों के इर्द-गिर्द बसे लोगों को अभी भी सतर्कता बरतने की जरूरत है. फिलहाल नदी में फंसी महिलाएं सकुशल अपने घर पहुंच गई हैं. महिलाओं के घर जाते ही पुलिस व प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है.

Load More News

More from Other District

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज