लाइव टीवी

अस्पताल बना अखाड़ा, डॉक्टरों ने हटाया मरीज का ऑक्सीजन सिलेंडर, इमरजेंसी बंद

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 30, 2018, 11:12 AM IST

परिजनों के इलाज में लापरवाही के आरोप पर डॉक्टर कथित तौर पर इतने भड़क गए कि मरीज की ऑक्सीजन सिलेंडर ही हटा दी. इससे मरीज की तड़प-तड़पकर मौत हो गई.

  • Share this:
झांसी के रानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कालेज में मरीज के परिजनों की मारपीट से भड़के डॉक्टरों ने बदले में उन्हें जमकर पीटा. कथित तौर पर हुई इस हिंसा के बाद डॉक्टरों ने इमरजेंसी से मरीजों को बाहर निकाल दिया और हड़ताल पर बैठ गए. इधर मरीज के परिजन डॉक्टरों पर मरीज की मौत का आरोप लगा रहे हैं.

बुंदेलखंड का दूसरा सबसे बड़ा अस्पताल इन दिनों इलाज के लिए कम, डॉक्टर और तीमारदारों के बीच मारपीट की घटनाओं को लेकर ज्यादा जाना जाने लगा है. शनिवार की शाम भी ऐसा ही एक वाकया हुआ, जिसमें परिजनों ने मरीज का मौत का जिम्मेदार डॉक्टरों को ठहराते हुए उनसे मारपीट की. बदले में डॉक्टरों ने मारपीट करते हुए अस्पताल की सेवाएं ठप कर दीं.

घटना कुछ यूं है कि मेडिकल कॉलेज में भर्ती एक मरीज के परिजनों ने डॉक्टरों पर इलाज में कोताही का आरोप लगाया. आरोप पर भड़के डॉक्टरों ने कथित तौर पर मरीज का ऑक्सीजन सिलेंडर निकाल दिया. इससे मरीज की दम घुटने से मौत हो गई. इसके बाद दोनों पक्षों में हाथापाई होने लगी. परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों की मारपीट से एक गर्भवती को भी चोटें आईं और एक अन्य महिला की आंख जख्मी हुई. कई अन्य परिजन भी काफी चोटिल हो गए. इसके बाद भी डॉक्टरों का गुस्सा शांत नहीं हुआ और उन्होंने इमरजेंसी से मरीजों को निकाल-बाहर कर दिया. वे तब से हड़ताल पर हैं.

डॉक्टरों की इस जबर्दस्ती के कारण गंभीर हालत में भी परिजनों को अपने मरीजों को दूसरे अस्पताल ले जाना पड़ा. दूसरी ओर डॉक्टरों का कहना है कि मरीज के परिजनों ने डाक्टरों के साथ मारपीट की. फिलहाल डॉक्टर हड़ताल पर हैं और मरीज परेशानहाल. (रिपोर्ट- अश्वनी मिश्रा)

ये भी पढ़ें-

लखनऊ शूटआउट: विवेक तिवारी का हुआ अंतिम संस्कार, बड़े भाई ने दी मुखाग्नि

आप भी करते हैं WhatsApp पर चैटिंग तो बहुत काम आएंगे ये 5 टिप्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झांसी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 30, 2018, 11:12 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...