Home /News /uttar-pradesh /

झांसी में गुरु तेग बहादुर के जीवन पर आधारित लाईट एंड साउंड शो के कार्यक्रम से लोग हुए निहाल

झांसी में गुरु तेग बहादुर के जीवन पर आधारित लाईट एंड साउंड शो के कार्यक्रम से लोग हुए निहाल

लाईट

लाईट एंड साउंड शो प्रस्तुत करते हुए कलाकार

गुरु साहिब तेग बहादुर के 400 साला प्रकाश पर्व पर लाईट एंड साउंड शो कार्यक्रम का आयोजन किया गया.इस शो के माध्यम से 'हिंद की चादर' की प्रस्तुति दी गई. कार्यक्रम में गुरु तेग बहादुर के जन्म से लेकर उनकी शहादत तक का विवरण कलाकारों द्वारा किया गया.

अधिक पढ़ें ...

    झांसी के दीनदयाल सभागार में उत्तर प्रदेश पंजाबी अकादमी द्वारा एक ऐतिहासिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया.इस कार्यक्रम में सिखों के नौवें गुरु साहिब तेग बहादुर के 400 साला प्रकाश पर्व पर लाईट एंड साउंड शो कार्यक्रम का आयोजन किया गया.इस शो के माध्यम से \’हिंद की चादर\’ की प्रस्तुति दी गई. कार्यक्रम में गुरु तेग बहादुर के जन्म से लेकर उनकी शहादत तक का विवरण कलाकारों द्वारा किया गया.कलाकारों द्वारा गुरु तेग बहादुर के नौवें गुरु बनाए जाने और मुगल बादशाह औरंगजेब द्वारा कई प्रकार की यातनाएं देने के बावजूद भी इस्लाम धर्म को ना कबूलने के बाद बादशाह द्वारा उन्हें यातना देने की कहानी का विवरण बेहद ही सुंदर ढंग से किया गया.पटियाला से आए हरविंदर सिंह सेठी के संचालन में 30 से अधिक कलाकारों ने गुरु के अलावा भाई मतिदास, भाई सतीदास और भाई दयाला की शहादत का मंचन भी किया.

    युद्ध कला का भी किया प्रदर्शन
    लाईट एंड साउंड शो के शुरू होने से पहले कलाकारों द्वारा युद्ध कला का प्रदर्शन भी किया गया. इसमें तलवार, भाला और डंडे के साथ युद्ध कला का प्रदर्शन कलाकारों ने पूरे जोश और उल्लास के साथ किया.कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए पूर्व शिक्षा मंत्री रविंद्र शुक्ला ने कहा गुरु तेग बहादुर सिर्फ सिखों के लिए नहीं बल्कि पूरे मानव धर्म के लिए आदर्श हैं. उत्तर प्रदेश पंजाबी अकेडमी के उपाध्यक्ष गुरविंदर सिंह छाबड़ा ने बताया ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन प्रदेश के अलग-अलग जिलों में किया जा रहा है.इन कार्यक्रमों का उद्देश्य सिख गुरुओं द्वारा दिए गए बलिदान और उनके दिए गए संदेशों से लोगों को अवगत कराना है.कार्यक्रम के बाद परंपरा के अनुसार लंगर का भी आयोजन किया गया.
    (रिपोर्ट – शाश्वत सिंह)

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर