होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /झांसी: सपा के पूर्व विधायक दीप नारायण यादव गिरफ्तार, दुर्दांत अपराधी को भगाने की रची थी साजिश

झांसी: सपा के पूर्व विधायक दीप नारायण यादव गिरफ्तार, दुर्दांत अपराधी को भगाने की रची थी साजिश

झांसी: दुर्दांत अपराधी लेखराज यादव को छुड़वाने के असफल प्रयास में सपा के पूर्व विधायक दीप नारायण यादव गिरफ्तार.

झांसी: दुर्दांत अपराधी लेखराज यादव को छुड़वाने के असफल प्रयास में सपा के पूर्व विधायक दीप नारायण यादव गिरफ्तार.

Jhansi News: पूरे मामले को लेकर डीआईजी जोगेंद्र कुमार का कहना है कि दुर्दांत अपराधी को कस्टडी से छुड़ाने की कोशिश करने ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

दीपनारायण पर दुर्दांत अपराधी लेखराज यादव को कस्टडी से छुड़वाने की साजिश का आरोप
पुलिस ने जाल बिछाकर किया गिरफ्तार
पत्नी ने कहा- राजनीति के कारण फंसाया जा रहा है

झांसी. झांसी में समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक दीप नारायण सिंह यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. दीप नारायण पर आरोप है कि इन्होंने 17 सितंबर को कन्नौज से झांसी पेशी पर आ रहे सजायाफ्ता दुर्दांत अपराधी लेखराज सिंह यादव को कन्नौज पुलिस की कस्टडी से छुड़वाने की साजिश रची थी. पूर्व सपा विधायक दीपनारायण सिंह यादव को पुलिस ने सोमवार की देर शाम गिरफ्तार करके उनका मेडिकल कराया. मेडिकल पूरा होते ही पुलिस ने कोर्ट में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया, जहां से पूर्व विधायक को जेल भेज दिया गया.

पूर्व विधायक दीप नारायण सिंह यादव की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार प्रयास कर रही थी. उस तक पहुंचने के लिए पुलिस ने कल यानी सोमवार को उसके आवास पर दबिश दी. दबिश में पुलिस को दीप नारायण यादव नहीं मिले. घर में पूर्व विधायक का बेटा दीपांकर और उनकी पत्नी मीरा यादव मिली. पूर्व विधायक दीप नारायण यादव के घर पर नहीं मिलने के बाद पुलिस ने घर से ही उनके बेटे दीपांकर को हिरासत में लेकर मून सिटी ले आई. मून सिटी में भी पूर्व विधायक की तलाश में पुलिस की कई टीमों ने पूरी सिटी का चप्पा-चप्पा छाना. यहां भी दीप नारायण के नहीं मिलने के बाद पुलिस ने पूर्व विधायक के बेटे को हिरासत में लेकर थाने आ गई. शाम होते-होते आखिरकार दीप नारायण बेटे को बचाने के लिए खुद को पुलिस के हवाले करने के लिए मजबूर होना पड़ गया. हालांकि पूर्व सपा विधायक ने आरोप लगाया कि उसे साजिश के तहत पुलिस ने बुलाया, उसके बाद मौके से ही गिरफ्तारी कर ली.

पूर्व विधायक ने खुद को बताया निर्दोष
पूर्व विधायक दीप नारायण ने दुर्दांत अपराधी लेखराज सिंह यादव से खुद का कोई वास्ता नहीं होने का हवाला दिया. उन्होंने खुद को निर्दोष बताया. उन्होंने इस पूरे मामले को भाजपा से गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत की साजिश बताया. पूर्व विधायक की पत्नी मीरा यादव ने आरोप लगाया कि 2 महीने बाद नगर पंचायत के चुनाव आ रहे हैं, इसलिए साजिशन उनके भाई, मौजूदा चेयरमैन अनिल यादव और पति पूर्व विधायक दीप नारायण सिंह यादव पर मुकदमा लिख कर जेल भेज दिया गया.

डीआईजी ने कहा-कार्रवाई बिल्कुल सही
पूरे मामले को लेकर डीआईजी जोगेंद्र कुमार का कहना है कि दुर्दांत अपराधी को कस्टडी से छुड़ाने की कोशिश करने की साजिश करने वाले पूर्व विधायक दीप नारायण सिंह की गिरफ्तारी बिल्कुल सही है. इस मामले में गिरफ्तार अन्य दूसरे आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ में बताया था कि पूरी साजिश के पीछे पूर्व विधायक दीप नारायण सिंह का ही हाथ है. उन्होंने बताया कि झांसी के सबसे दुर्दांत अपराधी लेखराज सिंह यादव को पुलिस कस्टडी से छुड़वाने के असफल प्रयास के मामले में पुलिस ने अब तक पूर्व विधायक समेत 12 लोगों को जेल भेज दिया है.

Tags: Akhilesh yadav, Chief Minister Yogi Adityanath, Jhansi news, Uttarpradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें