बीजेपी के संगठन मंत्री को पुलिस ने बेरहमी से पीटा, आरोपी दरोगा सस्पेंड

रात को खेत से घर लौट रहे भाजपा के ग्रामीण मंत्री मूरत सिंह को रास्ते में ही कोतवाली राठ की जीप ने रोका और अंदर बैठे दरोगा ने एक ग्रामीण के घर का पता पूछा.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 28, 2018, 9:19 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 28, 2018, 9:19 PM IST
यूपी के हमीरपुर में पुलिस पर आरोप है कि उन्होंने बिना किसी गलती के संगठन ग्रामीण मंत्री की पिटाई कर दी. इस मामले में बीजेपी के नेताओं ने जब प्रशासन से शिकायत की तो उन्होंने आनन-फानन में आरोपी दरोगा को निलंबित करके उसके खिलाफ जांच शुरू कर दी.

पूरा मामला हमीरपुर जनपद की कोतवाली राठ के ग्राम धमना का है. जहां पर रात को खेत से घर लौट रहे बीजेपी के ग्रामीण मंत्री मूरत सिंह को रास्ते में ही कोतवाली राठ की जीप ने रोका और अंदर बैठे दरोगा ने एक ग्रामीण के घर का पता पूछा. जिस पर मूरत सिंह ने कहा कि उन्हें नहीं पता. इतना सुनते ही दोरगा सर्वेश सिंह आग बबूला हो गए और ग्रामीण मंत्री के साथ मारपीट करनी शुरू कर दी.

मूरत सिंह का कहना है कि एसआई सर्वेश सिंह का इतने से भी दिल नहीं भरा तो उन्हें जीप में डालकर थाने ले जाया गया. जहां उन्हें घंटो थाने में पट्टे से पीटा गया. इस मारपीट में मंत्री बुरी तरह घायल हो गए हैं. सर्वेश सिंह ने अपने 90 हजार रुपए भी गायब होने का आरोप लगाया है. जब मामले की जानकारी बीजेपी नेताओं को हुई तो उन्होंने थाने जाकर ग्रामीण मंत्री को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र राठ ले गए. जहां पर डाक्टरों ने इलाज के बाद ग्रामीण मंत्री को जिला अस्पताल रेफर कर दिया.

ये भी पढ़ें: 'ताजमहल को तोड़ दें योगी आदित्यनाथ, 20 हजार मुस्लिम भी करेंगे मदद'

ही जब इस मामले की शिकायत बीजेपी के नेताओ ने शासन से की तो पुलिस ने आपनी साख बचाने के चक्कर में जांच शुरू करते हुए थर्ड डिग्री देने वाले दरोगा सर्वेश सिंह को निलंबित कर दिया और राठ कोतवाल अनिल कुमार सिंह को लाइन हाजिर कर दिया है.
(उमाशंकर मिश्रा की रिपोर्ट)


ये भी पढ़ें: बिजनौर: तमंचे की नोक पर किशोरी के साथ गैंगरेप, बेहोशी की हालत में खेत में फेंका
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर