Home /News /uttar-pradesh /

know why the water sources started drying up in jhansi due to the negligence of the administration

जानिए क्यों प्रशासन की लापरवाही से झांसी में सूखने लगे जलस्रोत 

X

झांसी में नए तालाब बनाने की कवायद चल रही है.प्रशासन शहीदों की याद में 75 नए तालाब बनाने जा रहा है.50 तालाबों का भूमि पूजन भी हो चुका है.जिलाधिकारी और प्रशासनिक अधिकारियों ने खुद फावड़ा चलाकर काम की शुरुआत की.एक तरफ जहां प्रशासन नए तालाब बनवा रहा है वहीं दूसरी ओर प्रशासन की

अधिक पढ़ें ...

    (रिपोर्ट – शाश्वत सिंह)

    झांसी में नए तालाब बनाने की कवायद चल रही है.प्रशासन शहीदों की याद में 75 नए तालाब बनाने जा रहा है.50 तालाबों का भूमि पूजन भी हो चुका है.जिलाधिकारी और प्रशासनिक अधिकारियों ने खुद फावड़ा चलाकर काम की शुरुआत की.एक तरफ जहां प्रशासन नए तालाब बनवा रहा है वहीं दूसरी ओर प्रशासन की नाक के नीचे से ही एक सरकारी तालाब पर कब्जा हो रहा है.जी हां, झांसी के खैलार इलाके में एक सरकारी तालाब पर लोगों ने कब्जा कर लिया है.

    गांव के लिए पानी का स्त्रोत था यह तालाब

    एक स्थानीय व्यक्ति ने बताया कि पहले इस तालाब में मछली पालन का काम होता था.मत्स्य पालन विभाग इसका रखरखाव करता था. लेकिन धीरे-धीरे लोगों ने तालाब में मिट्टी डालकर उस पर कब्जा करना शुरू कर दिया.उन्होंने बताया कि इस तालाब की वजह से ही आस-पास के कुओं में भी पानी रहता था.लेकिन वर्तमान समय में पानी का यह स्त्रोत पूरी तरह बंद हो चुका है.आम लोग और किसान दोनों ही परेशान हैं.

    कब्जा करने वालों पर होगी कार्रवाई

    तालाब पर कब्जा होने के इस मामले में झांसी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष सर्वेश दीक्षित ने कहा कि यह मामला बहुत गंभीर है और इसकी जांच की जाएगी. कब्जा करने वाले सभी लोगों पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ ही इस तालाब को अतिक्रमण मुक्त भी कराया जाएगा.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर