Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    RTI के जवाब में रद्दी भेजने का मामला: जिला पंचायत राज अधिकारी बोले- कार्रवाई की जाएगी

    ललितपुर में अधिकारियों ने आरटीआई से मांगी गई सूचना के जवाब में रद्दी भेज दी
    ललितपुर में अधिकारियों ने आरटीआई से मांगी गई सूचना के जवाब में रद्दी भेज दी

    ललितपुर (Lalitpur) के बार विकास खण्ड के गदयाना गांव का है. यहां सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जन सूचना देने में पहले तो अधिकारियों ने काफी टाल-मटोल की. बाद में जब ग्रामीण ने सारी औपचारिकताएं पूरी कर दी तो उसे एक डिब्बा भर रद्दी भेज दी.

    • Share this:
    ललितपुर. उत्तर प्रदेश के ललितपुर (Lalitpur) जिले में भ्रष्ट अधिकारियों की कार्य पद्धति के चलते सूचना का अधिकार कानून (RTI Act) मजाक बन कर रह गया है. यहां 8000 रुपये शुल्क भरकर मांगी गई सूचना के अधिकार के तहत जानकारी के जवाब में अधिकारियों ने कार्टून भरकर रद्दी भेज दी. न्यूज 18 पर प्रमुखता से खबर दिखाए जाने के बाद अब जिला पंचायत राज अधिकारी कार्रवाई की बात कर रहे हैं.

    पहले जानकारी देने में टाल-मटोल फिर भेजी रद्दी

    सूचना के अधिकार कानून का अधिकारियों ने मजाक बना रखा है. ताजा मामला जिले के बार विकास खण्ड के गदयाना गांव का है. यहां सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जन सूचना देने में पहले तो अधिकारियों ने काफी टाल-मटोल की. बाद में जब ग्रामीण ने सारी औपचारिकताएं पूरी कर दी तो उसे एक डिब्बा भर रद्दी भेज दी. जिससे वह अपने सर को मल रहा है कि इस रद्दी के लिए ही उसने क्या 8000 रुपये जमा किये थे?



    सूचना के लिए 8000 रुपए का शुल्क भी जमा किया
    बताया गया है कि बार विकास खण्ड के गदयाना गांव निवासी करन सिंह ने गांव में हुए विकास कार्यो की जानकारी मांगी थी. आरोप है कि पहले तो ग्राम प्रधान और पंचायत सचिव द्वारा जानकारी देने में काफी टाल मटोल किया गया. अंत में 8000 रुपये शुल्क जमा करने के बाद सूचना देने की हामी भरी गई. जब ग्रामीण ने शुल्क जमा कर दिया तो उसे ग्राम में हुए विकास कार्यों के अभिलेखों के स्थान पर एक रद्दी से भरा डिब्बा डाक से भेज दिया गया. जिसे वह खोलने के बाद देखकर अब अपने सर को मल रहा है. वही जब इस मामले को लेकर जिला पंचायत राज अधिकारी गौरव कुमार से बात की गई तो वह कार्रवाई की बात कर रहे हैं.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज